• Hindi News
  • National
  • Tripura Chief Minister Biplab Deb Resign Updates; Amit Shah, Narendra Modi | Tripura Election

माणिक साहा होंगे त्रिपुरा के नए CM:आज सुबह 11:30 बजे लेंगे शपथ, बिप्लब देब ने दी बधाई

नई दिल्ली11 दिन पहले
माणिक साहा के सीएम बनने से नाराज विधायकों ने हंगामा किया, मंत्री ने कुर्सियां तोड़ीं, कहा- मैं मर जाउंगा

माणिक साहा त्रिपुरा के मुख्यमंत्री अगले मुख्यमंत्री होंगे। विधायक दल की बैठक में सीएम पद के लिए माणिक का नाम तय किया गया है। शनिवार देर शाम माणिक साहा ने बीजेपी प्रतिनिधिमंडल के साथ राज्यपाल से मुलाकात की। साहा ने राज्यपाल को विधायकों का समर्थन पत्र सौंपा और सरकार बनाने का दावा पेश किया। साहा आज यानी 15 मई को 11:30 बजे अगरतला में त्रिपुरा के नए सीएम के तौर पर शपथ लेंगे।

मंत्री राम प्रसाद पॉल ने इस प्रस्ताव पर आपत्ति जताई। इस दौरान कुछ विधायकों के बीच नोकझोंक भी हुई, मंत्री पॉल ने कुर्सियां भी तोड़ीं। इस घटना का एक वीडियो भी वारयल हुआ है। जिसमें उन्हें कहते हुए सुना जा सकता है 'मैं मर जाऊंगा'।

माणिक साहा के नाम पर पॉल को आपत्ति, बैठक में कुर्सियां तोड़ने लगे।
माणिक साहा के नाम पर पॉल को आपत्ति, बैठक में कुर्सियां तोड़ने लगे।

वहीं बिप्लब देब ने अगले सीएम माणिक साहा को बधाई दी। बिप्लब देब ने शनिवार शाम 4:30 बजे इस्तीफा दे दिया था। इस्तीफे के बाद बिप्लब ने कहा, 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारी करनी है। यह भी बोले कि इस बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बातचीत भी हो चुकी है।

सूत्रों का कहना है कि बिप्लब त्रिपुरा BJP अध्यक्ष बन सकते हैं। ​​​बिप्लब देब ने एक दिन पहले ही गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी। इस दौरान अमित शाह ने यह साफ कर दिया था कि वे चुनाव में नए चेहरे के साथ उतरना चाहते हैं।

माणिक साहा त्रिपुरा भाजपा अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद हैं। सूत्रों के मुताबिक सीएम की रेस में डिप्टी सीएम जिश्नु देव वर्मा का नाम भी चर्चा में था। त्रिपुरा में फरवरी 2023 में चुनाव होने हैं। बिप्लव के इस्तीफे के बाद भाजपा ने भूपेंद्र यादव और विनोद तावड़े को पर्यवेक्षक नियुक्त किया है। आज रात 8 बजे विधायक दल की बैठक शुरू होगी।

हाल ही में बिप्लब देब ने गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी।
हाल ही में बिप्लब देब ने गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी।

बिप्लब बोले- पार्टी सबसे ऊपर और मैं निष्ठावान कार्यकर्ता

इस्तीफे के तुरंत बाद मीडिया के सामने आए बिप्लब ने कहा, "पार्टी सर्वोपरि है और मैं एक निष्ठावान कार्यकर्ता हूं। हाईकमान ने मुझ पर भरोसा जताया था और अब इस्तीफा देने के लिए कहा है इसलिए मैंने इस्तीफा दे दिया। इस बारे में मैंने पीएम मोदी और अमित शाह से बात कर ली है। उन्होंने कहा कि अभी चुनाव में देरी है। अब मैं पार्टी को मजबूत करने के लिए काम करूंगा।"

नया मुख्यमंत्री 2023 चुनाव की तैयारियों के लिहाज से ही तय किया जाएगा। पार्टी इस बार पिछले बार के लोकप्रिय नारे 'चलो पलटाईं' से किनारा करते हुए विकास के कामों पर जनता के बीच जाने की योजना बना रही है।

विधानसभा चुनाव को देखते हुए पार्टी ने सख्त कदम उठा लिया है।
विधानसभा चुनाव को देखते हुए पार्टी ने सख्त कदम उठा लिया है।

2018 में त्रिपुरा में पहली बार बनी थी भाजपा सरकार
त्रिपुरा में 2018 में पहली बार भाजपा की सरकार बनी थी, जिसके बाद बिप्लव को मुख्यमंत्री बनाया गया था। सूत्रों के मुताबिक, पिछले महीने करीब 14 भाजपा के विधायकों ने गुट बनाकर हाईकमान से शिकायत की थी। हर बार बिप्लब देव की काबिलियत को लेकर निशाना साधा गया। हालांकि, उस वक्त कोई फैसला नहीं लिया गया था। अब चुनाव को देखते हुए पार्टी ने सख्त कदम उठा लिया है।

बिप्लब कुमार देब ने त्रिपुरा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य को इस्तीफा सौंपा।
बिप्लब कुमार देब ने त्रिपुरा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य को इस्तीफा सौंपा।

भाजपा ने 11 महीने में 4 राज्यों के मुख्यमंत्री बदले

भाजपा ने पिछले 11 महीने में 4 राज्यों मुख्यमंत्री बदले हैं। पिछले साल जुलाई 2021 को तीरथ सिंह रावत को हटाकर पुष्कर सिंह धामी को उत्तराखंड का सीएम बनाया था। इसी महीने कर्नाटक के सीएम बीएस येदुरप्पा को इस्तीफा दिलाकर बसव राज बोम्मई को मुख्यमंत्री बनाया था। इसके बाद सितंबर में विजय रूपाणी को हटाकर भूपेंद्र भाई पटेल को गुजरात का मुख्यमंत्री बनाया है। अब त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने अपने पद से इस्तीफा दिया है।

बिप्लब देब ने अगले सीएम माणिक साहा को बधाई दी।
बिप्लब देब ने अगले सीएम माणिक साहा को बधाई दी।

खबर से जुड़े अन्य अपडेट्स

  • केंद्रीय मंत्री और भाजपा के केंद्रीय पर्यवेक्षक भूपेंद्र यादव ने कहा, बिप्लब देब के नेतृत्व में राज्य में काफी विकास हुआ है।
  • मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, माणिक साहा और बीजेपी प्रतिनिधिमंडल राज्यपाल आवास के लिए रवाना हो गए हैं।
  • यहां वो शपथ ग्रहण के लिए समय मांग सकते हैं।