पॉक्सो एक्ट / बाल यौन शोषण पीड़ित कभी भी कर सकते हैं शिकायत: महिला बाल विकास मंत्रालय



child sexual abuse can file a complaint at any time: Ministry 
X
child sexual abuse can file a complaint at any time: Ministry 

  • मेनका गांधी ने हाल ही में कानून मंत्रालय को लिखकर बाल यौन उत्पीड़न के लिए तय आयुसीमा हटाने को कहा था
  • मौजूदा आपराधिक दंड प्रक्रिया की धारा 468 के तहत बाल यौन उत्पीड़न की घटना की सूचना तीन वर्ष के अंदर देना होता था

Oct 16, 2018, 09:06 PM IST

नई दिल्ली. महिला बाल विकास मंत्रालय ने मंगलवार को कहा- बाल यौन शोषण पीड़ित-पीड़िता कभी भी उत्पीड़न की शिकायत कर सकता है। मंत्रालय के मुताबिक, पॉक्सो एक्ट में ऐसे मामलों की शिकायत के लिए किसी भी प्रकार की समय सीमा तय नहीं की गई है। 

 

हाल ही में मी टू अभियान का समर्थन करते हुए महिला बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने कहा था- उन्होंने कानून मंत्रालय बाल यौन उत्पीड़न के लिए तय आयुसीमा हटाने को लेकर पत्र लिखा है, जिससे घटना के 10-15 साल बाद भी शिकायत की जा सके।

 

'जिसका शोषण होता है, वह कभी नहीं भूलता'

मेनका गांधी ने कहा था- जिसके साथ उत्पीड़न होता है, वह घटना को कभी नहीं भूल सकती। हमने कानून मंत्रालय को लिखा- किसी आयुसीमा के बगैर लोगों को शिकायत करने की अनुमति होनी चाहिए।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना