• Hindi News
  • National
  • 5G Spectrum Auction Approved By Narendra Modi Cabinet | Internet Network 5G Generation

10 सेकेंड में डाउनलोड होगी 2GB की मूवी:5G सर्विस अगले साल तक, यह मौजूदा 4G से 10 गुना तेज; स्पैक्ट्रम नीलामी कैबिनेट से मंजूर

नई दिल्ली3 महीने पहले

केंद्रीय कैबिनेट ने देश में 5G स्पैक्ट्रम की नीलामी को मंजूरी दे दी है। दूरसंचार मंत्रालय के प्रस्ताव के मुताबिक स्पैक्ट्रम को अगले 20 साल के लिए नीलाम किया जाएगा। नीलामी में सफल रहने वाली कंपनी इसके जरिए 5G सर्विस मुहैया करा सकेगी। यह मौजूदा 4G सर्विस से 10 गुना ज्यादा तेज होगी।

हालांकि, अभी देश में 5G सर्विस शुरू करने की तारीख तय नहीं की गई है, लेकिन सरकार के मेंडेट के हिसाब से जो भी कंपनी स्पैक्ट्रम खरीदती है उसको 6 महीने से 1 साल के अंदर सर्विस शुरू करनी ही होगी। कई टेलीकॉम ऑपरेटर अपनी तैयारी पूरी कर चुके हैं, ऐसे में वह स्पैक्ट्रम खरीदने के 3 से 6 महीने के अंदर सर्विस शुरू कर सकते है।

जुलाई 2022 के आखिर तक नीलामी
20 साल वैलिडिटी पीरियड के साथ कुल 72097.85 मेगाहर्ट्ज (MHz) स्पैक्ट्रम की नीलामी जुलाई 2022 के आखिर तक की जाएगी। स्पैक्ट्रम की नीलामी लो (600 MHz, 700 MHz, 800 MHz), मिड (3300 MHz) और हाई (26 GHz) फ्रीक्वेंसी बैंड के लिए होगी। टेलिकॉम ऑपरेटर मिड और हाई फ्रीक्वेंसी बैंड स्पेक्ट्रम का इस्तेमाल 5G टेक्नोलॉजी बेस्ड सर्विसेज के रोल-आउट के लिए करेंगे।

20 Gbps तक डेटा डाउनलोड की स्पीड मिल सकती है
5G नेटवर्क में 20 Gbps तक डेटा डाउनलोड की स्पीड मिल सकती है। भारत में 5जी नेटवर्क की टेस्टिंग के दौरान डेटा डाउनलोड की अधिकतम स्पीड 3.7 Gbps तक पहुंच गई है। तीन कंपनियों एयरटेल, वोडाफोन आइडिया और जियो ने 5G नेटवर्क ट्रायल में 3 Gbps तक के डेटा डाउनलोड पर स्पीड टेस्ट किया है।

5G इंटरनेट से जुड़ी ये खबर भी पढ़िए...

5G के शुरू होने से आम लोगों को क्या फायदा होने वाला है?
5G इंटरनेट सेवा के शुरू होने से भारत में काफी कुछ बदलने वाला है। इससे न सिर्फ लोगों का काम आसान होगा, बल्कि मनोरंजन और संचार के क्षेत्र में भी काफी कुछ बदल जाएगा। 5G के लिए काम कर रही कंपनी एरिक्सन का मानना है कि 5 साल में भारत में 50 करोड़ से ज्यादा 5G इंटरनेट यूजर की संख्या होने वाली है। जानिए 5G के शुरू होने से लोगों को क्या फायदे होने वाले हैं।

  • पहला फायदा तो ये होगा कि यूजर तेज स्पीड इंटरनेट इस्तेमाल कर सकेंगे।
  • वीडियो गेमिंग के क्षेत्र में 5G के आने से बड़ा बदलाव होगा।
  • यूट्यूब पर वीडियो बिना बफरिंग या बिना रुके चलेगा।
  • वॉट्सऐप कॉल में आवाज बिना रुके और साफ-साफ आएगी।
  • 2 GB की मूवी करीब 10 से 20 सेकेंड में डाउनलोड हो जाएगी।
  • कृषि क्षेत्र में खेतों की देखरेख में ड्रोन यूज संभव होगा।
  • मेट्रो और बिना ड्राइवर चलने वाली गाड़ियों को ऑपरेट करना आसान होगा।
  • वर्चुअल रियलिटी और फैक्ट्री में रोबोट यूज करना ज्यादा आसान होगा।
  • यही नहीं 5G आने से इंटरनेट ऑफ थिंग्स के जरिए ज्यादा से ज्यादा कंप्यूटर सिस्टम को कनेक्ट करना आसान होगा।

देश के किन शहरों में सबसे पहले लॉन्च हो सकता है 5G इंटरनेट?
भारत में 5G इंटरनेट सेवा शुरू करने के लिए तीन बड़ी प्राइवेट टेलिकॉम कंपनी भारती एयरटेल, रिलायंस जियो और वोडाफोन-आइडिया काम कर रही हैं। इन तीनों कंपनियों ने मोबाइल एसेसरीज बनाने वाली कंपनियों एरिक्सन और नोकिया के साथ मिलकर काम शुरू किया है।

5G इंटरनेट सेवा क्या है?
इंटरनेट नेटवर्क के पांचवे जनरेशन को 5G कहते हैं। यह एक वायरलेस ब्रॉडबैंड इंटरनेट सेवा है, जो तरंगों के जरिए हाई स्पीड इंटरनेट सेवा उप्लब्ध कराती है। इसमें मुख्य तौर पर तीन तरह के फ्रीक्वेंसी बैंड होते हैं।

1. लो फ्रीक्वेंसी बैंड- एरिया कवरेज में सबसे बेहतर, इंटरनेट स्पीड 100 Mbps, इंटरनेट स्पीड कम

2. मिड फ्रीक्वेंसी बैंड- इंटरनेट स्पीड लो बैंड से ज्यादा 1.5 Gbps, एरिया कवरेज लो फ्रीक्वेंसी बैंड से कम, सिग्नल के मामले में अच्छा

3. हाई फ्रीक्वेंसी बैंड- इंटरनेट स्पीड सबसे ज्यादा 20 Gbps, एरिया कवर सबसे कम, सिग्नल के मामले में भी अच्छा

खबरें और भी हैं...