• Hindi News
  • National
  • Bob Iger Net Worth: Disney CEO Bob Iger Resigns Quits From Apple Board Directors

फैसला / डिज्नी के सीईओ का 8 साल बाद एपल के बोर्ड से इस्तीफा, दोनों कंपनियां वीडियो स्ट्रीमिंग में उतर रहीं



डिज्नी के सीईओ बॉब आइगर। (फाइल) डिज्नी के सीईओ बॉब आइगर। (फाइल)
X
डिज्नी के सीईओ बॉब आइगर। (फाइल)डिज्नी के सीईओ बॉब आइगर। (फाइल)

  • एपल टीवी प्लस सर्विस 1 नवंबर से शुरू होगी, डिज्नी भी नवंबर में ही स्ट्रीमिंग सर्विस लॉन्च करेगी
  • एपल ने 10 सितंबर को स्ट्रीमिंग सर्विस की तारीख-टैरिफ घोषित किए, डिज्नी के सीईओ बॉब आइगर ने उसी दिन एपल के बोर्ड से इस्तीफा दिया
  • आइगर 2011 से एपल के बोर्ड में थे, एपल के को-फाउंडर स्टीव जॉब्स आइगर के दोस्त थे

Dainik Bhaskar

Sep 14, 2019, 12:20 PM IST

कैलिफॉर्निया. अमेरिकी एंटरटेनमेंट कंपनी डिज्नी के सीईओ बॉब आइगर ने एपल के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर से 10 सितंबर को इस्तीफा दे दिया। एपल ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। आइगर 2011 में एपल के बोर्ड में शामिल हुए थे। वे एपल की कॉरपोरेट गवर्नेंस कमेटी के प्रमुख थे। कंपनी के कंपेनसेशन बोर्ड में भी थे। आइगर ने वीडियो स्ट्रीमिंग में एपल और डिज्नी के कॉम्पिटीशन की वजह से इस्तीफा दिया। एपल टीवी प्लस सर्विस के जरिए 1 नवंबर से वीडियो स्ट्रीमिंग में उतरेगी। डिज्नी भी नवंबर में ही स्ट्रीमिंग सर्विस शुरू करेगी।

एपल के को-फाउंडर स्टीव जॉब्स भी डिज्नी के बोर्ड में रहे थे

  1. एपल ने 10 सितंबर को ही स्ट्रीमिंग सर्विस की कीमत और तारीख का ऐलान किया था। आइगर ने उसी दिन इस्तीफा दे दिया। एपल के को-फाउंडर स्टीव जॉब्स आइगर के दोस्त थे। 2011 में जॉब्स के निधन के बाद आइगर एपल के बोर्ड में शामिल हुए। फॉर्च्यून की रिपोर्ट के मुताबिक निधन से पहले जॉब्स ने ही आइगर से ऐसा करने को कहा था। डिज्नी ने 2006 में जॉब्स की कंपनी पिक्सर को खरीदा था। जॉब्स भी डिज्नी के बोर्ड में रहे थे।

  2. डिज्नी और एपल के कॉरपोरेट संबंध कई साल पुराने हैं। डिज्नी उन शुरुआती कंपनियों में से है जिन्होंने आईफोन और आईपैड के लिए ऐप डेवलप किए थे। आइगर 2005 में डिज्नी के सीईओ बने। उसके कुछ समय बाद ही आईट्यून्स के कंटेंट की घोषणा के वक्त वे स्टीव जॉब्स के साथ स्टेज पर दिखे थे।

  3. ऐसा पहली बार नहीं है कि कॉम्पिटीशन की वजह से किसी ने एपल के बोर्ड से इस्तीफा दिया है। 2009 में गूगल के तत्कालीन सीईओ एरिक श्मिट ने भी ऐसा ही फैसला लिया था। गूगल के मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रॉयड को आईफोन से चुनौती मिलने की बात स्पष्ट होने के बाद श्मिट ने एपल के बोर्ड से इस्तीफा दे दिया था।

     

    DBApp

     

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना