पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • Atal Tunnel Closed Heavy Snowfall In Himachal Pradesh; Possibility Cold Wave In Rajasthan, Madhya Pradesh

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ठंड के तेवर गर्म:जम्मू-कश्मीर के 12 जिलों में एवलॉन्च की वॉर्निंग, हिमाचल में बर्फबारी से अटल टनल बंद

नई दिल्ली5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हिमाचल प्रदेश के कुल्लू सोलंग में बुधवार को बर्फ की मोटी चादर बिछ गई। यहां पिछले दो तीन दिनों से रुक-रुक कर बर्फबारी हो रही है। - Dainik Bhaskar
हिमाचल प्रदेश के कुल्लू सोलंग में बुधवार को बर्फ की मोटी चादर बिछ गई। यहां पिछले दो तीन दिनों से रुक-रुक कर बर्फबारी हो रही है।

जम्मू-कश्मीर के ऊंचाई वाले इलाकों में पिछले 3 दिनों से भारी बर्फबारी हो रही है। प्रशासन ने 12 जिलों में एवलॉन्च का अलर्ट जारी किया है। लोगों से अपील की गई है कि ऐसे इलाकों में न जाएं, जहां एवलॉन्च आने की आशंका है।

उधर, हिमाचल लाहौल स्पीति और कुल्लू में भारी बर्फबारी हो रही है। इसकी वजह से अटल टनल को बंद कर दिया गया है। बड़ी संख्या में टूरिस्ट फंस गए हैं। बर्फबारी के चलते पंजाब और हरियाणा में सर्दी बढ़ी है और कई जगह धुंध छाई रही। राजस्थान में वेस्टर्न डिस्टरबेंस के चलते जयपुर समेत कई राज्यों में बादल छाए रहे। मौसम विभाग ने आने वाले एक-दो दिनों में कुछ राज्यों में शीतलहर की संभावना जताई है।

  • हिमाचल

हिमाचल के लाहौल स्पीति और कुल्लू में बुधवार को जमकर बर्फबारी हुई है। जिस कारण अटल टनल रोहतांग को बंद कर दिया गया है। इस वजह से लाहौल घाटी में कई पर्यटक वाहनों समेत फंस गए हैं। घाटी से बाहर निकलने के लिए उन्हें टनल खुलने का इंतजार करना पड़ेगा। अटल टनल रोहतांग के नॉर्थ पोर्टल सिसु और आसपास के क्षेत्रों में 2 फीट से ज्यादा बर्फबारी हुई है। टनल के साउथ पोर्टल में भी 2 फीट से अधिक बर्फबारी हुई है। ऐसे में वाहनों की आवाजाही सुरक्षित नहीं है।

सड़क मार्ग को यातायात के लिए बहाल करने का काम शुरू कर दिया गया है, ताकि लाहौल घाटी में फंसे पर्यटकों को सुरक्षित मनाली की तरफ लाया जा सके। फिलहाल पर्यटकों को मनाली की तरफ से पलचान तक ही जाने दिया जा रहा है।

पूरा हिमाचल बर्फबारी की वजह से शीतलहर की चपेट में है। मौसम विभाग ने शिमला, किन्नौर, कुल्लू, लाहौल-स्पीति व चंबा जिलों में भारी बारिश और बर्फबारी को लेकर यलो अलर्ट जारी किया है। मुख्य पर्यटन स्थलों का तापमान माइनस में पहुंच गया है। मनाली -1, लाहौल स्पीति -17, रोहतांग -7 और किन्नौर का न्यूनतम तापमान -12 डिग्री हो गया है।

  • राजस्थान

वेस्टर्न डिस्टर्बेंस का असर राजस्थान के उत्तर-पश्चिमी क्षेत्रों में रहा। इसके चलते जोधपुर, बीकानेर संभाग के कई शहरों में हल्की बूंदाबांदी भी हुई। जयपुर, अजमेर जोन के कई जिलों में बुधवार सुबह बादल छाए रहे। जयपुर में मंगलवार रात हवा चलने लगी और आसमान में हल्के बादल भी रहे। हालांकि, बुधवार को मौसम साफ हो गया।

राजस्थान के उदयपुर, माउंट आबू को छोड़कर सभी शहरों में न्यूनतम तापमान बुधवार को दो डिजिट में दर्ज हुआ है।
राजस्थान के उदयपुर, माउंट आबू को छोड़कर सभी शहरों में न्यूनतम तापमान बुधवार को दो डिजिट में दर्ज हुआ है।

मौसम विभाग के मुताबिक, उदयपुर और माउंट आबू को छोड़कर सभी शहरों का न्यूनतम तापमान 11 डिग्री से ऊपर चला गया। जिसके कारण सर्दी का असर भी सुबह थोड़ा कम रहा। इधर, सीकर, बीकानेर, चूरू, जैसलमेर इनके आस-पास के क्षेत्रों में देर रात हल्की बूंदाबांदी हुई।

जयपुर 15.5, अजमेर 15.3, भीलवाड़ा 11.2, पिलानी 14.1, सीकर 14, कोटा 11.6, सवाई माधोपुर 13.2, बूंदी 11.8, चित्तौड़गढ़ 11.5, उदयपुर 9.4, बाड़मेर 16.6, पाली 13, जैसलमेर 13.3, जोधपुर 17.2, माउंट आबू 3, बीकानेर 15, चुरू 13.9 और श्रीगंगानगर में न्यूनतम तापमान 14.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

  • मध्यप्रदेश

बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवाती तूफान 'निवार' के असर से पूर्वी मध्यप्रदेश में खासकर जबलपुर संभाग में बारिश हो सकती है। तूफान के असर से राजधानी भोपाल सहित शेष इलाकों में बादल छाने से न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी हुई है।

तस्वीर भोपाल बोट क्लब बड़ा तालाब की है, यहां पर शाम के वक्त मौसम में धुंध छाई रही।
तस्वीर भोपाल बोट क्लब बड़ा तालाब की है, यहां पर शाम के वक्त मौसम में धुंध छाई रही।

हालांकि, 28 नवंबर के बाद एक बार फिर ठंड का दौर शुरू होने के आसार हैं। ऐसा वेस्टर्न डिस्टरबेंस की वजह से होगा। मौसम विज्ञान केंद्र भोपाल के वैज्ञानिक एचएस पांडेय ने बताया कि निवार तूफान का असर छत्तीसगढ़ के अलावा पूर्वी मप्र में बुधवार से ही दिख रहा है। बारिश भी हो सकती है।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- सकारात्मक बने रहने के लिए कुछ धार्मिक और आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करना उचित रहेगा। घर के रखरखाव तथा साफ-सफाई संबंधी कार्यों में भी व्यस्तता रहेगी। किसी विशेष लक्ष्य को हासिल करने ...

और पढ़ें