• Hindi News
  • National
  • P Chidambaram [Updates]; Former Finance Minister P Chidambaram Press Conference Today News Update: Attacks BJP Over Economy Slowdown

आरोप-प्रत्यारोप / अर्थव्यवस्था पर मोदी खामोश: चिदंबरम; भाजपा बोली- खुद को बेदाग बताकर पहले ही दिन जमानत की शर्त तोड़ी

X

  • आईएनएक्स मीडिया घोटाले में आरोपी पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम को बुधवार को जमानत मिली, 106 दिन बाद जेल से बाहर आए
  • आज प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा- अगर साल खत्म होते-होते विकास दर 5% भी हो जाए तो हम खुद को भाग्यशाली समझेंगे
  • चिदंबरम ने कहा- अर्थव्यवस्था कमजोर हो रही, सरकार इससे बेखबर; प्याज के दाम 100 रुपए से ऊपर पहुंच गए

दैनिक भास्कर

Dec 05, 2019, 04:29 PM IST

नई दिल्ली. आईएनएक्स मीडिया घोटाले में आरोपी पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने तिहाड़ जेल से बाहर आने के बाद गुरुवार को पहली बार प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने अर्थव्यवस्था और महंगाई के मुद्दे पर मोदी सरकार पर निशाना साधा। चिदंबरम ने कहा कि अगर साल खत्म होते-होते विकास दर 5% पर आ जाती है तो हम भाग्यशाली होंगे। इससे पहले चिदंबरम संसद भी गए। यहां उन्होंने कहा कि सरकार मेरी आवाज नहीं दबा सकती। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने चिदंबरम की प्रेस कॉन्फ्रेंस पर आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि पूर्व वित्त मंत्री मीडिया में बयान देकर जमानत की शर्तें तोड़ रहे हैं।

दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को जमानत देते वक्त चिदंबरम के सामने आईएनएक्स घोटाले से जुड़े सबूतों से छेड़छाड़ नहीं करने और मीडिया में इस मुद्दे पर सार्वजनिक रूप से कोई बयान नहीं देने के निर्देश दिए थे। लेकिन सरकार को घेरने की कोशिश में उन्होंने अपने कार्यकाल को सबसे साफ करार दिया। जबकि सीबीआई भ्रष्टाचार और प्रवर्तन निदेशालय मनी लॉन्ड्रिंग मामले में उनके खिलाफ जांच कर रही है।

'बतौर पूर्व वित्त मंत्री अर्थव्यवस्था पर मेरी अच्छी समझ'

चिदंबरम ने कहा, ''अर्थव्यवस्था कमजोर हो रही है, लेकिन सरकार को इसकी कोई चिंता नहीं। प्याज के दाम 100 रु. से ऊपर हो गए हैं। प्रधानमंत्री अर्थव्यवस्था को लेकर चुप्पी साधे हुए हैं। उन्होंने अपने मंत्रियों को गुमराह करने वाले बयान देने के लिए छोड़ दिया। सरकार में अर्थव्यवस्था की समझ रखने वालों की कमी है। जो लोग इसे बेहतर डील कर सकते थे, उन्हें पद से हटा दिया गया। सरकार अर्थव्यवस्था के प्रबंधन में पूरी तरह से नाकाम रही है।''

‘75 लाख कश्मीरियों को खुली हवा में सांस लेने का मौका मिले’
चिदंबरम ने कहा, ‘‘मैं कल रात 8 बजे खुली हवा में सांस ले पाया। मेरी पहली प्रार्थना यही है कि 75 लाख कश्मीरियों को भी यह मौका मिले, जिन्हें आजादी के मूल अधिकार से वंचित कर 4 अगस्त, 2019 को हिरासत में ले लिया गया। मुझे बिना किसी वजह के नजरबंद कश्मीरी नेताओं की चिंता है। अगर सरकार इजाजत दे तो मैं कश्मीर जाकर हालात देखना चाहता हूं। आजादी हमारा अधिकार है और इसकी रक्षा के लिए हमेशा तैयार रहना चाहिए।’’ उन्होंने कहा कि वित्त मंत्री रहने के बाद अर्थव्यवस्था पर मेरी अच्छी समझ है। मेरे साथ काम कर चुके अधिकारी, कारोबारी और पत्रकार इसे बेहतर जानते हैं। मेरा कार्यकाल साफ-सुथरा रहा है।

चिदंबरम ने पहले ही दिन जमानत की शर्तों को तोड़ा: भाजपा

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने चिदंबरम की प्रेस कॉन्फ्रेंस पर आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि जमानत मिलने के बाद पहले ही दिन पी. चिदंबरम ने सुप्रीम कोर्ट शर्तों का उल्लंघन किया। अदालत ने उनसे कहा है कि सार्वजनिक रूप से मीडिया में कोई बयान न दें। लेकिन आज उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री रहते हुए उनका कार्यकाल बेदाग रहा।

DBApp

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना