पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • CBI Raids 30 Locations Across The Country; FIR On 17 Army Officers Of The Rank Of Lieutenant Colonel, Major And Naib Subedar

सेना भर्ती घोटाले में बड़ी कार्रवाई:CBI ने देशभर में 30 जगह की छापेमारी; लेफ्टिनेंट कर्नल, मेजर और नायब सूबेदार रैंक के 17 आर्मी ऑफिसरों पर FIR

नई दिल्ली4 महीने पहले
सेना के तीनों सर्विस में अफसर रैंक पर सिलेक्ट होने के लिए जो लोग आवेदन करते हैं उनकी परीक्षा सर्विस सिलेक्शन सेंटर्स पर SSB की तरफ से कराई जाती है।

सेना भर्ती घोटाले में सोमवार को बड़ी कार्रवाई हुई है। केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने देशभर में करीब 30 जगह छापेमारी की है। साथ ही मामले से जुड़े 17 आर्मी ऑफिसर्स के खिलाफ FIR भी दर्ज की है। इनमें लेफ्टिनेंट कर्नल, मेजर, नायब सूबेदार और सिपाही रैंक के आर्मी ऑफिसर शामिल हैं।

इन जगह पर हुई छापेमारी
CBI ने देशभर में 30 जगह पर सर्चिंग की है। इनमें बेस हॉस्पिटल, कैंटोनमेंट, सेना के अन्य प्रतिष्ठान शामिल हैं। जांच एजेंसी ने कपूरथला, भठिंडा, दिल्ली, कैथल, पलवल, लखनऊ, बरेली, गोरखपुर, विशाखापत्तनम, जयपुर, गुवाहाटी, जोरहाट और चिरांगोन में छापेमारी कर कई दस्तावेज बरामद किए हैं। CBI ने बेस अस्पताल दिल्ली छावनी में तैनात नायब सूबेदार कुलदीप सिंह, लेफ्टिनेंट कर्नल एमवीएसएनए भगवान, आर्मी एयर डिफेंस कॉर्प्स विशाखापट्टनम, मेजर भावेश कुमार, ग्रुप टेस्टिंग ऑफिसर, 31 SSB सिलेक्शन सेंटर नॉर्थ, कपूरथला के अलावा कई वरिष्ठ अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की है।

SSB के जरिए सिलेक्शन में धांधली का आरोप
सेना में सर्विस सिलेक्शन बोर्ड (SSB) के जरिए अधिकारियों और अन्य रैंक की भर्तियों में रिश्वत और अनियमितताओं के आरोप लगे थे। CBI ने उसी आधार पर यह कार्रवाई की है। सूत्रों के मुताबिक, इस घोटाले में सेना के परिवार के सदस्य और रिश्तेदार भी शामिल हैं। इसकी भी जांच जारी है। सेना के तीनों सर्विस में अफसर रैंक पर सिलेक्ट होने के लिए जो लोग आवेदन करते हैं उनकी परीक्षा सर्विस सिलेक्शन सेंटर्स पर SSB की तरफ से कराई जाती है।

सेना मुख्यालय में हुई थी शिकायत
कुछ लोगों ने भर्ती में जूनियर अधिकारियों के धांधली की शिकायत सेना मुख्यालय को की थी। इसके बाद मिलिट्री इंटेलिजेंस ने भी इससे इंकार नहीं किया। पंजाब के कपूरथला में सैन्य अफसरों की भर्ती में भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे। इस मामले में कई जांच एजेंसियों के शामिल होने के चलते सेना ने मामले की जांच CBI से कराने का फैसला किया था। इस छापेमारी को इसी से जोड़कर देखा जा रहा है।

खबरें और भी हैं...