• Hindi News
  • National
  • China Should Faithfully Follow The Restoration Of Peace On LAC, Pakistan Does Not Focus On Domestic Issues

चीन-पाकिस्तान को भारत का जवाब:एलएसी पर शांति बहाली का ईमानदारी से पालन करे चीन, घरेलू मसलों का ठीकरा भारत पर न फोड़े पाकिस्तान

नई दिल्ली3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गलवान घाटी में भारत-चीन सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद से लद्दाख में तनाव बना हुआ है। भारतीय सेना की हलचल इलाके में तेज हो गई है। -फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
गलवान घाटी में भारत-चीन सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद से लद्दाख में तनाव बना हुआ है। भारतीय सेना की हलचल इलाके में तेज हो गई है। -फाइल फोटो
  • एलएसी पर चल रही तनातनी के बीच भारत-चीन के कमांडरों में हुई बातचीत, शांति बहाली पर बनी सहमति
  • विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान के आरोपों को नकारते हुए पीएम इमरान खान पर साधा निशाना

लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएससी) पर भारत और चीन के बीच चल रही तनातनी के बीच गुरुवार को दोनों देशों के सीनियर कमांडरों के बीच एक बार फिर बातचीत हुई। बातचीत में दोनों देशों ने बॉर्डर पर तनाव कम करने को लेकर सहमति जताई है। न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, विदेश मंत्रालय ने चीन से सख्त लहजे में कहा है कि वह बातचीत के दौरान बनी सहमति का पूरी ईमानदारी से पालन करे और एलएसी पर शांति बनाए रखे।

पाकिस्तान के आरोपों का खंडन किया
विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान के आरोपों को नकारते हुए कहा कि पाकिस्तान को अपनी सरकार और प्रधानमंत्री इमरान खान के ग्लोबल आतंकवाद के बयानों पर अपना स्टैंड साफ करना चाहिए। विदेश मंत्रालय के अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि पाकिस्तान अपनी घरेलू समस्याओं का ठीकरा भारत के सर पर नहीं मढ़ सकता। कराची स्टॉक एक्सचेंज पर हुए हमले के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत को जिम्मेदार बताया था।

यूएनएससी में चीन के प्रस्ताव पर जर्मनी व अमेरिका ने ली आपत्ति
चीन ने कराची में हुए हमले पर यूएनएससी में प्रस्ताव रखा था, लेकिन यूएनएससी मेंबर्स ने पाकिस्तान के बयानों पर आपत्ति दर्ज कराई। पहले जर्मनी और फिर अमेरिका ने इसका विरोध किया। रिपोर्ट के अनुसार, ये प्रस्ताव मौन प्रक्रिया के तहत लाया गया था। अगर तय समय में यूएनएससी को कोई मेंबर इस पर आपत्ति नहीं जताता तो इसे स्वीकार मान लिया जाता।

एलएसी मुद्दे पर भी भारत के साथ अमेरिका
अमेरिका ने एक बार फिर चीन पर पड़ोसियों को धमकाने का आरोप लगाया है। बुधवार शाम व्हाइट हाउस की प्रेस सेक्रेटरी कैली मैकनेनी ने कहा था कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प मानते हैं कि चीन न सिर्फ भारत, बल्कि दूसरे देशों के खिलाफ भी आक्रामक रवैया अपना रहा है। ये वहां की सरकार के असली चेहरे का सबूत है। 

यह भी पढ़ें

1. बातचीत के दिखावे के बीच चीन ने LAC पर 20 हजार सैनिक भेजे; भारत ने भी जवाबी तैयारी की, अक्टूबर के पहले हालात सुधरना मुश्किल

खबरें और भी हैं...