पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Corona Vaccine Availability Latest News Update; Affidavit Submitted By Modi Govt, Supreme Court, Covishield, Covaxin, Bio E Sub Unit Vaccine, Zydus Cadila DNA Vaccine, Sputnik V

कोरोना वैक्सीन पर केंद्र का यू-टर्न:सुप्रीम कोर्ट में कहा- दिसंबर तक 135 करोड़ डोज उपलब्ध होंगे; मई में 216 करोड़ डोज का दावा किया था

नई दिल्ली3 महीने पहले

देश में डेल्टा+ वैरिएंट के खतरे के बीच कोरोना वैक्सीन की उपलब्धता पर केंद्र सरकार ने यू-टर्न ले लिया है। सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हलफनामे में बताया है कि इस साल दिसंबर तक उसे वैक्सीन के सिर्फ 135 करोड़ डोज ही मिलेंगे। इससे पहले मई में जब देशभर में वैक्सीन की किल्लत सामने आई थी, तब केंद्र सरकार ने दावा किया था कि 31 दिसंबर तक देश के पास 216 करोड़ से ज्यादा डोज होंगी।

13 मई को क्या कहा था?
इससे पहले 13 मई को नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल ने एक उम्मीद भरी घोषणा की थी। पॉल ने बताया था कि इस साल अगस्त से दिसंबर तक वैक्सीन की 216 करोड़ डोज तैयार कर ली जाएगी। कोई भी वैक्सीन जिसे FDA या WHO ने अप्रूव किया हो, उसे भारत आने की अनुमति होगी।

इस बार के दावे में क्या फर्क?
पिछली बार सरकार ने कोवीशील्ड, कोवैक्सिन, बायो ई सब यूनिट वैक्सीन, जायडस कैडिला DNA, नोवावैक्स, भारत बायोटेक नेजल वैक्सीन, जिनोवा बायोफार्मा और स्पुतनिक-V की उपलब्धता के बारे में बताया था, लेकिन बीते दिन दाखिल हलफनामे में सरकार ने सिर्फ कोवीशील्ड, कोवैक्सिन, बायो ई सब यूनिट वैक्सीन, जायडस कैडिला DNA और स्पुतनिक-V का जिक्र किया है।

कोवीशील्ड-कोवैक्सिन के डोज भी घटाए
सरकार ने मई में कहा था कि अगस्त से दिसंबर के बीच हमारे पास कोवीशील्ड के 75 करोड़ और कोवैक्सिन के 55 करोड़ डोज होंगे। इस हलफनामे इनकी डोज भी घटाकर 50 करोड़ और 40 करोड़ बताई गई हैं। वहीं, स्पुतनिक-V की उपलब्धता को भी 15.6 करोड़ से घटाकर 10 करोड़ बताया गया है।

188 करोड़ डोज की जरूरत
सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि देश में 18 साल से ऊपर की आबादी तकरीबन 93 से 94 करोड़ है। ऐसे में इस आबादी को वैक्सीन के दोनों डोज लगाने के लिए 186 से 188 करोड़ डोज की जरूरत होगी। इनमें से 51.6 करोड़ डोज 31 जुलाई 2021 तक राज्यों को दे दिए जाएंगे। जिसके बाद पूरी आबादी को वैक्सीनेट करने के लिए 135 करोड़ डोज की ही जरूरत होगी।

12 से 18 साल के उम्र के बच्चों के लिए वैक्सीन जल्द
केंद्र ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट को दिए हलफनामे में 12 से 18 साल के उम्र के बच्चों के लिए वैक्सीन की भी जानकारी दी है। इसके मुताबिक, कोवैक्सिन के बाद जल्द ही एक और स्वदेशी वैक्सीन की एंट्री होने वाली है। 12 से 18 साल के आयु वर्ग के लिए भारतीय फार्मा कंपनी जायडस कैडिला की वैक्सीन जल्द ही उपलब्ध होगी।

एनडीटीवी के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट द्वारा कोविड मैनेजमेंट को लेकर 31 मई को उठाए गए सवालों के जवाब में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने 375 पेज का हलफनामा दिया है। कोर्ट ने सभी उम्र के लोगों के वैक्सीनेशन की तैयारियों को लेकर सरकार से सवाल किया था।

शुरुआत में 3 डोज की होगी वैक्सीन
जायडस कैडिला की वैक्सीन शुरुआती दौर में 3 डोज की होगी, लेकिन आने वाले समय में इसे भी अन्य वैक्सीन की तरह दो डोज की वैक्सीन बनाने पर काम चल रहा है। सरकार के उच्च पदस्थ सूत्रों का कहना है कि वैक्सीन की कीमत तो अभी तय नहीं हुई है, लेकिन यह किफायती होगी। कंपनी की प्रति माह एक करोड़ डोज बनाने की क्षमता है।