पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Bharat Biotech Tied Up With US Company For Supply Covaxin In Canada, Will Give 45% Share Of Profits In Return

कनाडा में भी मिलेगी कोवैक्सिन:भारत बायोटेक ने वैक्सीन की सप्लाई के लिए अमेरिकी कंपनी से करार किया, बदले में मुनाफे का 45% हिस्सा देगी

हैदराबाद12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कोवैक्सिन को अब तक 13 देशों में इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिल चुकी है। वहीं, 60 देशों में इसके लिए प्रोसेस चल रही है। - Dainik Bhaskar
कोवैक्सिन को अब तक 13 देशों में इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिल चुकी है। वहीं, 60 देशों में इसके लिए प्रोसेस चल रही है।

भारत बायोटेक ने अपनी कोरोना वैक्सीन कोवैक्सिन के कनाडा में को-डेवलपमेंट, मैन्यूफैक्चरिंग और कमर्शियल यूज के लिए अमेरिकी कंपनी ऑक्यूजेन इंक से हाथ मिलाया है। कंपनी ने गुरुवार को इसकी जानकारी दी। ऑक्यूजेन इंक अमेरिका में भी भारत बायोटेक की पार्टनर है। अब उनके एग्रीमेंट में कनाडा को भी शामिल किया गया है।

भारत बायोटेक ने इससे पहले 2 फरवरी को जानकारी दी थी कि उसने अमेरिका में कोवैक्सिन के को-डेवलपमेंट, सप्लाई और कमर्शियल यूज के लिए ऑक्यूजेन इंक के साथ करार किया है। ऑक्यूजेन के को-फाउंडर और CEO शंकर मुसुनुरी ने बताया कि कंपनी अमेरिका में वैक्सीन के इमरजेंसी यूज के लिए अप्लाई करने की दिशा में काम कर रही है। अब हम कनाडा में भी रेगुलेटरी बॉडी से अंतरिम ऑर्डर के तहत इसकी मंजूरी मांगेंगे।

ऑक्यूजेन मुनाफे का 45% हिस्सा रखेगी
शंकर ने कहा कि एग्रीमेंट में कनाडा के मार्केट को भी शामिल करना हमारे मजबूत रिश्तों को बताता है। इससे हम एक यूनिक, लेकिन ट्रेडिशनल वैक्सीन को और देशों में ले जा पाएंगे। कंपनी की ओर से जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि दोनों कंपनियां कनाडा में भी अमेरिका की ही तरह प्रॉफिट शेयर करेंगी। ऑक्यूजेन कनाडा में कोवैक्सिन की सेल से होने वाले मुनाफे का 45% हिस्सा रखेगी।

हर वैरिएंट पर कारगर है कोवैक्सिन
भारत बायोटेक के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर कृष्णा एला ने कहा कि कोवैक्सिन ने भारत में क्लीनिकल ट्रायल और इमरजेंसी यूज के तहत बहुत बेहतरीन सेफ्टी रिकॉर्ड का प्रदर्शन किया है। इसके भारत और दूसरे देशों में 3 करोड़ डोज सप्लाई किए गए हैं। इसमें कहीं भी सेफ्टी से जुड़े मसले सामने नहीं आए। कोवैक्सिन को अब तक 13 देशों में इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिल चुकी है। वहीं, 60 देशों में इसकी प्रोसेस चल रही है।

उन्होंने कहा कि हम ऑक्यूजेन के साथ मिलकर अमेरिका में कोवैक्सिन लाने के लिए काम कर रहे हैं। अब कनाडा के मार्केट में इसे लाना चाहते हैं। भारत बायोटेक का मानना है कि वायरस के हर तरह के वैरिएंट पर असरदार होने के कारण कोवैक्सिन बच्चों समेत सभी के लिए जरूरी है।

खबरें और भी हैं...