• Hindi News
  • National
  • Sanjay Raut: Shiv Sena leader Sanjay Raut On Devendra Fadnavis Over Maharashtra CM Post

भास्कर इंटरव्यू / देवेंद्र फडणवीस तो कल ही उपमुख्यमंत्री बन सकते हैं, सत्ता में हमें बराबरी से हिस्सा चाहिए: राउत



संजय राउत। -फाइल फोटो संजय राउत। -फाइल फोटो
X
संजय राउत। -फाइल फोटोसंजय राउत। -फाइल फोटो

  • शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा- आधी सदी से हम विरोध झेल रहे हैं, लेकिन आज तक किसी को खत्म करने की भाषा बोलने वाला नहीं मिला
  • ‘उन्होंने हमें कम सीटें दीं, 25 सीटें ऐसी थी, जहां जीतने की संभावना ही नहीं थी, बाकी जगहों में से 32 सीटों पर इनके बागियों ने हमें हराया’

Dainik Bhaskar

Nov 07, 2019, 11:05 AM IST

मुंबई (संजय आवटे). शिवसेना के मुखपत्र सामना के कार्यकारी संपादक संजय राउत ने साफ किया कि मुख्यमंत्री के तौर पर देवेंद्र फडणवीस शिवसेना को स्वीकार नहीं हैं। भास्कर को दिए इंटरव्यू में राउत ने कहा, ‘‘वह (फडणवीस) चाहें तो कल ही डिप्टी सीएम बन सकते हैं। आधी सदी से हम विरोध झेल रहे हैं, लेकिन आज तक किसी को खत्म करने की भाषा बोलने वाला नहीं मिला। इन्हें (फडणवीस) शिवसेना को खत्म करना है। शिवसेना को ही नहीं, बल्कि विरोधियों समेत मित्रों को भी खत्म करना है। खुद की पार्टी में चुनौती बन रहे नेताओं को खत्म करना है। अहंकारी का अहंकार उतारने का यही उचित समय है।’’

 

भाजपा के साथ गठबंधन के सवाल पर राउत ने कहा, ‘‘कैसा गठबंधन? सीटों के बंटवारे में उन्होंने हमें कम सीटें दीं। 25 सीटें ऐसी थी, जहां जीतने की संभावना ही नहीं थी। बाकी जगहों में से 32 सीटों पर इनके बागियों ने हमें हराया। क्या आप इसे गठबंधन कहते हैं? इसी वजह से भले ही वे अपने शब्द भूल गए हों, हम उन पर मजबूती से कायम हैं। सत्ता में हमें बराबरी से हिस्सा चाहिए।’’

 

‘पवार महत्वपूर्ण फैक्टर’
शरद पवार के साथ बैठक पर राउत ने कहा, ‘‘बैठक क्यों नहीं होनी चाहिए? महाराष्ट्र में कुछ भी होना हो तो शरद पवार महत्वपूर्ण फैक्टर हैं। उनके पास कितने विधायक हैं, यह छोड़ दो। पवार के बिना राज्य की राजनीति की कल्पना ही नहीं की जा सकती। कॉमन मिनिमम प्रोग्राम जैसा शब्द पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने ही दिया था। राष्ट्रपति शासन के बजाय राज्य के हित में विपरीत विचारों वाली पार्टियों को भी साथ लाया जा सकता है।’’

 

भाजपा सूत्र- 9 नवंबर तक बन जाएगी गठबंधन सरकार

महाराष्ट्र में चुनाव नतीजे के 13वें दिन भाजपा-शिवसेना के बीच टकराव खत्म होने के संकेत मिले। सूत्रों ने कहा कि दोनों दलों के बीच पर्दे के पीछे से बातचीत शुरू हो गई है और राज्य में 9 नवंबर तक सरकार बन जाएगी। मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल 9 नवंबर हो ही पूरा हो रहा है। नाम उजागर नहीं करने की शर्त पर सूत्र ने कहा कि दोनों दलों के बड़े नेताओं के बीच बातचीत चल रही है और गुरुवार तक सब कुछ पटरी पर होगा। इससे पहले भाजपा नेता और वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने कहा कि भाजपा नेता गुरुवार को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात करेंगे। भाजपा-शिवसेना गठबंधन की ही सरकार बनेगी। हम गठबंधन की सरकार बनाने की कोशिश करेंगे, क्योंकि भाजपा-शिवसेना और सहयोगियों को ही जनादेश मिला है।

 

DBApp

 

 

 

 

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना