• Hindi News
  • National
  • Coronavirus Jharkhand Ranchi Case Live | Corona Cases Latest News From Ranchi Jamshedpur Dhanbad Bokaro Hazaribagh

झारखंड: लॉकडाउन फेज-2 का ग्यारहवां दिन:राज्य में सात नए कोरोना संक्रमित मरीज; राज्य में अब तक 68 पॉजिटिव केस, संक्रमित जिलों में पलामू की नई एंट्री

रांची/घनबाद/जमशेदपुर2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गुमला में सब्जी खरीदारी के दौरान कई स्थानों पर सोशल डिस्टेंस का पालन किया गया तो कई जगहों पर इसका बिल्कुल भी ध्यान नहीं रखा गया।
  • आठ नए मरीजों में पांच रांची जबकि तीन पलामू निवासी, राज्य में सबसे अधिक 43 मरीज रांची से
  • झारखंड में कोरोना फैलाने वाली मलेशियाई महिला को रिम्स से मिली छुट्टी, फिलहाल पुलिस हिरासत में
  • कोरोना संक्रमण घाटशिला तक पहुंचा, आरपीएफ जवान की रिपोर्ट पॉजिटिव, डीसी ने कहा- ये बंगाल का मामला

झारखंड में अब कोरोना संक्रमण मरीजों की संख्या 68 हो चुकी है। शनिवार को रांची से पांच और पलामू से तीन नए मरीज मिले। रांची के हिंदपीढ़ी से चार व कांटाटोली से एक जबकि पलामू के लेस्लीगंज से तीन संदिग्धों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। सभी मरीजों को कोविड-19 सेंटर में भर्ती करा दिया गया है। रेड जोन में शामिल रांची में अब तक 43 कोरोना संक्रमित मिल चुके हैं। हॉट स्पॉट बन चुके हिंदपीढ़ी में मरीजों की संख्या बढ़कर 39 हो गई है। वहीं, कांटाटोली व बरियातू में एक-एक और बेड़ो में दो पॉजिटिव मिले हैं। यानी कुल 68 मरीजों में 43 रांची, 10 बोकारो, 02 धनबाद, 02 देवघर, 02 गिरिडीह, 03 हजारीबाग, 02 सिमडेगा, 01 गढ़वा और पलामू के तीन मरीज शामिल हैं।

राज्य में 68 कोरोना के पॉजिटिव केस में 53 एक्टिव हैं, जिनका अलग-अलग जगहों पर कोविड-19 सेंटर में इलाज चल रहा है। कुल मरीजों में से 12 स्वस्थ हो चुके हैं, जबकि तीन की मौत हो चुकी है। वहीं, कोरोना के डरकर राज्य के चार जिलों के सात डॉक्टर और 18 स्वास्थ्य कर्मी पिछले एक महीने से ड्यूटी से गायब है। इसकी जानकारी के बाद सिविल सर्जन ने विभाग से इनके खिलाफ कार्रवाई की अनुशंसा कर दी है।  उधर, लॉकडाउन फेज-2 के 11वें दिन शनिवार को कोरोना पॉजिटिव वाले जिलों (रांची, देवघर, धनबाद, गिरिडीह, हजारीबाग, बोकारो, सिमडेगा, गढ़वा) में पुलिस ने सख्ती बरती। यहां बाहर से आने व यहां से बाहर जाने पर पूरी तरह से रोक रही। बाकी जिलों में आंशिक रूप से दुकानें खुलीं रहीं। इंडस्ट्रियल एरिया में भी फैक्ट्रियां खुलने लगी हैं। उसके लिए फैक्ट्री संचालक जारी गाइडलाइन का पालन कर रहे हैं। 

इंडस्ट्रियल एरिया में फैक्ट्रियां खुलने लगीं, पर शर्तों का पालन करना जरूरी
लॉकडाउन-1 के समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए पहले कहा था कि जान है तो जहान है। लेकिन लॉकडाउन-2 शुरू होने के पहले फिर कहा है कि अब जान भी जहान भी। इसी के बाद कुछ शर्तों के साथ 20 अप्रैल से देश की अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में खेती के कार्य और इंडस्ट्रियल एरिया में फैक्ट्रियों को शुरू करने के निर्देश जारी किए गए। रांची में भी सभी इंडस्ट्रियल एरिया तुपुदाना, कोकर और टाटीसिलवे में जिला प्रशासन द्वारा जारी दिशा-निर्देशों व शर्तों पर धीरे-धीरे फैक्ट्रियों में काम शुरू हो रहा है। 60 फीसदी फैक्ट्रियां खुल गई हैं। कुछ फैक्ट्रियों में अभी भी मूलभूत शर्तों का उल्लंघन हो रहा है। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो रहा है। उधर, इंडस्ट्रियल एरिया में 36 दिनों से 40 ट्रक आकर खड़े हैं। लॉकडाउन में फैक्ट्री बंद है और मजदूर भी नहीं मिल रहे हैं।

गढ़वा में एक संक्रमित मरीज मिलने के बाद उसके निवास क्षेत्र को पूरी तरह से सील कर दिया गया है।
गढ़वा में एक संक्रमित मरीज मिलने के बाद उसके निवास क्षेत्र को पूरी तरह से सील कर दिया गया है।

घाटशिला का आरपीएफ जवान कोरोना पॉजिटिव, डीसी ने कहा- यह पश्चिम बंगाल का मामला
घाटशिला आरपीएफ बैरक में क्वारैंटाइन आरपीएफ का एक जवान शुक्रवार को कोरोना पॉजिटिव पाया गया। इसकी सूचना मिलने के बाद इलाके में हड़कंप मच गया। दिल्ली से लौटे इस जवान को 20 अप्रैल को जांच के लिए खड़गपुर भेजा गया था। खड़गपुर से 19 मार्च को हल्दिया-आनंद विहार एक्सप्रेस से 26 जवान कारतूस व आर्म्स लाने दिल्ली गए थे। सभी वहां बैरक में रुके। 13 अप्रैल को पार्सल वैन से हावड़ा और वहां से बस से खड़गपुर आए। इसमें एक एएसआई व एक जवान 15 अप्रैल को घाटशिला आए। एक को होम और दूसरे को बैरक में क्वारैंटाइन कर दिया गया। डीसी रविशंकर शुक्ला ने बताया कि यह पश्चिम बंगाल का मामला है। खड़गपुर में कोरोना जांच हुई, जिसमें जवान पॉजिटिव मिला।

झारखंड में कोरोना फैलाने वाली मलेशियाई महिला की रिम्स से छुट्टी, पुलिस ने हिरासत में लिया
झारखंड में कोरोना फैलाने वाली मलेशियाई महिला को शुक्रवार को रिम्स से छुट्टी दे दी गई। उसे पुलिस हिरासत में लेकर खेलगांव स्थित क्वारैंटाइन होम में रखा गया है। एसएसपी अनीश गुप्ता ने बताया कि डॉक्टरों की सलाह के बाद तय होगा कि उसे कब जेल भेजना है। पुलिस ने 29 मार्च को हिंदपीढ़ी से 17 विदेशी नागरिक सहित 22 लोगों को पकड़कर खेलगांव स्थित क्वारैंटाइन होम भेजा था। जांच में मलेशियाई महिला कोरोना पॉजिटिव पाई गई थी। झारखंड की यह पहली कोरोना पॉजिटिव मरीज थी। पुलिस के मुताबिक सभी विदेशी टूरिस्ट वीजा पर हिंदपीढ़ी आए थे और धर्म का प्रचार कर रहे थे।

डॉक्टरों व कर्मियों के ड्यूटी से गायब होने पर सिविल सर्जन ने विभागीय कार्रवाई की अनुशंसा की
गुमला, गढ़वा, चतरा और लातेहार के 7 डॉक्टर औ र 18 स्वास्थ्य कर्मचारी ड्यूटी पर नहीं आ रहे। इनमें सिसई रेफरल अस्पताल, गुमला की डॉ. सुपर्णा बरवा दत्ता, डॉ. शशि टोप्पो, डॉ. ज्योति कुजूर के अलावा 12 स्वास्थ्य कर्मी हैं। सभी 24 मार्च से गायब हैं। वहीं चतरा में पोस्टेड डॉ. रेणु सिन्हा, डॉ. शालिनी, डॉ. नवल किशोर, डॉ. राजीव कुमार पांडे बिना अनुमति के छुट्‌टी पर हैं। गढ़वा सदर अस्पताल के डॉ. मुनाजिर हसन भी एक माह से गायब हैं। इधर, लातेहार के छह स्वास्थ्य कर्मचारी भी ड्यूटी पर नहीं आ रहे हैं। सिविल सर्जन ने इन पर कार्रवाई की अनुशंसा की है।

जमशेदपुर में सोशल डिस्टेंस का ध्यान रखते हुए सब्जी की दुकानें लगवाई गई।
जमशेदपुर में सोशल डिस्टेंस का ध्यान रखते हुए सब्जी की दुकानें लगवाई गई।

तीन मई के बाद ही बोर्ड परीक्षाओं की उत्तरपुस्तिका मूल्यांकन पर होगा निर्णय
लॉकडाउन की वजह से झारखंड अधिविद्य परिषद (जैक) की ओर से आयोजित मैट्रिक व इंटरमीडिएट की उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य नहीं शुरू हो पा रहा है। जानकारी के अनुसार जैक मई के पहले सप्ताह में मूल्यांकन प्रक्रिया शुरू कराने पर विचार कर रहा है। लेकिन इस पर अंतिम निर्णय तीन मई को लॉकडाउन पर सरकार के फैसले के बाद ही लिया जाएगा। शिक्षकों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग बनी रहेगी।

जमशेदपुर: दूसरे राज्य से 5 दिन में आए 8513 लोग
लॉकडाउन में पूर्वी सिंहभूम जिले में पांच दिन में महाराष्ट्र, दिल्ली व अन्य राज्यों से 8513 लोग आएं हैं। जिला प्रशासन व सर्विलांस टीम ने इसमें से करीब 3 हजार लोगों को होम क्वारैंटाइन या सरकारी क्वारैंटाइन सेंटर में रखा है। जबकि, पांच हजार से अधिक लोगों के हाथों पर क्वारैंटाइन का स्टांप लगा छोड़ा है ताकि वो घरों में रहे। ऐसे लोग स्टांप वाली जगह पर कपड़ा बांध या उसे केमिकल से मिटा खुले घूम रहे हैं। इससे संक्रमण का खतरा है। 

मानगो: ओडिशा से पैदल राजस्थान जा रहे 9 लोगों को पकड़ा
राजस्थान निवासी 9 मजदूर ओडिशा के झारसुगडा से पैदल ही अपने गांव जा रहे थे। शुक्रवार को जमशेदपुर होते हुए सभी आगे बढ़ रहे थे। तभी मानगो के डिमना के पास चेकनाका पर पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया। सर्विलांस टीम ने जांच के बाद सभी को जुगसलाई के क्वारैंटाइन सेंटर भेज दिया। मानगो नगर निगम के सिटी मैनेजर निर्मल कुमार ने बताया कि पकड़े गए नौ लोग ओडिशा के झारसुगड़ा में काम करते थे। सभी राजस्थान के दौसा जिले के रहने वाले हैं। लॉकडाउन में काम बंद होने के बाद सभी पैदल ही राजस्थान के लिए निकल गए।

सरायकेला-खरसावां: पैदल राजमहल जा रहे 5 लोगों को भेजा क्वारैंटाइन
सरायकेला-खरसावां जिले के राजनगर से पैदल राजमहल जा रहे पांच लोगों को पुलिस ने पुराना कोर्ट के समीप चेकपोस्ट पर पकड़ लिया। सभी राजनगर के बड़ागिरी जलान गांव में प्रधानमंत्री शौचालय योजना के तहत शौचालय के कार्य से जुड़े हुए थे। राजनगर से राजमहल की दूरी 438 किलोमीटर है। राजनगर से ये सुबह छह बजे पैदल अपने गांव के लिए निकले। दोपहर 12.30 बजे चेकपोस्ट पर मजिस्ट्रेट नजमुल लैल ने इन्हें रोक कर पूछताछ की। दंडाधिकारी ने इसकी जानकारी एडीसी सौरव कुमार सिन्हा व एडीएम नंदकिशोर लाल को दी। इसके बाद पांचों व्यक्तियों को कदमा क्वारैंटाइन सेंटर भेजा गया है। छत्तीसगढ़ से दो लोग कार से शहर पहुंचे। पुलिस ने सर्किट हाउस के पास पूछताछ की और कदमा क्वारैंटाइन सेंटर भेज दिया। 

बोकारो में बिना जरूरी काम घरों से बाहर निकलने वाले व बाइक पर दो सवारी होने पर पुलिस ने कड़ाई से पूछताछ की।
बोकारो में बिना जरूरी काम घरों से बाहर निकलने वाले व बाइक पर दो सवारी होने पर पुलिस ने कड़ाई से पूछताछ की।

धनबाद: कुमारधुबी-बाघाकुड़ी में नौवें दिन भी सख्ती, ड्रोन कैमरे से निगरानी
कुमारधुबी के बाघाकुड़ी में कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति के मिलने के बाद 9वें दिन शनिवार को भी कर्फ्यू लगा रहा। मरीज के घर से डेढ़ किमी के दायरे में सैनिटाइज किया गया। वहां रहनेवालों की स्क्रीनिंग जारी रही, हालांकि किसी के स्वाब का नमूमा नहीं लिया गया। दो दिनों में स्वास्थ्य विभाग ने सिर्फ 57 लोगों के स्वाब का ही नमूना लिया, जबकि प्रशासनिक अधिकारियों ने 80 लोगों से अधिक के स्वाब जांच के लिए पंजीयन कराया था। कुमारधुबी और बाघाकुड़ी क्षेत्र में पुलिस की सख्ती जारी है। सभी मार्गों को बैरिकेडिंग कर सील किया गया है। किसी को घर से निकलने नहीं दिया जा रहा है। ड्रोन कैमरे से पूरे इलाके की निगरानी की जा रही है।

हीरापुर: डीएस कॉलोनी में लगातार सातवें दिन भी कर्फ्यू
रेलकर्मी के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद कंटेनमेंट एरिया घोषित की गई डीएस कॉलोनी और अजंतापाड़ा में शनिवार को सातवें दिन भी कर्फ्यू जारी है। कॉलोनी के सभी रास्तों पर पुलिस का पहरा है। किसी के आने-जाने पर रोक लगी हुई है। प्रशासन की ओर से अपील की गई है कि लोग डरें नहीं, घर में ही रहें और सुरक्षित रहें। किसी चीज की जरूरत है, तो प्रशासन की ओर से जारी हेल्पलाइन नंबर पर फोन करें। जरूरत की सभी चीजें घर तक पहुंचाई जाएंगी।

खबरें और भी हैं...