• Hindi News
  • National
  • Bipin Rawat Death LIVE Update; Tamil Nadu Helicopter Crash News | Chief Of Defence Staff IAF Chopper Black Box

बीरा को आखिरी सलाम:PM मोदी ने जनरल बिपिन रावत समेत सभी शहीदों को श्रद्धांजलि दी, परिजनों से एक-एक कर मिले और ढांढस बंधाया

8 महीने पहले

तमिलनाडु के हेलिकॉप्टर हादसे में शहीद हुए चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) जनरल बिपिन रावत (बीरा) उनकी पत्नी मधुलिका समेत 13 जवानों का शव गुरुवार शाम करीब पौने 8 बजे दिल्ली के पालम एयरपोर्ट पर लाया गया।

करीब 9 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एयरपोर्ट पहुंचे और जनरल रावत समेत सभी शहीदों को श्रद्धांजलि दी। शहीदों के ताबूत देख PM ने हाथ जोड़े, सिर झुकाया और अपनी आंखें बंद कर लीं। इसके बाद मोदी शहीदों के परिजनों से एक-एक कर मिले और उन्हें ढांढस बंधाया।

शहीदों के ताबूत देख PM ने हाथ जोड़े, सिर झुकाया और अपनी आंखें बंद कर लीं।
शहीदों के ताबूत देख PM ने हाथ जोड़े, सिर झुकाया और अपनी आंखें बंद कर लीं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शहीदों को श्रद्धांजलि देने के बाद उनके परिजनों से मुलाकात की। उन्होंने शहीद परिवार के एक-एक लोगों से बातचीत कर उन्हें सांत्वना दी।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शहीदों को श्रद्धांजलि देने के बाद उनके परिजनों से मुलाकात की। उन्होंने शहीद परिवार के एक-एक लोगों से बातचीत कर उन्हें सांत्वना दी।

राजनाथ और डोभाल ने भी दी श्रद्धांजलि
इससे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजित डोभाल करीब साढ़े 8 बजे एयरपोर्ट पहुंचे और सभी शहीदों के परिजनों से मिलकर बातचीत की। पीएम के बाद राजनाथ सिंह और अजित डोभाल ने शहीदों को श्रद्धा सुमन अर्पित किया।

तीनों सेना प्रमुखों ने भी किए अंतिम दर्शन
CDS बिपिन रावत समेत 13 शहीदों के अंतिम दर्शन के लिए तीनों सेना के प्रमुख भी पालम एयरपोर्ट पहुंचे। थल सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे, नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार और वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी ने भी शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की।

रावत की दोनों बेटियों ने ताबूत पर मत्था टेका
सीडीएस रावत की बेटी बिलख रही हैं। दोनों ने माता-पिता के पार्थिव शरीर को प्रणाम कर ताबूत पर मत्था टेका। उनका रो-रो कर बुरा हाल हो रहा है। जनरल रावत की बड़ी बेटी का नाम कीर्तिका है। कीर्तिका की शादी हो चुकी है और फिलहाल वह मुंबई में रहती हैं। छोटी बेटी का नाम तारिणी है, जो दिल्ली हाईकोर्ट में वकील के तौर पर प्रैक्टिस कर रही हैं।

सीडीएस रावत की बेटी कीर्तिका और तारिणी ने माता-पिता के पार्थिव शरीर को प्रणाम कर ताबूत पर मत्था टेका।
सीडीएस रावत की बेटी कीर्तिका और तारिणी ने माता-पिता के पार्थिव शरीर को प्रणाम कर ताबूत पर मत्था टेका।

शुक्रवार को आम लोग दर्शन कर सकेंगे, फिर अंतिम संस्कार
जनरल रावत का अंतिम संस्कार दिल्ली में शुक्रवार को होगा। वहीं, सैन्य हेलिकॉप्टर दुर्घटना में शहीद हुए ब्रिगेडियर एलएस लिड्डर का अंतिम संस्कार शुक्रवार को दिल्ली कैंट में शाम 7:15 बजे किया जाएगा। आम जनता सीडीएस कारज मार्ग स्थित आवास पर कल सुबह 11 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक सीडीएस जनरल बिपिन रावत को श्रद्धांजलि दे सकती है। सैन्यकर्मी दोपहर 12:30-13:30 बजे के बीच सम्मान दे सकते हैं। इसके बाद पार्थिव शरीर को दिल्ली कैंट बराड़ स्क्वायर में अंतिम संस्कार के लिए ले जाया जाएगा।

रावत समेत 4 शवों की पहचान हुई
इससे पहले डॉक्टरों की टीम ने रावत, मधुलिका और ब्रिगेडियर एलएस लिद्दर समेत 4 शवों की पहचान कर ली। रक्षा मंत्रालय ने गुरुवार दोपहर एक बयान जारी किया। मंत्रालय ने कहा कि हादसा इतना भीषण था कि शवों की पहचान मुश्किल हो गई है। हम सही पहचान के लिए हर संभव कदम उठा रहे हैं, ताकि किसी करीबी की भावना को चोट न पहुंचे। मृतकों के परिजनों को दिल्ली बुला लिया गया है। इसके अलावा वैज्ञानिक तरीके से भी जांच की जाएगी।

राजनाथ ने हादसे पर 4 मिनट बयान दिया, कहा- 12:08 पर टूट गया था संपर्क
राजनाथ सिंह ने संसद में गुरुवार सुबह 11.05 बजे बयान दिया। 4 मिनट के बयान में उन्होंने हादसे में मारे गए सभी लोगों के बारे में जानकारी दी और रावत के अंतिम संस्कार के बारे में भी बताया। रक्षा मंत्री ने कहा, "हेलिकॉप्टर का संपर्क बुधवार दोपहर 12:08 बजे एयर ट्रैफिक कंट्रोल से टूट गया था। इसके बाद वह क्रैश हो गया।

स्थानीय लोग जब घटनास्थल पर पहुंचे तो हेलिकॉप्टर में आग लग गई थी। रेस्क्यू टीमें मौके पर भेजी गईं। हादसे में बचे ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह को वेलिंगटन के अस्पताल में भर्ती किया गया है, जहां वे लाइफ सपोर्ट पर हैं। उनकी जान बचाने की कोशिशें जारी हैं।"

हादसे में बचे वरुण सिंह को बेंगलुरु शिफ्ट किया गया
हेलिकॉप्टर क्रैश में सिर्फ ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह बचे हैं। उनका शरीर इस हादसे में बुरी तरह झुलस गया है। उन्हें पहले वेलिंगटन के मिलिट्री अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बाद में उनको एयर एंबुलेंस से बेंगलुरु शिफ्ट कर दिया गया। पिछले साल तेजस फाइटर जेट उड़ाते वक्त उन्हें बड़ी तकनीकी दिक्कत का सामना करना पड़ा था, पर उन्होंने साहस नहीं खोया और विमान को सुरक्षित लैंड कराया था। इसके लिए उन्हें शौर्य चक्र से नवाजा गया था।

हेलिकॉप्टर का ब्लैक बॉक्स बरामद, ट्राई सर्विस इन्क्वायरी होगी
फोरेंसिक साइंस डिपार्टमेंट की टीम क्रैश साइट पर पहुंची। टीम को डिपार्टमेंट के डायरेक्टर श्रीनिवासन लीड कर रहे हैं। घटनास्थल से फ्लाइट डेटा रिकॉर्डर, कॉकपिट वाइस रिकॉर्डर बरामद किया गया है। हादसे की ट्राई सर्विस इन्क्वायरी एयर मार्शल मानवेंद्र सिंह की अगुआई में की जाएगी। सिंह इंडियन एयर फोर्स की ट्रेनिंग कमांड के कमांडर हैं और वे खुद भी हेलिकॉप्टर पायलट हैं।

क्रैश साइट्स से मिले ब्लैक बॉक्स को जांच के लिए ले जाते अफसर।
क्रैश साइट्स से मिले ब्लैक बॉक्स को जांच के लिए ले जाते अफसर।

दुर्घटना में इनकी मौत
चॉपर में ब्रिगेडियर एलएस लिद्दर, लेफ्टिनेंट कर्नल हरजिंदर सिंह, विंग कमांडर पीएस चौहान, स्क्वॉड्रन लीडर के सिंह, नायक गुरसेवक सिंह, नायक जितेंद्र कुमार, लांस नायक विवेक कुमार, लांस नायक बी. साई तेजा, जूनियर वारंट ऑफिसर दास, जूनियर वारंट ऑफिसर ए प्रदीप और हवलदार सतपाल सवार थे। इन सभी का निधन हो गया है।