नई दिल्ली / सीबीएसई की पहल, अगले सत्र से 10वीं के छात्र स्टैंडर्ड या बेसिक गणित में विकल्प चुन सकेंगे



CBSE students will be able to opt for Standard or Basic Mathematics
X
CBSE students will be able to opt for Standard or Basic Mathematics

  • स्टैंडर्ड गणित का सिलेबस मौजूदा स्तर का
  • स्टैंडर्ड मैथ्स के मुकाबले बेसिक मैथ्स आसान होगा
  • गणित का डर कम करने के लिए लिया गया फैसला

Dainik Bhaskar

Jan 12, 2019, 01:24 AM IST

नई दिल्ली. सीबीएसई 10वीं के छात्रों में गणित की परीक्षा का डर कम करने के लिए अहम बदलाव करने जा रहा है। सीबीएसई सत्र 2019-20 से 10वीं की गणित की परीक्षाएं दो स्तरों पर कराएगा। सीबीएसई के सर्कुलर के मुताबिक ये दो स्तर मैथमेटिक्स स्टैंडर्ड और मैथमेटिक्स बेसिक होंगे। स्टैंडर्ड का सिलेबस मौजूदा स्तर का ही होगा, जबकि बेसिक को आसान बनाया जाएगा।

परीक्षा फॉर्म भरते वक्त चुन सकते हैं विकल्प

  1. स्टैंडर्ड लेवल उन छात्रों को ध्यान में रखकर बनाया गया है, जो आगे की पढ़ाई गणित के साथ करना चाहते हैं। वहीं, बेसिक लेवल उनके लिए होगा, जो गणित में उच्च शिक्षा हासिल नहीं करना चाहते। छात्र परीक्षा फॉर्म भरते वक्त स्टैंडर्ड या बेसिक मैथ्स में एक का विकल्प चुन सकते हैं।

  2. अगर छात्र गणित में फेल हो जाता है तो कंपार्टमेंट परीक्षा में परीक्षा का स्तर बदल सकता है। अगर छात्र ने मैथमेटिक्स बेसिक को चुना है और वह यह एग्जाम पास कर लेता है, तो वह अपना स्तर सुधारने के लिए कंपार्टमेंट एग्जाम में मैथमेटिक्स स्टैंडर्ड की परीक्षा दोबारा दे सकता है। 

  3. 10वीं गणित परीक्षा के स्टैंडर्ड लेवल और बेसिक लेवल में क्या अंतर है?

    मौजूदा गणित परीक्षा स्टैंडर्ड लेवल पर होती है। 2020 की परीक्षा में स्टैंडर्ड लेवल और बेसिक लेवल के प्रश्न पत्र एक ही सिलेबस से लिए जाएंगे। पहला पेपर तो स्टैंडर्ड लेवल का रहेगा, जो अभी है। बेसिक लेवल का प्रश्न पत्र थोड़ा आसान होगा।

  4. क्या दो स्तर करने से छात्रों का बोझ और बढ़ जाएगा?

    बिल्कुल नहीं। छात्रों को इसमें ऑप्शन चुनने का अवसर मिलेगा कि वह कौन से लेवल की गणित की परीक्षा देना चाहता है। हालांकि सिलेबस एक ही रहेगा।
     

  5. क्या इससे गणित का सिलेबस या पढ़ाई और कमजोर नहीं हो जाएगी?

    नहीं। उद्देश्य यह है कि छात्रों का सही मूल्यांकन हो और तनाव कम हो। खासकर उन छात्रों का इससे तनाव कम होगा जो 10वीं के बाद गणित नहीं लेना चाहते।
     

  6. क्या छात्रों को स्टैंडर्ड और बेसिक दोनों ऑप्शन लेने का मौका मिलेगा?

    नहीं। छात्र केवल एक ही ऑप्शन ले सकेंगे। स्टैंडर्ड या बेसिक लेवल में से एक।
     

  7. 10वीं,12वीं या आगे गणित की पढ़ाई करने वाले छात्रों को कौन से लेवल की परीक्षा पास करनी होगी?

    गणित की सीनियर सेेकंड्री लेवल पर आगे पढ़ाई करने वाले 10वीं के छात्रों के लिए स्टैंडर्ड लेवल से परीक्षा पास करनी होगी।
     

  8. क्या इसके सैंपल पेपर मिलेंगे?

    सैंपल पेपर सीबीएसई की वेबसाइट पर उपलब्ध करा दिए जाएंगे।

COMMENT