पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Azim Premji Earmarks Economic Benefits Of 34 Pc Of His Wipro Shares To Philanthropy

अजीम प्रेमजी 52750 करोड़ रुपए के शेयर दान करेंगे, अब तक 1.45 लाख करोड़ रु. दे चुके

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • विप्रो के चेयरमैन प्रेमजी अपनी शेयरहोल्डिंग का 34% परोपकार के लिए देंगे
  • अजीम प्रेमजी फाउंडेशन के जरिए करते हैं परोपकार के काम

बेंगलुरू. अजीम प्रेमजी ने विप्रो में अपनी शेयरहोल्डिंग का अतिरिक्त 34% परोपकार के लिए देने का फैसला किया है। रकम के लिहाज से यह 52,750 करोड़ रुपए बनते हैं। प्रेमजी देश की तीसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी विप्रो के चेयरमैन हैं। वह अजीम प्रेमजी फाउंडेशन के जरिए परोपकार के काम करते हैं। इसमें वह अब तक 1.45 लाख करोड़ रुपए दे चुके हैं। दिसंबर 2018 में विप्रो में प्रमोटर समूह की हिस्सेदारी 74.3% थी।

1) अजीम प्रेमजी फाउंडेशन से 5 साल में 150 एनजीओ को फंड मिला

समाजसेवा के लिए बनाया गया अजीज प्रेमजी फाउंडेशन मुख्यत: शिक्षा के क्षेत्र में काम करता है। इसका लक्ष्य पब्लिक स्कूलिंग सिस्टम को बेहतर बनाना है। फाउंडेशन इस क्षेत्र में काम करने वाले कई एनजीओ को आर्थिक मदद भी देता है।

अजीज प्रेमजी फाउंडेशन कर्नाटक, उत्तराखंड, राजस्थान, छत्तीसगढ़, पुडुचेरी, तेलंगाना, मध्य प्रदेश और उत्तर-पूर्वी राज्यों में सक्रिय है।

वंचित तबकों के लिए काम कर रहे 150 से ज्यादा एनजीओ को 5 साल में अजीम प्रेमजी फाउंडेशन से फंड मिला है। अभी करीब 1600 लोग इसके लिए फील्ड वर्क कर रहे हैं।

यह फाउंडेशन बेंगलुरू में अजीम प्रेमजी यूनिवर्सिटी भी चलाता है। जल्द ही इस यूनिवर्सिटी को 5 हजार छात्रों और 400 शिक्षकों की क्षमता वाला बनाया जाएगा। इसके बाद उत्तर भारत में भी एक यूनिवर्सिटी खोलने की योजना है।