• Hindi News
  • National
  • Aryan Khan Drugs Case; Sameer Wankhede | NCB Officer Rs 25 Crore Demand From Shah Rukh Khan

वानखेड़े दिल्ली पहुंचे:आज NCB महानिदेशक से मिलेंगे, रिश्वत के आरोप में एजेंसी ने शुरू की है उनके खिलाफ इंटरनल जांच

मुंबई3 महीने पहले

आर्यन खान ड्रग केस की जांच कर रहे समीर वानखेड़े सोमवार रात को दिल्ली पहुंच गए वह मंगलवार को NCB के महानिदेशक (DG) सत्य नारायण प्रधान से मुलाकात करेंगे। वानखेड़े के खिलाफ NCB ने इंटरनल विभागीय जांच शुरू की है।

वानखेड़े पर एक गवाह ने शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को ड्रग केस में रिहा करने के लिए 25 करोड़ रुपए की डील करने का आरोप लगाया है। स्पेशल NDPS कोर्ट ने भी उन्हें राहत नहीं दी है और इस केस में रिश्वत के आरोपों पर किसी कोर्ट की तरफ से एक्शन न लिए जाने का आदेश देने से इनकार कर दिया है।

NCB के डिप्टी डायरेक्टर जनरल और एजेंसी के चीफ विजिलेंस ऑफिसर ज्ञानेश्वर सिंह ने बताया कि वे खुद वानखेड़े के खिलाफ जांच की निगरानी कर रहे हैं। ज्ञानेश्वर सिंह से पूछा गया कि जांच के दौरान भी वानखेड़े अपने पद पर बने रहेंगें या नहीं?

इस पर उन्होंने कहा कि हमने अभी-अभी जांच शुरू की है, इसलिए इस पर टिप्पणी करना जल्दबाजी होगी। सिंह ने बताया कि एक स्वतंत्र गवाह ने एफिडेविट के जरिए सोशल मीडिया पर कुछ आरोप लगाए थे। इसके बाद NCB के DG ने विजिलेंस को इंक्वायरी मार्क की है। तथ्यों और साक्ष्यों के आधार पर फैसला होगा।

वानखेड़े ने कहा- समन नहीं किया गया, दूसरे काम से आया हूं

वानखेड़े ने सोमवार शाम को दिल्ली एयरपोर्ट पर उतरने के बाद मीडिया से कहा कि उन्हें समन भेजकर नहीं बुलाया गया है। उन्होंने कहा, मैं दूसरे काम से यहां आया हूं और मेरा यह टूर पहले से तय था। वानखेड़े ने यह भी कहा कि मेरे खिलाफ लगाए आरोप निराधार हैं।

वानखेड़े के सपोर्ट में आईं पत्नी क्रांति रेडकर
वानखेड़े पर उठ रही उंगलियों के बीच उनकी पत्नी क्रांति रेडकर उनके सपोर्ट में आ गई हैं। रेडकर ने ट्वीट करके कहा, 'जब आप लहरों के बहाव के दूसरी तरफ तैरते हैं तो हो सकता है कि आप डूब जाएं, लेकिन अगर भगवान आपके साथ हो तो कोई लहर इतनी बड़ी नहीं होती कि आपका कुछ बिगाड़ सके, क्योंकि सिर्फ उसे ही सच पता है। सुप्रभात। सत्यमेव जयते।'

वानखेड़े बोले- मुझे और परिवार को टारगेट किया जा रहा
वहीं, क्रूज ड्रग्स केस में समीर वानखेड़े सोमवार को स्पेशल NDPS कोर्ट में पेश हुए और एफिडेविट दाखिल किया। वानखेड़े ने कहा कि उन्हें निशाना बनाया जा रहा है। उनकी बहन और स्वर्गवासी मां को भी टारगेट किया जा रहा है। उनका कहना है कि वह जांच के लिए तैयार हैं। केस को कमजोर करने के लिए सब कुछ किया जा रहा है। वानखेड़े ने कहा कि वह पंच के परिवार और पंच के बारे में जानकारी साझा कर रहे हैं, जिसके चलते उनको खतरा है।

वानखेड़े का दावा- मुझे धमकी दी जा रही
दो एफिडेविट में से एक वानखेड़े और दूसरी NCB ने फाइल की है। वानखेड़े ने अपने एफिडेविट में कहा कि उन्हें धमकी दी जा रही है और जांच को प्रभावित किया जा रहा है। वहीं, NCB ने एफिडेविट में कहा है कि क्रूज ड्रग्स मामले में जो स्वतंत्र पंच है, वो होस्टाइल हो रहे हैं।

प्रभाकर सैल ने सुरक्षा की मांग रखी
इधर, वानखेड़े पर आरोप लगाने वाले प्रभाकर सैल आज मुंबई क्राइम ब्रांच के ऑफिस पहुंचे। उन्होंने जॉइंट CP से मुलाकात की और अपने लिए सुरक्षा मुहैया कराने की मांग रखी। बता दें कि प्रभाकर केपी गोसावी के बॉडीगार्ड हैं। उन्होंने समीर वानखेड़े पर 25 करोड़ रुपए की वसूली का आरोप लगाया है।

सरकारी वकील अद्वैत सेतना ने प्रभाकर के पंच के तौर पर दिए गए बयान को कोर्ट में पढ़ा। उन्होंने कहा कि अगर प्रभाकर को पंच के तौर पर कुछ शिकायत करनी थी, वो कोर्ट में ऐसा कर सकता था, लेकिन उसने यह नहीं किया। प्रभाकर ने 22 दिन के बाद अलग-अलग माध्यम से अपनी शिकायत की है, जिससे निजी तौर पर अधिकारियों को टारगेट किया जा रहा है।