• Hindi News
  • National
  • Comedians reducing work stress, fees for one session to crores; Foreign trends now increase in Indian companies

टेंशन फ्री वर्क / काम का तनाव घटा रहे कॉमेडियन, एक सेशन की फीस करोड़ तक; विदेशों का ट्रेंड अब देश में भी बढ़ा

कॉमेडियन विक्रम पोद्दार- फाइल फोटो। कॉमेडियन विक्रम पोद्दार- फाइल फोटो।
X
कॉमेडियन विक्रम पोद्दार- फाइल फोटो।कॉमेडियन विक्रम पोद्दार- फाइल फोटो।

  • अब देश की बड़ी-बड़ी कॉर्पोरेट कंपनियां मोटिवेशन के लिए अब स्टैंडअप कॉमेडियंस को बुलाती हैं
  • ये कॉमेडियंस तकनीकी भाषा में हंसाते-हंसाते लोगों को काम के लिए प्रेरित कर रह हैं

मुंबई से मनीषा भल्ला

Feb 16, 2020, 11:41 AM IST

कॉर्पोरेट की मीटिंग में सेल, टारगेट, शेयर, भविष्य की प्लानिंग जैसी बातें अब हंसते-हंसते हो रही हैं। कॉर्पोरेट कंपनियां मोटिवेशन के लिए अब स्टैंडअप कॉमेडियंस को बुलाती हैं, जो उनकी ही तकनीकी भाषा में हंसाते-हंसाते लोगों को काम के लिए प्रेरित कर रही हैं। पहले ये ट्रेंड विदेशों में था। फेसबुक, गूगल जैसी कंपनियां ऐसा कर रही थीं, लेकिन अब देश के बड़े-बड़े कॉर्पोरेट घराने कर्मचारियों के लिए इसे आजमा रहे हैं। खास बात ये है कि इस काम के लिए एक सेशन की फीस एक करोड़ रुपए तक पहुंच गई है। कॉमेडियन विक्रम पोद्दार ने तो बाकायदा इसके लिए बोर्ड रूम कॉमेडी नाम से कंपनी बनाई है। इन्वेस्टमेंट बैंकर से स्टैंडअप कॉमेडियन बने पोद्दार की कंपनी की खासियत है कि उन्होंने कॉर्पोरेट अत्याचार सीरीज के जरिए इनके लिए स्पेशल कॉमेडी डिजाइन की है। 

बड़ी कॉर्पोरेट कंपनियां वर्कशॉप के लिए बुलाती हैं

भास्कर से बात करते हुए पोद्दार बताते हैं, ‘‘देश की बड़ी कॉर्पोरेट कंपनियां उन्हें वर्कशॉप के लिए बुलाती हैं, क्योंकि उनके पास कॉमेडी और मोटिवेशन का मिश्रण है। बोर्ड रूम की मैराथन बैठकों में कॉमेडी से नतीजे अच्छे आते हैं।’’ पोद्दार की कंपनी एक शो या एक वीडियो ऑन डिमांड के दस लाख रुपए से एक करोड़ रुपए के आसपास लेती है। ओटीटी प्लेटफॉर्म अमेजॉन प्राइम के लिए ‘दिल्ली से हूं’ नाम का शो करने वाले कॉमेडियन निशांत तंवर कहते हैं, ‘‘आज कंपनियां कॉमेडी में इंवेस्ट कर रही हैं, क्योंकि जहां मुनाफा है वहां कॉर्पोरेट है।’’ टेलीकॉम कंपनियों के लिए कॉमेडी शो करने वाले नवीन प्रभाकर ने हाल ही में 3,000 कॉर्पोरेट शो पूरे किए हैं। वे कहते हैं कि कॉर्पोरेट कंपनियों में हम कंपनी के ‘लोगो’ को स्लोगन बनाते हुए कंपनी के की-वर्ड इस्तेमाल करते हैं।

बड़े कॉमेडियन टाटा, एयरटेल जैसे ब्रांड से जुड़े

  • विक्रम पोद्दार- अर्बन क्लैप, एचसीएल, स्नैपडील, आदित्य बिड़ला ग्रुप, खेतान, गोदरेज, टाटा, यस बैंक आदि के लिए शो करते हैं। इनकी फीस 10 लाख रुपए से लेकर एक करोड़ रुपए तक है।
  • राजीव निगम- एशियन पेंट्स, रोटरी क्लब, एंकर स्विच आदि के लिए काम करते हैं। शो का करीब 15 से 25 लाख रुपए लेते हैं।
  • निशांत तंवर- मारुति, नोकिया, वोडाफोन, लाफिंग क्लब्स आदि से जुड़े हैं। इनकी फीस भी करीब 25 लाख रु. प्रति शो है।
  • नवीन प्रभाकर- एयरटेल, वोडाफोन, निजी अस्पताल के स्टाफ के लिए। एक कॉर्पोरेट शो के 10 से 15 लाख लेते हैं।
  • सुनील पॉल- एक ऑटोमोबाइल कंपनी की ब्रांडिंग के लिए कॉन्ट्रेक्ट साइन किया है। कॉर्पोरेट शो का करीब 10-15 लाख रुपए लेते हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना