ओवैसी को BJP नेता की चुनौती:तेलंगाना में सारी मस्जिदों की खुदाई करें, अगर वहां शिवलिंग मिलते हैं तो हिंदुओं को सौंप दें

करीमनगर3 महीने पहले

तेलंगाना में BJP चीफ बंडी संजय ने बुधवार को AIMIM असदुद्दीन ओवैसी को चुनौती दे डाली। बंडी ने कहा कि राज्य की सभी मस्जिदों की खुदाई करवाएं, अगर वहां शिवलिंग मिलते हैं तो मुसलमानों को इन मस्जिदों को हिंदुओं को सौंपना होगा। अगर वहां शव मिलते हैं, तो मुसलमान उन पर दावा कर सकते हैं।

बंडी संजय ने यह बयान करीमनगर में हुई हिंदू एकता यात्रा के दौरान दिया। बंदी बोले, 'जहां भी मस्जिद परिसर की खुदाई की जाती है, शिवलिंग पाए जाते हैं। मैं ओवैसी को चुनौती देता हूं कि हम राज्य की सभी मस्जिदों को खोदेंगे। यदि शव बरामद हुए तो आप (मुसलमान) इसका दावा कर सकते हैं। यदि शिव (शिवलिंग) मिल जाएं, तो इसे हमें सौंप दें। क्या आप इसे स्वीकार करेंगे?'

संजय बोले- BJP सत्ता में आई तो उर्दू पर बैन लगाएंगे
संजय ने कहा कि जब तेलंगाना में बीजेपी सत्ता में आएगी तो अल्पसंख्यकों का आरक्षण खत्म हो जाएगा। तेलंगाना BJP प्रमुख बोले, 'अगर राम राज्य आता है, तो हम उर्दू पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा देंगे। देश में जहां कहीं भी बम विस्फोट होते हैं, उसके लिए मदरसे जिम्मेदार हैं, क्योंकि वे आतंकवादियों के ट्रेनिंग सेंटर बन गए हैं। हमें उनकी पहचान करनी चाहिए। अगर भाजपा सत्ता में आती है, तो हम सभी मदरसों को बंद कर देंगे, अल्पसंख्यकों के आरक्षण को हटा देंगे और SC, ST, OBC और EBC के लिए अतिरिक्त कोटा प्रदान करेंगे।'

ज्ञानवापी मस्जिद में शिवलिंग मिलने के बाद आया बयान
बंडी संजय का यह बयान तब आया है जब उत्तर प्रदेश के वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद मामले में सर्वे के बाद वजूखाने में शिवलिंग मिलने का दावा किया गया है। वाराणसी जिला अदालत 26 मई को ज्ञानवापी मस्जिद-काशी विश्वनाथ मंदिर परिसर विवाद पर दीवानी मुकदमे की सुनवाई करने वाली है।

ज्ञानवापी में शिवलिंग मिलने के दावे पर महबूबा-ओवैसी के विवादित बयान

धार्मिक भावनाएं भड़काने के मामले पर सुनवाई आज
दरअसल AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने दावा किया था कि ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में शिवलिंग नहीं फव्वारा मिला है। ऐसे फव्वारे हर मस्जिद में होते हैं। हालांकि, विवादित बयान देने के चलते ओवैसी और उनके भाई अकबरुद्दीन, अखिलेश यादव सहित 8 लोगों पर एडवोकेट हरिशंकर पांडेय ने वाराणसी कोर्ट में धार्मिक भावनाएं आहत करने का मुकदमा दर्ज किया है। जिस पर गुरुवार को सुनवाई होनी है।

पढ़ें ओवैसी ने फव्वारों पर ग्रेविटी वाली क्या कहानी बताई थी