• Hindi News
  • National
  • Coronavirus Vaccination India Updates | Mumbai Delhi Bhopal Indore Kerala Rajasthan Haryana, Reported Cases And Vaccination By State Wise

12 से 14 साल के बच्चों का वैक्सीनेशन आज से:बच्चों का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन जरूरी नहीं; 60+ वाले सभी बुजुर्गों को भी लगेगी प्रिकॉशन डोज

नई दिल्ली7 महीने पहले

देश में आज से 12 से 14 साल तक की उम्र वाले बच्चों का भी कोरोना वैक्सीनेशन शुरू हो जाएगा। 16 मार्च को नेशनल वैक्सीनेशन-डे भी है। इस दिन केंद्र सरकार ने 60 साल से अधिक उम्र वाले बुजुर्गों को भी तीसरी डोज का तोहफा दिया है। आज से 60+ उम्र वाले सभी बुजुर्गों को कोविड वैक्सीन की प्रिकॉशन डोज (तीसरी खुराक) दी जाएगी। अभी तक इस उम्र वाले उन्हीं बुजुर्गों को तीसरी डोज लगाई जा रही थी, जो कोमॉर्बेटिज ( किसी तरह की बीमारी) से पीड़ित थे।

खास बात ये है कि 12 से 14 साल तक की उम्र वाले बच्चों के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना जरूरी नहीं है। सरकार ने स्पष्ट किया है कि बुधवार सुबह 9 बजे से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराकर अपना टाइम स्लॉट बुक कराया जा सकता है, लेकिन पेरेंट्स सीधे वैक्सीनेशन सेंटर पर पहुंचकर उम्र से जुड़े दस्तावेज दिखाकर बच्चे को वैक्सीन लगवा सकते हैं।

चीन में दोबारा बढ़ रहे संक्रमण के कारण बरती जा रही तेजी
दरअसल चीन में अचानक बढ़े संक्रमण के नए मामलों के कारण भारत में भी चिंता बढ़ गई है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि अब 12-14 साल वालों को ही खतरा ज्यादा है। केंद्र सरकार के कोविड वर्किंग ग्रुप NTGAI के चेयरमैन एनके अरोड़ा ने मंगलवार को कहा, 15 साल से ज्यादा उम्र के ज्यादातर लोग वैक्सीनेट हो चुके हैं। इसी कारण हमने 12-14 साल के बच्चों के लिए वैक्सीनेशन का विस्तार किया है, क्योंकि उनमें उच्च जोखिम का खतरा है। चीन, सिंगापुर में मामले बढ़ रहे हैं। कोई भी लापरवाही ख़तरनाक हो सकती है।

कोर्बेवैक्स वैक्सीन लगाई जाएगी
12 से 14 साल तक की उम्र के बच्चों को बायोलॉजिकल-ई कंपनी की कोर्बेवैक्स वैक्सीन लगाई जाएगी, जबकि फिलहाल चल रहे 15 से 17 साल आयुवर्ग के वैक्सीनेशन में भारत बायोटेक कंपनी की कोवैक्सिन की डोज लगाई जा रही है। 18 की उम्र से ज्यादा के लोगों के लिए कोवैक्सिन, कोविशील्ड और स्पुतनिक-V वैक्सीन जैसे ऑप्शन्स हैं। कोर्बेवैक्स को 21 फरवरी को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) से इमरजेंसी अप्रूवल मिला था।

केंद्र ने राज्यों संग की मीटिंग, एडवाइजरी लेटर भी भेजा

यह एडवाइजरी लेटर केंद्र सरकार ने सभी राज्यों को भेजा है।
यह एडवाइजरी लेटर केंद्र सरकार ने सभी राज्यों को भेजा है।

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने मंगलवार को इस अभियान के लिए सभी राज्यों के मुख्य सचिव को एडवाइजरी लेटर लिखा है। इस लेटर में राज्यों को वैक्सीनेशन के दौरान बरती जाने वाली एहतियात के लिए एडवाइजरी दी गई है। इससे पहले मंगलवार को दिन में स्वास्थ्य सचिव ने राज्यों के साथ वैक्सीनेशन को लेकर वर्चुअल मीटिंग भी की थी। इस मीटिंग में खासतौर पर 12 से 14 साल तक की उम्र वाले बच्चों के लिए अलग टीकाकरण केंद्र बनाने की सलाह दी गई थी ताकि उनकी वैक्सीन बड़ी उम्र वाले बच्चों व एडल्ट्स की वैक्सीन के साथ मिक्स न हो जाए।

बिहार में 56 लाख बच्चों को दिया जाएगा कोरोना का टीका; स्पॉट रजिस्ट्रेशन की भी व्यवस्था

12-14 साल के बच्चों के वैक्सीनेशन की SOP

  • दो एज ग्रुप 12-13 वर्ष और 13-14 वर्ष में होगा बच्चों का वैक्सीनेशन
  • साल 2008, 2009 और 2010 में पैदा हुए बच्चे आएंगे इसके दायरे में
  • वैक्सीन लगने वाले दिन बच्चे की उम्र कम से कम 12 साल होना अनिवार्य
  • बच्चा रजिस्टर्ड है, लेकिन वैक्सीनेशन के दिन 12 साल का नहीं तो वैक्सीन नहीं लगेगी
  • उम्र के सत्यापन की जिम्मेदारी वैक्सीन लगाते समय हेल्थ सेंटर के कर्मचारियों की होगी
  • पहली वैक्सीन लगने के बाद दूसरी डोज 28 दिन बीतने पर ही दी जाएगी

बुजुर्गों के वैक्सीनेशन में यह रखना है ध्यान

  • 60 साल से ज्यादा उम्र वाले सभी बुजुर्ग आएंगे इसके दायरे में
  • सीधे वैक्सीनेशन सेंटर जाकर भी प्रिकॉशन डोज लगवा पाएंगे बुजुर्ग
  • वैक्सीनेशन सेंटर पर वैक्सीन के लिए दिखाना होगा एज सर्टिफिकेट
  • दूसरी डोज लगने के 36 सप्ताह (9 महीने) बाद ही ले सकते हैं तीसरी डोज
खबरें और भी हैं...