• Hindi News
  • National
  • Car Door Cause। Injury। Mamata Banerjee’s Leg। Bengal Chief Secretary। Report To EC

ममता बनर्जी पर हमले का मामला:स्पेशल ऑब्जर्वर्स ने चुनाव आयोग को सौंपी रिपोर्ट, कहा- CM पर हमले के कोई सबूत नहीं मिले, EC कल जारी कर सकता है बयान

एक वर्ष पहले
  • सुबह चीफ सेक्रेटरी ने अपनी रिपोर्ट में कहा था, कार के दरवाजे से लगी थी ममता बनर्जी को चोट, आयोग ने इनसे दोबारा विस्तृत रिपोर्ट मांगी है

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और TMC प्रमुख ममता बनर्जी पर नंदीग्राम में कथित हमले को लेकर पिछले 12 घंटे में दो रिपोर्ट आ गई है। पहली रिपोर्ट सुबह बंगाल के चीफ सेक्रेट्री ने दी थी, जिसमें ममता को लगी चोट का कारण कार का दरवाजा बताया गया था।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, देर शाम स्पेशल ऑब्जर्वर विवेक दुबे और अजय नायक ने भी अपनी जांच रिपोर्ट चुनाव आयोग (EC) को दी है। इसमें बताया गया है कि नंदीग्राम में ममता बनर्जी के साथ हुई घटना एक हादसा था। उनके काफिले पर किसी भी तरह के हमले के कोई सबूत नहीं मिले। ममता के साथ उस दिन पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था थी।

सूत्रों के मुताबिक, बंगाल के मुख्य सचिव और चुनाव आयोग द्वारा नियुक्त दो विशेष ऑब्जर्वर की रिपोर्ट पर इलेक्शन कमीशन रविवार को बयान जारी कर सकता है। अभी आयोग को बंगाल के मुख्य सचिव के विस्तृत रिपोर्ट का इंतजार है।

इससे पहले ममता बनर्जी के ऊपर हमले को लेकर पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव अलापन बंदोपाध्याय की रिपोर्ट पर नाराजगी जताते हुए चुनाव आयोग ने उनसे विस्तृत रिपोर्ट देने को कहा है। मुख्य सचिव की रिपोर्ट में कहा गया है कि ममता के पैर में चोट उनकी कार के दरवाजे से लगी थी। हालांकि उन्होंने अपनी रिपोर्ट में यह स्पष्ट नहीं किया कि ममता को कार के दरवाजे से चोट आखिर कैसे लगी। इसके बाद चुनाव आयोग ने उन्हें दोबारा विस्तृत रिपोर्ट देने को कहा।

रिपोर्ट में हमले का जिक्र नहीं
राज्य के सीईओ ऑफिस के एक अधिकारी ने बताया कि घटना वाली जगह पर काफी भीड़ थी। रिपोर्ट में लिखा है कि मौके की क्लियर फुटेज नहीं हैं। घटना के बाद ममता ने आरोप लगाया था कि 4-5 लोगों ने उन्हें धक्का दिया था। जिला प्रशासन के एक सीनियर अफसर ने बताया कि उस इलाके में सिर्फ एक दुकान पर CCTV कैमरा लगा था। वह भी काम नहीं कर रहा था। यहां तक कि मौके पर मौजूद लोग भी कुछ खास जानकारी नहीं दे पाए। इससे किसी निष्कर्ष पर पहुंचना संभव नहीं है।

चुनाव आयोग ने मुख्य सचिव और दो ऑब्जर्वर को शनिवार शाम तक विस्तृत रिपोर्ट देने को कहा था। उधर, तृणमूल कांग्रेस के नेता रिपोर्ट गलत होने का आरोप लगा रहे हैं। उनका कहना है कि कुछ लोगों ने ममता को घायल करने के इरादे से उन पर हमला किया था। ममता बुधवार को नंदीग्राम में कथित हमले में घायल हो गई थीं।

7 दिन बाद ममता का फिर चेकअप होगा
ममता को शुक्रवार शाम कोलकाता के SSKM अस्पताल से छुट्‌टी मिल मिल गई थी। वे व्हीलचेयर पर बाहर निकलीं। डॉक्टरों के मुताबिक ममता की हालत में सुधार है। अस्पताल के डॉक्टर उन्हें 48 घंटे ऑब्जर्वेशन में रखना चाहते थे, लेकिन ममता के कहने पर उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया। डॉक्टरों ने उन्हें कुछ जरूरी सलाह दी है और 7 दिन बाद दोबारा चेकअप कराने को कहा है।

अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद ममता के भतीजे और तृणमूल सांसद अभिषेक बनर्जी उन्हें कार से घर ले गए। ममता ने कहा कि हमले और चोट लगने के बाद भी वे रुकेंगी नहीं, बल्कि व्हील चेयर से ही चुनाव प्रचार करेंगी।

चुनाव आयोग के अधिकारियों से मिले थे TMC नेता
TMC नेता सौगत रॉय ने पार्टी नेताओं के साथ चुनाव आयोग के अधिकारियों से मुलाकात कर शिकायत की थी। उन्होंने कहा कि हमने हमले की उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग की है। जब घटना हुई, वहां कोई पुलिसकर्मी मौजूद नहीं था। सौगत ने आरोप लगाया कि ममता पर हमला उन्हें जान से मारने के लिए करवाया गया था। हमले के पीछे किसी की गहरी साजिश छिपी हुई है।

रॉय ने कहा, 'अब जांच की जिम्मेदारी आयोग पर है। हमने आयोग से किसी तरह की विशेष जांच करने की मांग नहीं की है, लेकिन हम चाहते हैं कि जांच भेदभाव के बिना की जाए।' ममता बुधवार को नंदीग्राम में कथित हमले में घायल हो गई थीं। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। दो दिन बाद वे अस्पताल से व्हीलचेयर पर बैठकर बाहर निकलीं। दीदी ने अपने समर्थकों का हाथ जोड़कर अभिवादन भी किया।

खबरें और भी हैं...