पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • Ayodhya Ram Temple LIVE Big Breaking The Resolution Of This 81 Year Old Woman Will Also Be Fulfilled By The Construction Of Ram Temple

राम मंदिर के लिए उपवास:जबलपुर की 81 साल की उर्मिला ने 28 साल से अन्न नहीं खाया, 5 अगस्त को अयोध्या में मंदिर की नींव रखते ही संकल्प पूरा होगा

जबलपुर (राजेश चौरसिया)6 दिन पहले
उर्मिला चतुर्वेदी ने कहा कि पूजन में शामिल नहीं हो पाने से वे दुखी हैं, लेकिन इसे वे राम की इच्छा मानकर संतोष करती हैं।
  • उर्मिला चतुर्वेदी ने 6 दिसंबर 1992 को संकल्प लिया था कि मंदिर निर्माण शुरू होने पर ही अन्न ग्रहण करेंगी
  • उर्मिला अयोध्या में ही अन्न ग्रहण करना चाहती हैं, परिवार वाले समझा रहे कि अभी वहां जाना संभव नहीं
Advertisement
Advertisement

अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण शुरू होते ही मध्य प्रदेश के जबलपुर में रहने वाली 81 साल की महिला की तपस्या पूरी हो जाएगी। 6 दिसंबर 1992 को अयोध्या में विवादित ढांचा ढहाए जाने के बाद दंगे हुए तो उन्होंने संकल्प लिया था कि राम मंदिर की नींव रखे जाने तक वे अन्न ग्रहण नहीं करेंगी। तब से ही वे फलाहार के साथ राम नाम जपते हुए उपवास पर हैं।

जबलपुर के विजय नगर में रहने वाली उर्मिला देवी ने उपवास शुरू किया था, तब उनकी उम्र 53 साल थी। पहले लोगों ने उन्हें बहुत समझाया कि उपवास तोड़ दें, लेकिन वे अडिग रहीं। मंदिर के पक्ष में फैसला आने पर वे बेहद खुश हुईं थीं। उन्होंने फैसला सुनाने वाले सुप्रीम कोर्ट के जजों और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र भेजकर बधाई दी थी।

5 अगस्त को अन्न ग्रहण करेंगी अभी यह तय नहीं
अयोध्या में 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राम मंदिर की नींव रखेंगे। उर्मिला उस दिन दिनभर घर में राम नाम का जाप करेंगी। वे चाहती हैं कि अयोध्या जाकर राम लला के दर्शन करने के बाद ही अन्न ग्रहण करें। उनके परिवार वाले समझा रहे हैं कि कोरोना की वजह से अयोध्या के कार्यक्रम में सिर्फ आमंत्रित लोग ही जा सकते हैं। ऐसे में उन्हें घर पर ही उपवास तोड़ लेना चाहिए, लेकिन वे इसके लिए अभी राजी नहीं हुई हैं।

बाकी जीवन अयोध्या में बिताना चाहती हैं
उर्मिला का कहना है कि अयोध्या में राम मंदिर का बनना उनके लिए पुनर्जन्म जैसा है। वे कहती हैं कि संकल्प तो पूरा हो ही गया अब उनकी बस इतनी इच्छा है कि अयोध्या में थोड़ी सी जगह मिल जाए, ताकि बाकी जीवन वे वहां बिता सकें।

अयोध्या से संबंधित ये खबरें भी आप पढ़ सकते हैं...

1. कहानी रामलला के पुजारी की: सत्येंद्र दास कहते हैं, जब बाबरी विध्वंस हुआ तो मैं वहीं था, हम रामलला को उठाकर अलग चले गए

2. अयोध्या से 5 कहानियां: जो सिलते हैं रामलला की ड्रेस, जो भेजते हैं हर दिन 20 बीड़ा स्पेशल पान, जो बनाते हैं माला और जो भेजते हैं दूध-दही और खुरचन पेड़ा

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - अपने जनसंपर्क को और अधिक मजबूत करें। इनके द्वारा आपको चमत्कारिक रूप से भावी लक्ष्य की प्राप्ति होगी। और आपके आत्म सम्मान व आत्मविश्वास में भी वृद्धि होगी। नेगेटिव- ध्यान रखें कि किसी की बात...

और पढ़ें

Advertisement