पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • ASMI; India's First Indigenous Machine Pistol Develops By Defence Research (DRDO) And Indian Army

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

स्वदेशी से मजबूत होगी सेना:सेना और DRDO ने बनाई स्वदेशी पिस्टल; बिल्डिंग में छिपे आतंकियों को भी ढूंढ निकालेगा माइक्रोकॉप्टर

नई दिल्ली14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
इंडियन आर्मी और डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गेनाइजेशन (DRDO) द्वारा तैयार की गई स्वदेशी पिस्टल इजराइल की यूजी सीरीज की गन के तर्ज पर तैयार की गई है। - Dainik Bhaskar
इंडियन आर्मी और डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गेनाइजेशन (DRDO) द्वारा तैयार की गई स्वदेशी पिस्टल इजराइल की यूजी सीरीज की गन के तर्ज पर तैयार की गई है।

इंडियन आर्मी और डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गेनाइजेशन (DRDO) ने देश की पहली स्वदेशी मशीन पिस्टल ASMI तैयार की है। भारतीय सेना ने बुधवार को अपने इनोवेशन इवेंट में इस मशीन पिस्टल को सबके सामने रखा। इस पिस्टल को डिफेंस फोर्सेस की 9 एमएम पिस्टल की जगह इस्तेमाल में लाया जा सकता है।

वहीं, एक आर्मी ऑफिसर ने माइक्रोकॉप्टर तैयार किया है, जिससे बिल्डिंग या कमरे में छिपे आतंकियों पर भी निगरानी रखी जा सकेगी और उन्हें ढूंढ निकाला जा सकेगा। इसे लेफ्टिनेंट करनल जीवाईके रेड्‌डी ने डेवलप किया है।

पिस्टल की फायर रेंज 100 मीटर तक
न्यूज एजेंसी के मुताबिक, इस मशीन पिस्टल की फायर रेंज करीब 100 मीटर तक है। इसे इजराइल की यूजी सीरीज की गन की तर्ज पर तैयार किया गया है। सेना द्वारा दिखाई गई प्रोटोटाइप पिस्टल से 300 से ज्यादा राउंड फायर किए जा चुके हैं, जिसे करीब 4 महीने पहले तैयार किया गया था।

माइक्रोकॉप्टर का ट्रायल सफल
जम्मू-कश्मीर में पैरा स्पेशल फोर्स बटालियन ने इस माइक्रोकॉप्टर का ट्रायल किया। ट्रायल में यह माइक्रो ड्रोन पूरी तरह सफल साबित हुआ। न्यूज एजेंसी के मुताबिक, इसे बेहतर करने के लिए काम किया जा रहा है।

दुनिया का पहला यूनिवर्सल बुलेटप्रूफ जैकेट
भारतीय सेना के मेजर अनूप मिश्रा ने दुनिया का पहला यूनिवर्सल बुलेटप्रूफ जैकेट तैयार किया है। उन्होंने इस स्वदेशी जैकेट का नाम 'शक्ति' रखा है। इसे महिला या पुरुष कोई भी पहन सकता है। यह दुनिया का पहला फ्लेक्सिबल बॉडी आर्मर भी है।

हिमतापक हीटिंग डिवाइस भी तैयार की
इससे पहले DRDO ने जवानों के लिए हिमतापक हीटिंग डिवाइस तैयार की थी। इस डिवाइस के जरिए सेना का बंकर माइनस 40 डिग्री सेल्सियस तापमान में भी गर्म रहेगा। आर्मी ने इसके लिए 420 करोड़ का ऑर्डर भी DRDO को दे दिया है।

कार्बन डाई ऑक्साइड से भी जवानों को बचाएगी
यह हीटिंग डिवाइस बैक ब्लास्ट के दौरान निकलने वाली जहरीली गैस कार्बन डाई ऑक्साइड से भी जवानों को बचाएगी। इस जहरीली गैस से जवानों की मौत भी हो जाती है। जब कोई सैनिक लॉन्चर को कंधे या जमीन पर रखकर रॉकेट छोड़ता है तो उसके पीछे से जहरीली गैस निकलती है। उस एरिया को ही बैक ब्लास्ट एरिया कहते हैं। हिमतापक इस गैस को ऑब्जर्व कर लेगी।​​​​​​

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उत्तम व्यतीत होगा। खुद को समर्थ और ऊर्जावान महसूस करेंगे। अपने पारिवारिक दायित्वों का बखूबी निर्वहन करने में सक्षम रहेंगे। आप कुछ ऐसे कार्य भी करेंगे जिससे आपकी रचनात्मकता सामने आएगी। घर ...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser