• Hindi News
  • National
  • Chidambaram and Prakash Karat attacks BJP over CAA NRC and NPR asks to protest

सीएए-एनआरसी / चिदंबरम ने कहा- भाजपा देश को हिंदू राष्ट्र बनाना चाहती है; प्रकाश करात बोले- 10 और राज्य प्रदर्शन में शामिल हों

वाम दलों के कार्यक्रम में पी चिदंबरम और प्रकाश करात। वाम दलों के कार्यक्रम में पी चिदंबरम और प्रकाश करात।
X
वाम दलों के कार्यक्रम में पी चिदंबरम और प्रकाश करात।वाम दलों के कार्यक्रम में पी चिदंबरम और प्रकाश करात।

  • लेफ्ट पार्टियों द्वारा आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे थे कांग्रेस नेता पी चिदंबरम और द्रमुक नेता कनिमोझी
  • चिदंबरम ने कहा- अगर देश हिंदू राष्ट्र बना, तो इससे सिर्फ मुस्लिमों को ही नहीं दलितों को भी परेशानी होगी

दैनिक भास्कर

Dec 27, 2019, 10:50 AM IST

चेन्नई. कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने कहा है कि भाजपा नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन (एनआरसी) के जरिए देश को ‘हिंदू राष्ट्र’ बनाना चाहती है। चेन्नई में लेफ्ट पार्टियों की तरफ से आयोजित एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे चिदंबरम ने कहा कि जब से भाजपा बड़े बहुमत के साथ सत्ता में आई है, तब से ही वह एनपीआर, सीएए और एनआरसी पर केंद्रित है। अगर भारत हिंदू राष्ट्र बनता है तो इससे सिर्फ मुस्लिमों को ही नहीं, बल्कि दलित वर्ग को भी नुकसान होगा। 

कार्यक्रम में चिदंबरम के साथ माकपा नेता प्रकाश करात और द्रमुक की नेता कनिमोझी भी शामिल हुईं। करात ने कहा कि अगर सीएए-एनआरसी के विरोध में 10 और राज्य शामिल हो जाएं, तो केंद्र सरकार को नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर (एनपीआर) को लागू करने का फैसला खत्म करना पड़ेगा। करात ने कहा कि अब तक 12 राज्यों की सरकार कह चुकी हैं कि वे एनपीआर लागू नहीं करेंगी, जो केरल और पश्चिम बंगाल की सरकार ने किया वो 10 और मुख्यमंत्रियों को करना चाहिए। 

जर्मनी के छात्र को वापस भेजने का फैसला गलत: चिदंबरम

  • चिदंबरम ने आईआईटी मद्रास के डायरेक्टर पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि जर्मनी के छात्र जैकब लिंडेन्थल को सीएए-एनआरसी का विरोध करने के लिए वापस जर्मनी भेजना गलत था। प्रदर्शनों में शामिल होकर उसने याद दिलाया कि आईआईटी मद्रास को बनाने में जर्मनी सरकार ने मदद की थी। जब उसको वापस भेजा जा रहा था तो आईआईटी डायरेक्टर कहां थे, वो रिटायर हो गए, छुट्टी पर हैं या मर गए?
  • जर्मनी के जैकब लिंडेन्थल ने सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शनों में हिस्सा लिया था। सरकार ने उन्हें वीजा नियमों के उल्लंघन के लिए जर्मनी वापस भेज दिया गया। चिदंबरम ने कहा कि देशभर में सीएए के विरोध में हो रहे प्रदर्शनों को सरकार और मुस्लिमों के बीच का मुद्दा नहीं मानना चाहिए, क्योंकि सरकार भी यही चाहती है। आप सरकार की इस साजिश का शिकार नहीं बन सकते। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना