कोरोना का असर / रेगुलर की जगह लेंगी स्पेशल ट्रेन, ना वेटिंग टिकट मान्य होगा ना ही चेन पुलिंग कर सकेंगे

coronavirus latest update, railway to run only special trains
X
coronavirus latest update, railway to run only special trains

  • कोरोना केस के आधार पर रेड, येल्लो और ग्रीन जोन में बांटा जाएगा देश, रेलवे येल्लो और ग्रीन जोन में ही चलाएगा ट्रेनें
  • स्टेशन और ट्रेन के अंदर मास्क नहीं लगाने पर जुर्माने से लेकर यात्रा रद्द करने तक का प्रस्ताव, 6 महानगरों के लिए लॉक डाउन खुलने के बाद भी नहीं चलाई जाएंगी ट्रेनें

दैनिक भास्कर

Apr 10, 2020, 03:56 PM IST

जयपुर. (शिवांग चतुर्वेदी)। कोरोना को लेकर 22 मार्च से 14 अप्रैल तक किए गए लॉकडाउन के खत्म होने या आगे बढने को लेकर संशय बना हुआ है, लेकिन रेलवे ने लॉकडाउन के खुलने की संभावना को लेकर तैयारियां शुरू कर दी हैं। रेल मंत्रालय ने सभी जोनल रेलवेज को सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करने के सख्त निर्देश भी दे दिए हैं।

इसे लेकर रेलवे बोर्ड रोजाना जोनल और मंडल रेलवे के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए विचार-विमर्श कर रहा है। गुरुवार को बोर्ड द्वारा सभी रेल जोनल रेलवे के जीएम, पीएचओडी और डीआरएम के साथ वीसी पर बैठक की गई। इसमें लॉकडाउन खुलने के बाद कोरोना पॉजिटिव केस के आधार पर देश को रेड, येल्लो और ग्रीन जोन में बांटने पर चर्चा हुई।

रेड जोन में आने वाले शहरों में ट्रेनों का संचालन पूरी तरह बंद रहेगा। वहीं येल्लो में सीमित ट्रेन चलाई जाएंगी और ग्रीन जोन में सभी ट्रेनें चलाई जाएंगी। हालांकि रेलवे द्वारा फिलहाल रेगुलर ट्रेनों को नहीं चलाने का निर्णय लिया गया है। रेगुलर ट्रेनों के स्थान पर स्पेशल ट्रेनें चलाई जाएंगी। हालांकि इस प्रस्ताव को अंतिम स्वीकृति 11 से 14 अप्रैल के बीच मिलेगी।

वेटिंग टिकट मान्य नहीं होंगे
रेलवे सोशल डिस्टेंसिंग की शर्त पर ही ट्रेनों का संचालन करेगा। इसके लिए स्टेशनों और ट्रेनों में जरुरी बदलाव करना शुरू कर दिया गया है। ऐसे में एक कोच में 50-60 सीट ही अलॉट की जाएंगी। मिडिल बर्थ का अलॉटमेंट नहीं किया जाएगा। ट्रेन के अंदर वेटिंग टिकट मान्य नहीं होगा। अगर काउंटर खोले जाते हैं तो सॉफ्टवेयर में बदलाव कर वेटिंग टिकट जारी करना बंद किया जा सकता है। इसे लेकर टीम काम भी कर रही है। आरपीएफ और मेडिकल टीम द्वारा स्टेशन पर आने-जाने वाले लोगों की जांच की जाएगी। यात्रियों को डिस्टेंस के साथ कोच के अंदर भी आरपीएफ के जवान ही बैठाएंगे।

रेगुलर ट्रेनों की जगह लेंगी स्पेशल ट्रेन, सीनियर सिटीजन की यात्रा पर रोक
रेलवे बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सक्रंमण के चलते सोशल डिस्टेंस को ध्यान में रखते हुए अभी सिर्फ स्पेशल ट्रेनें ही चलाए जाने पर विचार किया जा रहा है। यानी रेगुलर ट्रेनों को पूरी तरह रद्द रखा जाएगा। स्टेशन के सभी पॉइंट्स पर थर्मल स्क्रीनिंग अनिवार्य होगी। इसके अलावा 60 साल से ज्यादा के लोगों की यात्रा पर भी प्रतिबंध लगाया जाएगा। 

मास्क नहीं लगाया तो जुर्माने से लेकर यात्रा रद्द करने तक का प्रावधान
संक्रमण से बचाव के लिए रेलवे एक बड़ा कदम उठा सकती है। जिसमे रेल यात्रा के दौरान अगर यात्री स्टेशन पर और ट्रेन में मास्क नहीं लगता है उससे जुर्माना वसूला जाएगा। साथ ही उसकी यात्रा भी रद्द की जा सकती है। वहीं यात्रा के दौरान अगर कोई संदिग्ध पाया जाता है तो उसे क्वारेंटाइन में भेजा जा सकता है।

कोरोना प्रभावित शहरों से थ्रू निकलेंगी ट्रेन : रेलवे ने सुझाव दिया है कि अगर ट्रेनें चलेंगी, तो इनका ठहराव कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित शहरों (हॉट स्पॉट) पर नहीं किया जाएगा। इसके लिए एसीपी (ऑटो चैन पुलिंग सिस्टम) को कोच के अंदर डिसकनेक्ट किया जाएगा। ताकि ट्रेनों की बेवजह चैन पुलिंग नहीं हो।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना