• Hindi News
  • National
  • Jammu And Kashmir 2 Soldiers Bodies । 9 Casualties । Junior Commissioned Officer (JCO) । Rifleman Yogambar Singh And Rifleman Vikram Singh Negi

6 दिन में 9 सैनिक शहीद:पुंछ में मुठभेड़ वाली जगह से 48 घंटे बाद 2 जवानों के शव मिले, एनकाउंटर के बाद से लापता थे

श्रीनगर2 महीने पहले
कश्मीर के पुंछ में 11 अक्टूबर से एनकाउंटर जारी है। पहले दिन 5 जवान शहीद हुए थे, इसके 4 दिन बाद फिर 2 जवान शहीद हुए। शनिवार को 2 सैनिकों के शव बरामद किए गए हैं। -फाइल फोटो

कश्मीर में पिछले कुछ दिनों के अंदर आतंकी वारदातों में बढ़ोतरी हुई है। सेना ने शनिवार को एक जूनियर कमीशंड ऑफिसर (JCO) समेत सेना के 2 जवानों के शव 48 घंटे बाद बरामद किए हैं।

दोनों ही कश्मीर के पुंछ में आतंकियों के साथ गुरुवार शाम को हुई मुठभेड़ के बाद से लापता थे। आर्मी ने इनकी तलाश के लिए इलाके में बड़ा सर्च ऑपरेशन चलाया था। इनके नाम नायक हरेंद्र सिंह और सूबेदार अजय सिंह हैं।

इस मुठभेड़ में सबसे ज्यादा सैनिक शहीद
इन 2 शवों के मिलने के बाद अब तक मुठभेड़ में शहीद हुए जवानों की संख्या 9 हो गई है। पिछले कुछ महीनों में हुए एनकाउंटर्स में इस बार शहीद होने वाले सैनिकों की संख्या अब तक सबसे ज्यादा है।

मुठभेड़ के बाद लापता हो गए थे जवान
सेना के एक अधिकारी ने बताया कि उनका गुरुवार से JCO से कॉन्टैक्ट नहीं हो पा रहा था। इसके बाद सेना ने शनिवार सुबह मेंढर सेक्टर के नर खास इलाके में सर्च ऑपरेशन चलाया। यहां जवानों की आतंकियों के साथ भारी मुठभेड़ हुई।

इससे पहले 7 जवान शहीद हुए थे
जानकारी के मुताबिक 11 अक्टूबर को सेना और आतंकियों के बीच पुंछ में मुठभेड़ शुरू हुई। सर्च ऑपरेशन के दौरान पहले ही दिन 5 जवान शहीद हो गए। इसके 4 दिन बाद इस इलाके में ही हुई दूसरी मुठभेड़ में 2 जवान शहीद हो गए थे।

आतंकियों ने शुरू की फायरिंग
पहला एनकाउंटर जम्मू-राजौरी-पुंछ नेशनल हाईवे के करीब भिम्बर गली इलाके में हुआ था, यह मेंढर सब-डिवीजन में आता है। यहां भाटा धूरियां गांव है और इसी गांव में सर्च ऑपरेशन चला रहे सैन्य दस्ते पर आतंकियों ने फायरिंग की थी। इस दौरान एक JCO और एक जवान को गोली लगी। उन्हें करीबी अस्पताल पहुंचाया गया, लेकिन बचाया नहीं जा सका। इसके बाद सुरक्षा बलों का एक और दस्ता मौके पर भेजा गया। सुरक्षा घेरा सख्त किया गया और सर्च ऑपरेशन जारी रखा गया।

खबरें और भी हैं...