• Hindi News
  • National
  • Gold Hallmarks: Central Government is Preparing to Make Hallmarking Mandatory for Gold Jewellery

नियम / सोने के गहनों की हॉलमार्किंग जल्द अनिवार्य हो सकती है, अभी सिर्फ 40% ज्वेलरी की हो रही



सिंबॉलिक इमेज। सिंबॉलिक इमेज।
X
सिंबॉलिक इमेज।सिंबॉलिक इमेज।

  • सरकार वर्ल्ड ट्रेड ऑर्गेनाइजेशन में अगले हफ्ते नियम नोटिफाई कर सकती है
  • हॉलमार्किंग सोने की शुद्धता का पैमाना, देश में 800 हॉलमार्किंग सेंटर

Dainik Bhaskar

Aug 21, 2019, 02:11 PM IST

कोलकाता. सरकार ने सोने के गहनों की हॉलमार्किंग अनिवार्य करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। अगले हफ्ते वर्ल्ड ट्रेड ऑर्गेनाइजेशन (डब्ल्यूटीओ) में नियम नोटिफाई किया जा सकता है। ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड (बीआईएस) की महानिदेशक (डीजी) सुरीना राजन ने न्यूज एजेंसी को सोमवार को यह जानकारी दी। देश में इस वक्त 800 हॉलमार्किंग सेंटर हैं। सिर्फ 40% ज्वेलरी की हॉलमार्किंग होती है।

हॉलमार्किंग के लिए डिजिटाइजेशन प्रोग्राम बना रहे: राजन

  1. सुरीना राजन ने बताया कि डब्ल्यूटीओ के एग्रीमेंट में शामिल होने के नाते किसी भी नियम को अनिवार्य करने से पहले सूचना देनी होती है। हालांकि, उन्होंने सर्राफा कारोबारियों को भरोसा दिया कि सभी पक्षों की सलाह-मशविरा से ही प्रक्रिया आगे बढ़ाई जाएगी।

  2. राजन ने कहा कि हॉलमार्किंग को अनिवार्य बनाने में डिजिटाइजेशन अहम होगा। डिजिटेशन प्रोग्राम के लिए हम आईआईटी मुंबई के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। इसका सिस्टम तैयार होने में करीब एक साल लगेगा। इसके जरिए सभी हॉलमार्किंग सेंटर बीआईएस से जुड़ जाएंगे। पुख्ता सिस्टम तैयार होने के बाद हॉलमार्किंग कोड जारी किया जाएगा।

  3. सोने की शुद्धता से जुड़ी 4 बातें

     

    1. बीआईएस मार्का
    ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड्स (बीआईएस) द्वारा हॉलमार्क गोल्ड ज्वेलरी पर यह निशान होता है। इससे यह पता चलता है कि लाइसेंसधारक लैब में सोने की शुद्धता की जांच की गई है। बीआईएस की वेबसाइट के मुताबिक यह देश में एकमात्र एजेंसी है जिसे सोने के गहनों की हॉलमार्किंग के लिए सरकार से मंजूरी प्राप्त है। कई ज्वेलर बीआईएस की सेवा लेने की बजाय खुद हॉलमार्किंग करते हैं इसलिए खरीदारी से पहले यह जान लेना चाहिए कि ज्वेलरी बीआईएस हॉलमार्किंग है या नहीं। 

     

    2. कैरेट में शुद्धता 
    यह सोने की शुद्धता बताने का पैमाना है। 24 कैरेट वाला सोना सबसे शुद्ध होता है। लेकिन यह बहुत नरम होने की वजह से ज्वेलरी बनाते समय कुछ मात्रा में चांदी और जिंक जैसी दूसरी धातुएं भी मिलाई जाती हैं। बीआईएस के मुताबिक फिलहाल 3 स्तरों 22 कैरेट, 18 कैरेट और 14 कैरेट के लिए हॉलमार्किंग की जाती है।

     

    3. हॉलमार्किंग प्रमाणित है या नहीं ?
    जिस लैब में ज्वेलरी की जांच की जाती है वह अपना लोगो डालती है। बीआईएस की वेबसाइट ये यह पता कर सकते हैं कि लैब के पास बीआईएस का लाइसेंस है या नहीं। 

     

    4. ज्वेलर की पहचान का निशान
    ज्वेलरी पर विक्रेता की पहचान भी अंकित होती है। यह बीआईएस से सर्टिफाइड ज्वेलर या ज्वेलरी बनाने वाले का हो सकता है। बीआईएस की वेबसाइट पर सर्टिफाइड ज्वेलर्स की लिस्ट मौजूद है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना