पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Price Of COVID19 Vaccine In Gujarat Will Be Rs 250 In Private Hospitals NITI Aayog Propose Vaccine Price Between Rs 300 To 500

आम लोगों को उम्मीद का टीका:देशभर में कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा फेज कल से, सुबह 9 बजे से कोविन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन शुरू होगा

4 महीने पहले

देश में कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा फेज कल यानी 1 मार्च से शुरू हो रहा है। इस फेज में 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीन लगेगी। इसके साथ ही 45 से 60 की उम्र के ऐसे लोगों को भी वैक्सीन लगेगी, जो गंभीर बीमारियों से जूझ रहे हैं। जिन लोगों की उम्र 60 साल या ज्यादा है, उन्हें रजिस्ट्रेशन और वैक्सीनेशन के वक्त ID कार्ड साथ रखना होगा। 45 से 60 साल के जिन लोगों को गंभीर बीमारी है, उन्हें मेडिकल सर्टिफिकेट दिखाना होगा।

वैक्सीनेशन के दूसरे फेज के लिए सुबह 9 बजे से रजिस्ट्रेशन शुरू होगा। रजिस्ट्रेशन कोविन 2.0 वेबसाइट या सरकार की तरफ से तय दूसरे ऑनलाइन प्लेटफॉर्म्स के जरिए होगा। लोग वैक्सीनेशन के लिए किसी भी समय और जगह का अपाइनमेंट ले सकेंगे।

प्राइवेट अस्पताल में 250 रु. में लगवा सकेंगे वैक्सीन
इस फेज में प्राइवेट अस्पतालों को भी शामिल किया गया है, लेकिन यहां वैक्सीन लगवाने वालों को पैसे चुकाने होंगे। सरकार ने कहा है कि प्राइवेट अस्पतालों में वैक्सीन लगवाने वालों को 250 रुपए चुकाने पड़ेंगे। इसमें अस्पतालों के सर्विस चार्ज भी शामिल होंगे।

सरकारी अस्पतालों में वैक्सीन फ्री रहेगी
1 मार्च से शुरू हो रहे वैक्सीनेशन के फेज में करीब 12 हजार सरकारी अस्पतालों और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में टीके फ्री लगाए जाएंगे। इस फेज में 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीन लगेगी। इसके साथ ही 45 से 60 की उम्र के ऐसे लोगों को भी वैक्सीन लगेगी, जो गंभीर बीमारियों से जूझ रहे हैं। केंद्र सरकार का आकलन है कि करीब 27 करोड़ लोग इस कैटेगरी में आते हैं।

बीमारी का सर्टिफिकेट दिखाना होगा, सरकार ने फॉर्मेट जारी किया
जिन लोगों की उम्र 60 साल या ज्यादा है, उन्हें रजिस्ट्रेशन और वैक्सीनेशन के वक्त ID कार्ड साथ रखना होगा। 45 से 60 साल के जिन लोगों को गंभीर बीमारी है, उन्हें मेडिकल सर्टिफिकेट दिखाना होगा। सरकार ने इसके लिए डिक्लेरेशन फॉर्मेट के साथ इस क्राइटेरिया में आने वाली 20 बीमारियों की लिस्ट भी जारी कर दी है। इस फॉर्म को डॉक्टर से सर्टिफाई करवाना होगा।

गंभीर बीमारियों वाले जो लोग वैक्सीन लगवाना चाहें, उन्हें यह फॉर्मेट डॉक्टर से सर्टिफाई कराना होगा।
गंभीर बीमारियों वाले जो लोग वैक्सीन लगवाना चाहें, उन्हें यह फॉर्मेट डॉक्टर से सर्टिफाई कराना होगा।

देश में चल रहे कोरोना वैक्सीनेशन में अभी भारत बायोटेक की कोवैक्सिन और सीरम इंस्टीट्यूट की कोवीशील्ड इस्तेमाल की जा रही है। हालांकि, लोगों को अपनी पसंद से वैक्सीन चुनने का ऑप्शन नहीं दिया जा रहा है। बताया जा रहा है कि सरकार ने कोवीशील्ड 210 रुपए प्रति डोज और कोवैक्सिन 290 रुपए प्रति डोज के हिसाब से खरीदी है।