कर्नाटक उपचुनाव / लोकसभा की तीन और विधानसभा की दो सीटों पर वोटों की गिनती शुरू



Counting begins for Lok Sabha, Assembly bypolls in Karnataka
Counting begins for Lok Sabha, Assembly bypolls in Karnataka
Counting begins for Lok Sabha, Assembly bypolls in Karnataka
X
Counting begins for Lok Sabha, Assembly bypolls in Karnataka
Counting begins for Lok Sabha, Assembly bypolls in Karnataka
Counting begins for Lok Sabha, Assembly bypolls in Karnataka

  • रामनगर सीट से सीएम कुमारस्वामी की पत्नी अनीता और बीएस येदियुरप्पा के बेटे बीवाई राघवेंद्र शिवमोगा सीट से प्रत्याशी
  • 2014 चुनाव के दौरान तीनों लोकसभा सीटों में से दो पर भाजपा और एक पर जेडीएस ने जीत दर्ज की थी

Dainik Bhaskar

Nov 06, 2018, 08:53 AM IST

बेंगलुरु. कर्नाटक की तीन लोकसभा और दो विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजे मंगलवार को आए। भाजपा का गढ़ मानी जाने वाली बेल्लारी लोकसभा सीट पर कांग्रेस के वीएस उगरप्पा को 2,43,161 वोटों से जीत मिली। भाजपा सिर्फ शिमोगा लोकसभा सीट बचा पाई। यहां से येदियुरप्पा के बेटे बीवाई राघवेंद्र ने 52,148 वोटों से जीत दर्ज की। मांड्या लोकसभा सीट जेडीएस के एलआर शिवरामेगौड़ा ने 3,24,943 वोटों से अपने नाम की। रामनगर विधानसभा सीट पर मुख्यमंत्री एचडी की कुमारस्वामी पत्नी अनीता एक लाख नौ हजार से ज्यादा वोटों से जीतीं। जामखंडी विधानसभा सीट पर कांग्रेस के न्यामगौड़ा 39,480 वोटों से जीते। पांचों सीटों पर शनिवार को मतदान हुआ था।

 

लोकसभा सीट

बेल्लारी : कांग्रेस उम्मीदवार वीएस उगरप्पा 2 लाख 43 हजार 161 वोटों से जीते। 

शिमोगा : येदियुरप्पा के बेटे राघवेंद्र ने 52,148 वोटों से जीत दर्ज की।

मांड्या : कांग्रेस-जेडीएस के एलआर शिवरामेगौड़ा 3,24,943 वोटों से जीते।

 

विधानसभा सीट

रामनगर : कुमारस्वामी की पत्नी अनीता 1,09,137 वोटों से जीतीं।

जामखंडी : कांग्रेस के न्यामगौड़ा 39 हजार 480 वोटों से जीते।

 

तीन लोकसभा सीटों में से दो भाजपा और एक जेडीएस के पास थी

सीट भाजपा प्रत्याशी कांग्रेस/जेडीएस प्रत्याशी पिछली बार कौन जीता
शिमोगा (लोकसभा) बीवाई राघवेंद्र एस मधु बंगारप्पा भाजपा
बेल्लारी (लोकसभा) जे शांता वीएस उगरप्पा भाजपा
मांड्या (लोकसभा) डीआर सिद्धरमैया एलआर शिवरामेगौड़ा जेडीएस
जामखंडी (विधानसभा) श्रीकांत सुबराव कुलकर्णी आनंद सिद्धू न्यामगौड़ा कांग्रेस
रामनगर (विधानसभा) एल चंद्रशेखर अनीता कुमारस्वामी जेडीएस

 

शिमोगा में तीन पूर्व सीएम के बेटे आमने-सामने, येदि के बेटे को जीत

शिमोगा लोकसभा सीट पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के इस्तीफा के बाद खाली हुई थी। येदियुरप्पा ने शिकारीपुरा से विधानसभा चुनाव लड़ा था। इस सीट पर तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों के बेटों की प्रतिष्ठा दांव पर थी। यहां येदियुरप्पा ने अपने बेटे राघवेंद्र को उम्मीदवार बनाया। वहीं, जेडीएस ने पूर्व सीएम बंगारप्पा के बेटे मधु बंगारप्पा को उतारा। बिहार में भाजपा की सहयोगी जेडीयू ने पूर्व सीएम जेएच पटेल के बेटे महिमा पटेल पर दांव खेला था।

 

इस्तीफे-निधन की वजह से खाली हुई थी सीटें

पांच में से चार सीटें इस्तीफे की वजह से और एक सीट विधायक के निधन की वजह से खाली हुई थी। शिमोगा सीट बीएस येदियुरप्पा, बेल्लारी सीट श्रीमुलु और मांड्या सीट सीएस पुट्टाराजू के इस्तीफे के बाद खाली हुई थी। वहीं, रामनगर सीट से सीएम कुमारस्वामी ने इस्तीफा दिया था। जामखंडी सीट पर कांग्रेस विधायक सिद्धू न्यामगौड़ा का निधन हो गया था।

 

शिमोगा-बेल्लारी भाजपा के गढ़

शिमोगा सीट भाजपा का गढ़ मानी जाती है, लेकिन विधानसभा चुनाव में यहां कांग्रेस और जेडीएस का वोट शेयर भाजपा से ज्यादा था। ऐसे में यह सीट बचाना भाजपा के लिए चुनौती है। बेल्लारी भाजपा का दूसरा गढ़ है। यहां भाजपा नेता श्रीरामुलु की बहन शांता उम्मीदवार थी। यह सीट एसटी वर्ग के लिए आरक्षित है।

 

शनिवार को हुआ था मतदान

उपचुनाव के लिए पांचों सीटों पर शनिवार को मतदान हुआ। शिमोगा लोकसभा सीट पर 61.05%, बेल्लारी लोकसभा सीट पर 63.65% और मांड्या लोकसभा सीट पर 53.93% वोटिंग हुई थी। वहीं, रामनगर विधानसभा सीट पर 73.71% और जामखंडी विधानसभा सीट पर 81.58% मतदान हुआ था।

भाजपा को तीनों लोकसभा सीटों पर जीत की उम्मीद

  1. रामनगर सीट से सीएम कुमारस्वामी की पत्नी अनीता और बीएस येदियुरप्पा के बेटे बीवाई राघवेंद्र शिमोगा सीट से प्रत्याशी हैं। तीनों लोकसभा सीटों में से दो भाजपा और एक जेडीएस के पास थी। अगर उपचुनाव में भाजपा तीनों सीटें जीत लेती है तो 2019 लोकसभा चुनाव के मद्देनजर उसे मनोवैज्ञानिक लाभ मिलेगा।

  2. 3 पूर्व मुख्यमंत्रियों के बेटों के बीच मुकाबला

    शिमोगा लोकसभा सीट पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के विधानसभा चुनाव में शिकारीपुरा से लड़ने के लिए इस्तीफा देने के बाद से खाली हुई थी। इस सीट पर तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों के बेटों की प्रतिष्ठा दांव पर है। यहां येदियुरप्पा ने अपने बेटे राघवेंद्र को उम्मीदवार बनाया है। वहीं, जेडीएस ने पूर्व सीएम ए बंगारप्पा के बेटे मधु बंगारप्पा को उतारा है। बिहार में भाजपा की सहयोगी जेडीयू ने पूर्व सीएम जेएच पटेल के बेटे महिमा पटेल पर दांव खेला है।

  3. भाजपा का गढ़ शिमोगा और बेल्लारी

    शिमोगा सीट भाजपा का गढ़ मानी जाती है, लेकिन विधानसभा चुनाव में यहां कांग्रेस और जेडीएस का वोट शेयर भाजपा से ज्यादा था। ऐसे में यह सीट बचाना भाजपा के लिए चुनौती है। बेल्लारी भाजपा का दूसरा गढ़ है। यहां भाजपा नेता श्रीरामुलु की बहन शांता उम्मीदवार हैं। यह सीट आदिवासी जनजाति के लिए आरक्षित है।

  4. 4 सीटें इस्तीफे की वजह से खाली हुई थीं

    पांच में से चार सीटें इस्तीफे की वजह से और एक सीट विधायक के निधन की वजह से खाली हुई थी। शिमोगा सीट बीएस येदियुरप्पा, बेल्लारी सीट श्रीमुलु और मांड्या सीट सीएस पुट्टाराजू के इस्तीफे के बाद खाली हुई थी। वहीं, रामनगर सीट से सीएम कुमारस्वामी ने इस्तीफा दिया था। जामखंडी सीट पर कांग्रेस विधायक सिद्धू न्यामगौड़ा का निधन हो गया था।

  5. इतनी हुई थी वोटिंग

    उपचुनाव के लिए पांचों सीटों पर शनिवार को मतदान हुआ। शिमोगा लोकसभा सीट पर 61.05%, बेल्लारी लोकसभा सीट पर 63.65% और मांड्या लोकसभा सीट पर 53.93% वोटिंग हुई थी। वहीं, रामनगर विधानसभा सीट पर 73.71% और जामखंडी विधानसभा सीट पर 81.58% मतदान हुआ था।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना