• Hindi News
  • National
  • Chardham Yatra Enthusiasm At Peak, Advance Booking Of 3 Crore In Government Guest Houses, 8762 Tickets In 5 Days Of Kedarnath Helicopter Service

कोरोना के बाद आस्था का बूस्टर डोज:चारधाम यात्रा का उत्साह चरम पर, सरकारी गेस्ट हाउसों में ही 3 करोड़ की एडवांस बुकिंग, केदारनाथ हेलीकॉप्टर सेवा के 5 दिन में 8762 टिकट

देहरादूनएक वर्ष पहलेलेखक: मनमीत
  • कॉपी लिंक
अगले महीने से शुरू होनी है चारधाम यात्रा, पिछले साल कोरोना संकट के चलते हो गई थी रद्द। (सिंबॉलिक फोटो) - Dainik Bhaskar
अगले महीने से शुरू होनी है चारधाम यात्रा, पिछले साल कोरोना संकट के चलते हो गई थी रद्द। (सिंबॉलिक फोटो)

उत्तराखंड में अगले महीने से शुरू होने वाली चारधाम यात्रा को लेकर उत्साह अभी से दिखने लगा है। पिछले साल कोरोना संकट के चलते यात्रा रद्द हो गई थी। इस बार कोरोना प्रोटोकॉल तो सख्त हैं, इसके बावजूद एडवांस बुकिंग जबरदस्त हो रही है। चार धामों के कपाट 17 मई से खुलने शुरू होंगे और गढ़वाल मंडल विकास निगम को फिलहाल तीन करोड़ रुपए तक की एडवांस बुकिंग मिल चुकी हैं। वहीं, पांच दिन में केदारनाथ हेली सेवा के लिए 8762 टिकटों की ऑनलाइन बुकिंग की गई है।

पर्यटन महाप्रबंधक जितेंद्र कुमार ने बताया कि 2019 में धार्मिक यात्रियों की बुकिंग से गढ़वाल मंडल विकास निगम को 10 करोड़ से ज्यादा आय हुई थी। हालांकि, अगले ही साल यह कमाई शून्य हो गई। अब एडवांस बुकिंग को देखते हुए उम्मीद है कि यह साल पर्यटन के लिए अच्छा होगा। हर साल उत्तराखंड में तकरीबन 4 करोड़ पर्यटक आते हैं, जिनमें 60 लाख धार्मिक यात्री होते हैं।

पर्यटन मंत्री ने कहा- सभी जरूरी व्यवस्थाएं पूरी की जा रही हैं
पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज का कहना है कि चार धाम यात्रा को देखते हुए सभी जरूरी व्यवस्थाएं पूरी की जा रही हैं। सतपाल का कहना है कि प्रत्येक स्थानों पर वहां की क्षमता के अनुसार ही लोगों को रुकने की व्यवस्था की जा रही है। इसके साथ ही कोरोनावायरस को देखते हुए हर संभव एहतियात बरतने के निर्देश दिए जा रहे हैं।
पिछले साल चारधाम यात्रा शुरू होने से ठीक पहले कोरोना की दस्तक से पर्यटन उद्योग को बड़ा झटका लगा था। कोरोना महामारी के भय के चलते चारधाम यात्रा के कपाट खुलने के बावजूद भी यात्रा का संचालन नहीं हो पाया था। इससे लगभग 2.50 लाख लोगों के सामने रोजगार का संकट खड़ा हो गया था।

यात्रियों को कोविड की जांच के बाद ही राज्य में प्रवेश मिलेगा
चारधाम यात्रा में बाहरी राज्यों से आने वाले यात्रियों को कोविड निगेटिव जांच रिपोर्ट या वैक्सीनेशन प्रमाण पत्र साथ लाना होगा। बीते साल भी सीमित संख्या और कोविड निगेटिव रिपोर्ट के आधार पर ही चारधाम यात्रा में आने की अनुमति दी गई थी।

कब खुलेंगे चारधाम के कपाट

  • गंगोत्री 14 मई
  • यमुनोत्री 14 मई
  • केदारनाथ 17 मई
  • बद्रीनाथ 18 मई
खबरें और भी हैं...