• Hindi News
  • National
  • Bhagwant Mann Germany Airport Controversy; Sukhbir Singh Badal On Aam Aadmi Party | Punjab News

AAP ने मान को प्लेन से उतारे जाने को नकारा:सुखबीर बादल का आरोप- पंजाब CM नशे में थे, जर्मनी में फ्लाइट से उतारा, कांग्रेस ने भी शर्मनाक बताया

नई दिल्ली2 महीने पहले

आम आदमी पार्टी ने पंजाब के CM भगवंत मान को जर्मनी के फ्रैंकफर्ट एयरपोर्ट पर विमान से उतारने के आरोपों को नकार दिया है। दरअसल, मंगलवार को शिरोमणि अकाली दल के चीफ सुखबीर सिंह बादल ने ट्वीट कर दावा किया था कि मान को लुफ्थांसा फ्लाइट से उतारा गया, क्योंकि वे नशे में थे। इस वजह से फ्लाइट 4 घंटे देरी से उड़ान भर पाई।

सुखबीर बादल का कहना है कि इन मीडिया रिपोर्ट्स ने पंजाबियों को दुनिया भर में शर्मिंदा किया है। दिल्ली कांग्रेस ने भी भगवंत मान को अधिक नशे में होने की वजह से फ्लाइट से उतारे जाने को शर्मनाक घटना बताया।

AAP ने कहा- ये खबर झूठी है, उनकी तबीयत ठीक नहीं थी
AAP के मीडिया कम्युनिकेशन के निदेशक चंदर सुता डोगरा ने बताया था कि मुख्यमंत्री की तबीयत ठीक नहीं थी। इसी वजह से 17 तारीख की बजाय वे 18 तारीख को दिल्ली रवाना हुए। उधर, AAP ने मान के शराब पीने के मामले को खारिज कर दिया है। CM कार्यालय के मीडिया प्रभारी नवनीत वाधवा ने कहा कि यह सब फालतू बातें हैं। मुख्यमंत्री के जर्मनी दौरे के कार्यक्रम के मुताबिक, उन्हें 18 सितंबर तक जर्मनी में रहना था।

यात्रियों ने कहा- वे नशे में थे
पहले कई मीडिया रिपोर्ट्स में प्लेन के यात्रियों के हवाले से दावा किया गया था कि CM मान ने इतनी शराब पी रखी थी कि वे ठीक से चल नहीं पा रहे थे। उनकी पत्नी और सुरक्षाकर्मी उन्हें संभाल रहे थे। इस वजह से सुरक्षा का हवाला देते हुए मान को नीचे उतार दिया गया। उनके स्टाफ ने कोशिश की कि उन्हें न उतारा जाए, लेकिन फ्लाइट का स्टाफ कोई रिस्क नहीं लेना चाहता था। एक अन्य यात्री का कहना है कि इस पूरे वाकये के चलते फ्लाइट चार घंटे लेट हुई। हालांकि, इन रिपोर्ट्स में उन यात्रियों के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई, जिनके हवाले से यह खबर सामने आई थी।

क्या है पूरा मामला
भगवंत मान 17 सितंबर को जर्मनी से दिल्ली लौट रहे थे। मीडिया रिपोर्ट्स में ऐसा कहा जा रहा है कि इसी दौरान फ्रैंकफर्ट एयरपोर्ट पर उन्हें लुफ्थांसा एयरलाइंस के विमान से नीचे उतार दिया गया। वे नशे में थे, इसलिए एयरलाइन ने ऐसा फैसला लिया।
लुफ्थांसा वेबसाइट के मुताबिक, यह विमान फ्रैंकफर्ट से शनिवार दोपहर 1.40 बजे रवाना होने वाला था। यह दिल्ली में रात 12.55 बजे लैंड करता, लेकिन विमान 4 घंटे की देरी से शाम 5.52 बजे उड़ान भर पाया और सोमवार सुबह 4.30 बजे दिल्ली में लैंड हुआ।

बर्लिन में 15 सितंबर को जर्मन एग्री बिजनेस अलायंस और इसकी सदस्य कंपनियों के अधिकारियों के साथ CM मान ने कृषि व्यवसाय पर चर्चा की।
बर्लिन में 15 सितंबर को जर्मन एग्री बिजनेस अलायंस और इसकी सदस्य कंपनियों के अधिकारियों के साथ CM मान ने कृषि व्यवसाय पर चर्चा की।

सुखबीर बादल बोले- मान और केजरीवाल इस मुद्दे पर सफाई दें
सुखबीर सिंह बादल ने कहा- इस विमान के यात्रियों ने मीडिया को जो जानकारी दी है, वह परेशान करने वाली है। उन्होंने कहा कि हैरानी की बात यह है कि पंजाब सरकार इन खबरों पर चुप है। CM भगवंत मान और दिल्ली CM केजरीवाल को इस मुद्दे पर सफाई देनी चाहिए। भारत सरकार को इस मामले में दखल देना चाहिए, क्योंकि इसमें पंजाबी और राष्ट्रीय गौरव शामिल है। अगर मान को विमान से उतारा गया था, तो भारत सरकार को जर्मन सरकार से इस बारे में बात करनी चाहिए।

दिल्ली कांग्रेस ने बताया शर्मनाक
दिल्ली कांग्रेस के ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से इस घटना से जुड़ी न्यूज क्लिपिंग शेयर करते हुए लिखा गया कि यह बड़े शर्म की बात है।

11 सितंबर को जर्मनी गए थे मान
मान 11 सितंबर को जर्मनी गए थे। जर्मनी में उन्होंने म्यूनिख, फ्रैंकफर्ट और बर्लिन का दौरा किया और पंजाब में निवेश की मांग की। वह दुनिया के प्रमुख व्यापार मेले, ड्रिंकटेक 2022 में भी शामिल हुए। उनके साथ उनकी पत्नी और सुरक्षाकर्मियों के अलावा अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी थे।

शराब के कारण सुर्खियों में रहे मान...

साल 2019 में पंजाब के CM भगवंत मान ने एक रैली में कहा था कि उन्होंने अब शराब छोड़ दी है और वे अपनी मां की सलाह पर ऐसा कर रहे हैं। उन्होंने कहा- मेरे कई पुराने वीडियो को सोशल मीडिया पर डालकर मुझे बदनाम किया जाता था। मेरे राजनीतिक विरोधी आरोप लगाते हैं कि मान दिन-रात शराब के नशे में रहता था। इस लिए मैं नए साल पर इसे छोड़ रहा हूं। इसके बाद उन्हें काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था।

मान ने मंच पर अपनी मां और पंजाब की जनता के सामने वादा किया था कि अपना तन मन धन पंजाब की सेवा के लिए लगाएंगे।
मान ने मंच पर अपनी मां और पंजाब की जनता के सामने वादा किया था कि अपना तन मन धन पंजाब की सेवा के लिए लगाएंगे।
यह तस्वीर 14 अप्रैल, 2022 की है, जब मान बैसाखी के अवसर पर दमदमा साहिब माथा टेकने पहुंचे थे। इस दौरान सुखबीर सिंह बादल ने आरोप लगाया था कि मान ने गुरुद्वारा में जब अरदास की तो वह नशे में थे।
यह तस्वीर 14 अप्रैल, 2022 की है, जब मान बैसाखी के अवसर पर दमदमा साहिब माथा टेकने पहुंचे थे। इस दौरान सुखबीर सिंह बादल ने आरोप लगाया था कि मान ने गुरुद्वारा में जब अरदास की तो वह नशे में थे।