• Hindi News
  • National
  • Karnataka Father Killed Daughter | Technician Killed His 2 Year Old Girl In Bangalore

2 साल की बेटी को सीने से दबाकर मार डाला:बोला- कर्जदार हूं, खिलाने को पैसे नहीं थे

बेंगलुरु2 महीने पहले
आरोपी पिता बेटी को स्कूल ले जाने के बहाने घर से निकला था।

बेंगलुरु में एक टेक्नीशियन ने अपनी 2 साल की बच्ची की हत्या कर दी। उसने पुलिस को बताया कि उसके पास बच्ची को खाना खिलाने के पैसे नहीं थे। बच्ची की जान लेने के बाद उसने आत्महत्या की कोशिश की, लेकिन बच गया।

घटना 15 नवंबर की है। बच्ची की डेड बॉडी 16 नवंबर को कोलार के केनदत्ती गांव की झील में मिली। इस झील के किनारे पुलिस को एक नीले रंग की कार भी मिली। इसे देखकर गांव के लोगों ने कोलार पुलिस को सूचना दी। इस सूचना के आधार पर पुलिस ने पिता की तलाश शुरू की, जिसके बाद 16 नवंबर को बेंगलुरु रेलवे स्टेशन से आरोपी पिता को गिरफ्तार किया गया। मामले का खुलासा अब हुआ है।

15 नवंबर से बेटी के साथ लापता था आरोपी
आरोपी की पहचान 45 साल के राहुल परमार के नाम से हुई है। वह गुजरात का रहने वाला है और दो साल पहले अपनी पत्नी भव्या के साथ बेंगलुरु शिफ्ट हुआ था। 15 नवंबर से वह अपनी बेटी के साथ लापता था, जिसकी शिकायत उसकी पत्नी ने पुलिस स्टेशन में दर्ज कराई थी।

शुक्रवार को पुलिस आरोपी को लेकर घटनास्थल पर पहुंची और सीन रिक्रिएट किया।
शुक्रवार को पुलिस आरोपी को लेकर घटनास्थल पर पहुंची और सीन रिक्रिएट किया।

बेटी को स्कूल ले जाने के बहाने घर से निकला था आरोपी
राहुल ने पुलिस को बताया कि वह बेटी को स्कूल ले जाने के बहाने घर से निकला था। वह खुद को मारना चाहता था, लेकिन बेटी के सामने होने के चलते वह फैसला नहीं ले पा रहा था। वह पूरे दिन बेंगलुरु और कोलार के आसपास चक्कर लगाता रहा। शाम को झील के पास कार रोककर वह बहुत देर तक सोचता रहा कि क्या करना चाहिए। उसने घर लौटने के बारे में भी सोचा, लेकिन उसे डर सताता रहा कि अगर वह घर लौटा तो कर्ज देने वाले उसे परेशान करेंगे।

बेटी को इतनी जोर से गले लगाया कि उसकी जान निकल गई
झील के पास एक दुकान से अपनी बेटी के लिए चॉकलेट और बिस्किट खरीदे, लेकिन बेटी दोपहर से भूखी थी, इसलिए वह रोती रही। राहुल के पास बच्ची को कुछ और खिलाने के लिए पैसे नहीं थे। इसलिए उसने बच्ची के साथ जान देने का फैसला लिया।

पहले वह बहुत देर तक बच्ची के साथ खेल खेलता रहा। फिर उसे बहुत देर तक गले लगाए रहा। गले लगाए हुए ही उसने बच्ची का दम घोंट दिया और उसके शव के साथ झील में कूद गया, लेकिन वह बच गया। इसके बाद उसने ट्रेन से कटकर जान देने की ठानी। वह बेंगलुरु रेलवे स्टेशन पहुंचा, जहां अगले दिन पुलिस ने उसे पकड़ लिया।

राहुल 6 महीने से बेरोजगार था। उसने अपने घर के सोने के गहने गिरवी रख दिए और पुलिस में गहने चोरी होने की झूठी रिपोर्ट लिखवाई।
राहुल 6 महीने से बेरोजगार था। उसने अपने घर के सोने के गहने गिरवी रख दिए और पुलिस में गहने चोरी होने की झूठी रिपोर्ट लिखवाई।

छह महीने से बेरोजगार था राहुल, घर में चोरी की झूठी रिपोर्ट लिखाई
पुलिस के मुताबिक राहुल पिछले 6 महीने से बेरोजगार था और उसे अपने बिटकॉइन बिजनेस में भी भारी नुकसान हुआ था। उसने अपने बेंगलुरु वाले घर से सोने के जेवरात चोरी होने की शिकायत भी लिखवाई थी। वह लगातार पुलिस स्टेशन जाकर मामले की जानकारी लेता था।

पुलिस की छानबीन पूरी होने के बाद पता चला कि राहुल ने खुद ही अपने घर से जेवर चुराए थे और उन्हें गिरवी रख दिया था। इसके बाद उसने पुलिस के पास झूठी शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने इस मामले में उसे थाने आने को कहा था, लेकिन उसके पहले उसने बेटी की हत्या कर दी। पुलिस का मानना है कि चोरी की झूठी रिपोर्ट लिखवाने के मामले में कार्रवाई के डर की वजह से उसने बेटी की जान ले ली। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

ये भी पढ़ें....

बेंगलुरु में मां ने बच्ची को चौथी मंजिल से फेंका:4 साल की मूक-बधिर बच्ची को फेंकने के बाद खुद रेलिंग पर बैठी रही महिला

बेंगलुरु में एक महिला ने अपनी 4 साल की बच्ची को चौथी मंजिल से नीचे फेंक दिया। बच्ची की मौके पर मौत हो गई। इसके बाद महिला खुद बालकनी की रेलिंग पर चढ़कर बैठ गई। उसने पुलिस को बताया कि बच्ची को फेंकने के बाद वह रेलिंग से कूदकर आत्महत्या करने वाली थी। पूरी खबर यहां पढ़ें...

चौथी बेटी पैदा होने पर लगाई फांसी:कर्नाटक के युवक ने तीसरी बच्ची पर भी सुसाइड की कोशिश की थी

कर्नाटक के एक युवक ने चौथी बेटी पैदा होने पर फांसी लगा ली। पुलिस ने इसकी जानकारी रविवार को दी। पुलिस के मुताबिक, घटना बेंगलुरु के सेट्टीहल्ली की है। मृतक की मां ने बेटे को फांसी पर लटका देखा। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। पूरी खबर यहां पढ़ें...

बेटे को मिली खौफनाक सजा:कारोबारी ने 25 साल के बेटे से डेढ़ करोड़ का हिसाब मांगा, न देने पर थिनर फेंककर आग लगाई

बेंगलुरु के चामराजपेट से एक दिल दहलाने वाला सामने आया है, जहां एक पिता ने अपने ही बेटे की आग लगाकर हत्या कर दी। जानकारी के मुताबिक, पिता सुरेंद्र और उसके बेटे अर्पित के बीच बिजनेस को लेकर कुछ दिनों से विवाद चल रहा था। विवाद इतना बढ़ गया कि राजस्थान के रहने वाले 55 साल के सुरेंद्र ने अपने 25 साल के बेटे अर्पित पर सड़क किनारे पहले पेंट थिनर फेंका और उसके बाद उसे आग लगा दी। पुलिस ने आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लिया है। पूरी खबर यहां पढ़ें...