• Hindi News
  • National
  • Brij Bhushan Sharan Controversy; Bajrang Punia, Sakshi Malik | Vinesh Phogat | Anurag Thakur

पहलवानों का धरना खत्म:खेल मंत्रालय जांच समिति का गठन करेगा; 4 हफ्ते में जांच करेगी कमेटी, तब तक फेडरेशन का काम नहीं देखेंगे बृजभूषण

नई दिल्ली14 दिन पहलेलेखक: संध्या द्विवेदी/वैभव पलनीटकर

WFI और पहलवानों के बीच जारी विवाद में खेल मंत्री के आवास पर पहलवानों की मंत्री और अफसरों के साथ बैठक हुई। खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि बैठक में निर्णय लिया गया है कि एक जांच समिति का गठन किया जाएगा। इस समिति के नामों की घोषणा शनिवार को की जाएगी। समिति 4 सप्ताह में अपनी जांच पूरी करेगी। जांच पूरी होने तक बृजभूषण सिंह फेडरेशन का काम नहीं देखेंगे। साथ ही WFI की दिन-प्रतिदिन की गतिविधियों पर भी समिति नजर रखेगी।

इस दौरान पहलवान बजरंग पुनिया ने कहा,'केंद्रीय खेल मंत्री ने हमारी मांगों को सुना और उचित जांच का आश्वासन दिया। मैं उन्हें धन्यवाद देता हूं और हमें उम्मीद है कि निष्पक्ष जांच होगी, इसलिए हम धरना खत्म कर रहे हैं।

IOA ने जांच के लिए 7 सदस्यीय कमेटी बनाई

इधर, इंडियन ओलिंपिक एसोसिएशन (IOA) ने भी पहलवानों के आरोपों की जांच के लिए 7 सदस्यीय कमेटी बना दी है। इस कमेटी में बॉक्सर मैरी कॉम, तीरंदाज डोला बनर्जी, बैडमिंटन प्लेयर अलकनंदा अशोक, फ्रीस्टाइल कुश्तीबाज योगेश्वर दत्त, भारतीय भारोत्तोलन महासंघ के अध्यक्ष सहदेव यादव और दो वकील शामिल हैं।

बृजभूषण की प्रेस कॉन्फ्रेंस का 5 बार बदला टाइम
बृजभूषण सिंह की 4 बजे से होने वाली प्रेस कॉन्फ्रेंस शुरू ही नहीं हो पाई। सूत्रों ने बताया कि ऊपर से प्रेस कॉन्फ्रेंस कैंसिल करने का प्रेशर था। कॉन्फ्रेंस के लिए मौजूद पत्रकारों को कई बार टाइम बदलने का मैसेज आता रहा। पहले 4.30 बजे का मैसेज आया, फिर 5 बजे, 6 बजे, 6.30 बजे और फिर 7 बजे का मैसेज आया था।

नेशनल चैंपियनशिप छोड़कर लौटे 200 पहलवान
इस विवाद का असर यूपी के गोंडा में होने वाली नेशनल चैंपियनशिप पर भी पड़ा है। चैंपियनशिप में हिस्सा लेने गए दिल्ली, हरियाणा और पंजाब के कई खिलाड़ी लौट रहे हैं। इनमें शामिल दिल्ली के रेसलर प्रदीप मीणा ने बताया कि अब तक 200 से ज्यादा रेसलर लौट चुके हैं। इन लोगों ने चैंपियनशिप में खेलने से इनकार कर दिया है।

यूपी में होने वाली नेशनल चैंपियनशिप में हिस्सा लेने गए दिल्ली, हरियाणा और पंजाब के कई खिलाड़ी रास्ते से ही लौट रहे हैं। ये फुटेज अयोध्या स्टेशन का है।
यूपी में होने वाली नेशनल चैंपियनशिप में हिस्सा लेने गए दिल्ली, हरियाणा और पंजाब के कई खिलाड़ी रास्ते से ही लौट रहे हैं। ये फुटेज अयोध्या स्टेशन का है।

करीब 15 साल से रेसलिंग कर रहे प्रदीप के मुताबिक, 'अब गोंडा में ज्यादा पहलवान नहीं है। हम लोग दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे रेसलर्स के साथ हैं। वहां पहुंचते ही जंतर-मंतर जाएंगे। प्रदीप ने आरोप लगाया- हमें अपने पैसों से आने-जाने की टिकट करानी पड़ती है। रुकने का इंतजाम भी अच्छा नहीं होता। कॉलेज के कमरों में रुकवा देते हैं। यहां पतले-पतले गद्दे होते हैं। हमें खाने को भी कुछ नहीं मिला। सुबह भी अपने पैसों से खाना खाया।

जंतर-मंतर पर शुक्रवार को धरना देते पहलवान बजरंग पुनिया (बाएं), विनेश फोगाट (बीच में) और साक्षी मलिक (सबसे दाएं)।
जंतर-मंतर पर शुक्रवार को धरना देते पहलवान बजरंग पुनिया (बाएं), विनेश फोगाट (बीच में) और साक्षी मलिक (सबसे दाएं)।

बृजभूषण बोले- मुंह खोल दूंगा तो सुनामी आ जाएगी
यौन शोषण के आरोपों में घिरे भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ने शुक्रवार को इस्तीफा देने से साफ इनकार कर दिया। उन्होंने कहा, 'मैं मुंह खोल दूंगा तो सुनामी आ जाएगी। मेरे समर्थन में भी कई खिलाड़ी हैं।' सूत्रों की माने तो खेल मंत्रालय WFI पर डायरेक्ट एक्शन नहीं ले सकता है, लेकिन इंडियन ओलिंपिक संघ फेडरेशन को भंग कर सकता है। ऐसे में अगर बृजभूषण नहीं माने तो IOA कार्रवाई कर सकता है। पहलवानों ने IOA अध्यक्ष पीटी ऊषा को शिकायती पत्र भेजा है।

पहलवानों ने IOA को लिखा लेटर
इंडियन ओलिंपिक संघ (IOA) को लिखे लेटर में पहलवानों ने अपना पूरा दर्द बयान किया। पहलवानों ने आरोप लगाया- जब टोक्यो ओलिंपिक में विनेश फोगाट मेडल से चूक गई थीं, तब कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ने उन्हें मानसिक तौर पर इतना परेशान किया कि विनेश ने सुसाइड का मन बना लिया था। इधर, तीसरे दिन के धरने के बाद खिलाड़ी खेल मंत्री अनुराग ठाकुर के घर पहुंचे हैं। खिलाड़ियों और ठाकुर के बीच कल भी दो घंटे बातचीत हुई थी।

पहलवानों ने पीटी ऊषा को पत्र भेजा है, जिसमें विनेश की बात पीले रंग के बैक ग्राउंड में है।
पहलवानों ने पीटी ऊषा को पत्र भेजा है, जिसमें विनेश की बात पीले रंग के बैक ग्राउंड में है।

हमें सुना तो गया, लेकिन संतुष्ट जवाब नहीं मिला: विनेश
विनेश ने धरना स्थल पर प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा- हमारी मांग पूरी नहीं हुई तो आंदोलन जारी रहेगा। हम यहीं (जंतर-मंतर पर) मैट लगाकर अपनी प्रैक्टिस जारी रख सकते हैं। हमने अपने ईश्यू खेल मंत्री के सामने रखे थे। कुछ मुद्दे ऐसे थे जिन पर हम असंतुष्ट थे। उन्होंने हमें आज शाम को फिर बुलाया है।

हमारे साथ 5 से 6 लडकियां हैं, जिनके साथ शोषण हुआ है। हमने जो इल्जाम लगाए हैं, वे सच हैं। हम झूठ नहीं बोल रहे हैं। अगर सुनवाई नहीं हुई तो हम केस करके आगे बढ़ेंगे। हमें अब तक सुना गया है, लेकिन संतुष्ट जवाब नहीं मिला है।

धरने के तीसरे दिन विनेश फोगाट ने जंतर मंतर पर प्रेस कॉन्फ्रेंस की।
धरने के तीसरे दिन विनेश फोगाट ने जंतर मंतर पर प्रेस कॉन्फ्रेंस की।

विनेश ने कहा- हम आत्मसम्मान की रक्षा के लिए यहां आए हैं। ये कुश्ती का दुर्भाग्य होगा की लड़कियों के साथ इतना शोषण हुआ है। फेडरेशन में उन्हीं (बृजभूषण) के लोग भरे पड़े हैं। हमें देश के PM पर भरोसा है। मैं PM सर से रिक्वेस्ट कर रही हूं की आप हमारे साथ न्याय करें।

3 दिन से बृजभूषण शरण के इस्तीफे की मांग कर रहे महिला और पुरुष पहलवानों ने भारतीय ओलिंपिक संघ में यौन शोषण की शिकायत की है। खेल मंत्रालय ने लगातार दूसरे दिन शुक्रवार को भी इन पहलवानों से बातचीत की। गुरुवार को खेल मंत्री अनुराग ठाकुर की पहलवानों के साथ 4 घंटे बैठक चली थी। अनुराग ठाकुर अभी बृजभूषण के जवाब का इंतजार कर रहे हैं।

इस बीच, WFI ने कहा कि सीनियर नेशनल ओपन टूर्नामेंट अपने तय समय 21 से 23 जनवरी के बीच गोंडा में होगा और सभी पहलवान इसमें पहुंचें।

बृजभूषण को खेल मंत्रालय हटा नहीं सकता
युवा कार्य और खेल मंत्रालय ने WFI को नोटिस देकर 72 घंटे में जवाब मांगा था, जिसकी मियाद खत्म होने वाली है। सूत्रों की मानें तो जल्द ही फेडरेशन अपनी रिपोर्ट मंत्रालय को सौंप सकता है। इधर, सूत्रों ने बताया कि पहलवान भले ही यौन उत्पीड़न के मामले में सबूत का दावा कर रहे हैं, लेकिन अब तक कुछ दिया नहीं है।

इंडियन ओलिंपिक संघ के पास फेडरेशन भंग करने का अधिकार
इंडियन ओलिंपिक संघ (IOA) के पास नेशनल फेडरेशन को भंग करने का अधिकार है। 2008 और 2009 में ऐसा किया जा चुका है। IOA ने 2008 में हॉकी फेडरेशन को भंग कर दिया था। उस समय फेडरेशन के सेक्रेटरी के ज्योति कुमारन पर एक स्टिंग ऑपरेशन में खिलाड़ी से पैसे लेने का मामला सामने आया था।

तब हॉकी फेडरेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष केपीएस गिल थे। उस समय अस्थायी समिति की कमान पूर्व हॉकी खिलाड़ी असलम शेख खान को सौंपी गई थी। इस समिति में पूर्व हॉकी खिलाड़ी अजितपाल सिंह, जफर इकबाल, धनराज पिल्लै और आशोक कुमार इसके सदस्य थे।

2009 में वेटलिफ्टिंग फेडरेशन को भी IOA ने भंग कर दिया था। उस समय वेटलिफ्टिंग में डोप के कई मामले आ रहे थे। उस समय अध्यक्ष हरभजन सिंह थे।

मार्च तक खत्म हो रहा कार्यकाल
मंत्रालय की ओर से कुश्ती संघ के अध्यक्ष पर कार्रवाई के चांसेज कम हैं। सूत्रों ने बताया- WFI अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह खुद रिजाइन करते हैं तो ठीक, वर्ना मिनिस्ट्री उन्हें हटा नहीं सकती। WFI अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह का कार्यकाल मार्च तक खत्म हो रहा है। कुश्ती संघ के नियमों के अनुसार वे अब आगे चुनाव नहीं लड़ सकते हैं।

आज के बड़े अपडेट्स...

  • WFI ने रेसलिंग का सीनियर नेशनल टूर्नामेंट 21 से कराने का फैसला किया है। यह गोंडा में हो रहा है। फेडरशन का कहना है कि इसमें सभी रेसलर्स पहुंचें।
  • रिपोर्ट्स के मुताबिक, बृजभूषण ने यौन शोषण के आरोपों को लेकर गृह मंत्री अमित शाह से फोन पर बात की है। हालांकि खुद बृजभूषण ने ऐसी किसी बातचीत से इनकार कर दिया है।
  • सूत्रों के मुताबिक खेल मंत्रालय ने आरोपों की जांच और मांगों पर विचार के लिए कमेटी बनाने का सुझाव दिया है। ऐसा कहा जा रहा है कि इस पर पहलवान राजी नहीं हैं।
  • बॉक्सर विजेंदर सिंह भी शुक्रवार सुबह जंतर-मंतर पहुंचे। उन्होंने कहा कि मैं यहां पहलवानों से मिलने आया हूं।

फेडरेशन को 72 घंटे का अल्टीमेटम
इससे पहले गुरुवार को खेल मंत्रालय ने पीड़ित खिलाड़ियों को बुलाकर करीब एक घंटे तक बातचीत की थी। बातचीत से पहलवान संतुष्ट नहीं हुए। उनकी मांग पहले WFI अध्यक्ष को हटाने की थी, अब वे कुश्ती संघ को भंग कराना चाहते हैं।

उन्होंने कहा- मांग पूरी होने तक उनका धरना-प्रदर्शन जारी रहेगा। खेल मंत्रालय ने कुश्ती संघ को नोटिस भेजकर जवाब के लिए 72 घंटे का अल्टीमेटम दिया है। इसकी मियाद शनिवार रात यानी 21 जनवरी को खत्म होगी।
बृजभूषण सिंह ने कहा- मैं इस्तीफा नहीं दूंगा
WFI के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ने कहा- 'मैं इस्तीफा नहीं दूंगा। मेरे खिलाफ कांग्रेस नेता दीपेंद्र हुड्‌डा के इशारे पर राजनीति हो रही है। जो आरोप लगा रहे हैं, उनका करियर खत्म हो गया है। ज्यादातर पहलवान एक ही कम्युनिटी से हैं। पार्टी का जो आदेश मिलेगा, उसी को मानूंगा।'

गोंडा में बृजभूषण के घर की सुरक्षा बढ़ी, मीडिया का जमावड़ा
बृजभूषण सिंह देर रात दिल्ली से UP के गोंडा पहुंचे। घर के बाहर बड़ी संख्या में मीडिया का जमावड़ा लगा हुआ है। वहीं समर्थकों की भी भीड़ है। जहां 'बृजभूषण तुम संघर्ष करो' जैसे नारे लग रहे हैं। उनके घर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। पूरी खबर यहां पढ़ें...

ये फोटो गुरुवार की है। खेल मंत्रालय के अधिकारियों के साथ बैठक करने के बाद पहलवानों ने पहले अपने साथियों से बात की, उसके बाद मीडिया के सामने अपनी बात रखी।
ये फोटो गुरुवार की है। खेल मंत्रालय के अधिकारियों के साथ बैठक करने के बाद पहलवानों ने पहले अपने साथियों से बात की, उसके बाद मीडिया के सामने अपनी बात रखी।

पढ़ें पहलवानों ने क्या कहा...

विनेश फोगाट: हम अध्यक्ष का इस्तीफा भी चाहते हैं और अध्यक्ष को जेल भी भिजवाएंगे। हमारे साथ बहुत गलत हुआ है। हम बिना सबूत यहां नहीं बैठे हैं। अध्यक्ष दो मिनट मेरे सामने आंखों में आंखें में डाल कर बोल दें कि गलत नहीं किया है। हमारी लड़ाई लड़कियों को शोषण से बचाना है।

बजरंग पूनिया: हमारे साथ हिंदुस्तान के सारे रेसलर हैं। अध्यक्ष ने कहा था सबूत दो तो फांसी पर लटक जाऊंगा। पहले हमारे साथ दो लड़कियां थीं, अब हमारे साथ विद प्रूफ 6-7 लड़कियां हैं, जिनका अध्यक्ष ने शोषण किया है। हम पीछे नहीं हटेंगे। हम सिर्फ इस्तीफे से संतुष्ट नहीं होंगे। हम फेडरेशन को भंग कराना चाहते हैं।

साक्षी मलिक: बैठक में हमें सिर्फ आश्वासन दिया गया है। हम आश्वासन से संतुष्ट नहीं है। हमें ठोस कार्रवाई चाहिए।

जानिए WFI अध्यक्ष पर लगे आरोप और मामले को?

  • WFI अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह और कुछ कोच पर ओलिंपिक विजेता खिलाड़ियों ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। दिल्ली के जंतर-मंतर पर 200 से ज्यादा खिलाड़ी बुधवार यानी 18 जनवरी से धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं।
  • धरने पर बैठीं एक महिला पहलवान का आरोप है कि राष्ट्रीय प्रतियोगिता में आगे बढ़ने के लिए एक कोच ने उन्हें ‘साथ’ देने का दबाव डाला था। महिला पहलवान ने कहा वह पुलिस काे बयान देने को तैयार हैं।
  • पहलवान अंशु मलिक ने आरोप लगाया है कि संघ के अध्यक्ष सिंह नियम विरुद्ध होटल में महिला पहलवानों के सामने वाले कमरे में रहते थे। सिंह हमेशा अपने कमरे का दरवाजा खुला रखते थे। हम सभी डर के साए में टूर्नामेंट खेलती थीं।

आगे क्या हो सकता है: 22 जनवरी को कुश्ती महासंघ की बैठक, पद छोड़ सकते हैं सिंह
न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक कुश्ती महासंघ की एग्जीक्यूटिव कमेटी की सालाना बैठक (AGM) 22 जनवरी को अयोध्या में होने वाली है। संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह भी इस बैठक में शामिल होंगे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सिंह इस बैठक में अपने इस्तीफे की घोषणा कर सकते हैं।

ये खबर भी पढ़ें...

हरियाणा में महिला कोच के सनसनीखेज आरोप:बोलीं- 'सीनियर अफसर ने मेरे कलर्ड बाल देखकर कहा कि इसका तो रेप होना चाहिए, मंत्री की क्या गलती'

हरियाणा सरकार के मंत्री और BJP नेता संदीप सिंह पर सेक्सुअल हैरेसमेंट के आरोप लगाने वाली जूनियर महिला कोच ने अब खेल विभाग की सीनियर महिला अधिकारी पर भी गंभीर आरोप लगाए हैं। महिला कोच के अनुसार, 'सीनियर महिला अधिकारी ने मुझसे कहा कि मैंने बालों में कलर करवा रखा है, ऐसी लड़कियों के तो रेप होने चाहिए।' पूरी खबर पढ़ें

बृजभूषण की प्रेस कॉन्फ्रेंस कैंसिल:5 बार बदला टाइम; बेटे प्रतीक बोले-22 जनवरी की बैठक के बाद फैसला लेंगे; जवाब दिल्ली भेज दिया

भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) के अध्यक्ष और भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह की प्रेस कॉन्फ्रेंस रद्द हो गई है। उनकी जगह पर बेटे प्रतीक भूषण सिंह ने मीडिया से बातचीत की। उन्होंने कहा कि 22 जनवरी को कुश्ती संघ की एनुअल मीटिंग के बाद सांसद जी अपना फैसला लेंगे।

उन्होंने बताया कि रेसलिंग फेडरेशन ने खेल मंत्रालय को अपना जवाब भेज दिया है। जो 72 घंटे का मौके मिला था। उसके अंदर ही जवाब भेजा गया है। 22 जनवरी के बाद हम प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे। तब सभी सवालों के जवाब देंगे। इससे पहले ​​​​​गुरुवार देर रात बृजभूषण ​​​​​​दिल्ली से गोंडा पहुंच गए थे। पूरी खबर पढ़ें

WFI अध्यक्ष ने पहलवान को मंच पर मारे थप्पड़:बाहर होने पर बृजभूषण शरण सिंह से सिफारिश लगाने गया था

कैसरगंज से भाजपा सासंद और भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ने रांची में मंच पर एक युवा पहलवान को थप्पड़ जड़ दिया। उनकी इस हरकत का वीडियो सामने आया है। बृजभूषण शरण सिंह ने जिस पहलवान को थप्पड़ जड़ा है, वह UP का रहने वाला है और अंडर-15 नेशनल कुश्ती चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने रांची गया था। पूरी खबर पढ़ने और वीडियो देखने के लिए क्लिक करें

दिव्या काकरान ने किया बृजभूषण का समर्थन

मुजफ्फरनगर के गांव पुरबालियान निवासी अर्जुन अवॉर्डी पहलवान दिव्या काकरान भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण के पक्ष में उतर आई हैं। उन्होंने एक वीडियो बयान जारी करते हुए कहा कि वह 10 साल से खेल रही है। आज तक उन्होंने किसी का अहित होते नहीं देखा। दिव्या काकरान ने कहा कि भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण पर जो आरोप लगाए जा रहे हैं वह बेबुनियाद है। पढ़ें पूरी खबर...

खबरें और भी हैं...