पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Cyclone Fani Make Landfall Near Puri Today News And Updates

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आज दोपहर से पहले ओडिशा तट से टकराएगा चक्रवाती तूफान; गंजाम जिले से 65 किमी दूर, 23 किमी/घंटे की रफ्तार से आगे बढ़ रहा

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • मौसम विभाग का अनुमान- ओडिशा से बंगाल होते हुए बांग्लादेश पहुंचेगा फैनी
  • मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने हालात का जायजा लिया, लोगों से घरों में रहने की अपील
  • 15 जिलों से 11 लाख लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया गया
  • 20 साल में ओडिशा से टकराने वाला सबसे खतरनाक तूफान 

भुवनेश्वर. चक्रवाती तूफान फैनी शनिवार को पश्चिम बंगाल पहुंचकर कमजोर पड़ा गया। अब यह 60 से 70 किमी/घंटा की रफ्तार से बांग्लादेश की ओर बढ़ रहा है। 1999 में आए सुपर साइक्लोन के बाद सबसे खतरनाक तूफान माना जा रहा फैनी शुक्रवार सुबह ओडिशा के पुरी तट से टकराया था। चार जिलों में सबसे ज्यादा नुकसान हुआ। ओडिशा में 10 लोगों की मौत हुई, वहीं 160 से ज्यादा जख्मी हुए। फैनी तूफान से पहले तैयारियों को लेकर संयुक्त राष्ट्र (यूएन) ने भारत सरकार की तारीफ की।

 

आपदा के खतरों से जुड़ी यूएन की एजेंसी (ओडीआरआर) के प्रवक्ता डेनिस मैक्लीन ने कहा कि सरकार की जीरो कैजुएलिटी पॉलिसी और भारतीय मौसम विभाग की सटीक भविष्यवाणी की बदौलत समय रहते 11 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया और तूफान से मौतों की संख्या कम रही। भारत ने 2013 में आए तूफान के बाद पॉलिसी पर काम शुरू किया था।

 

मोदी सोमवार को ओडिशा का दौरा करेंगे 
गृह मंत्रालय को भेजी गई रिपोर्ट के मुताबिक, ओडिशा के चार जिले कटक, खुर्दा, भुवनेश्वर और पुरी में सबसे ज्यादा तबाही हुई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्र से हर संभव मदद का भरोसा मुख्यमंत्री नवीन पटनायक को दिया। मोदी ने बताया कि वे नुकसान का जायजा लेने के लिए सोमवार सुबह ओडिशा जाएंगे। संकट की घड़ी में पूरा देश ओडिशा के साथ है।

 

  • शुक्रवार को पुरी तट पर तूफानी हवाओं की रफ्तार 175 किमी/घंटे थी। कुछ स्थानों पर यह 200 किमी/घंटे तक पहुंची। इससे कई मकानों काे नुकसान पहुंचा। हजारों पेड़ और बिजली के खंभे गिर गए। निचली बस्तियों में पानी भर गया।
  • पड़ोसी देश बांग्लादेश में फैनी के चलते अलर्ट जारी किया गया। यहां 25 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया है। अब तक 4 लाख लोगों को निचले इलाकों से निकाला जा चुका है। 
  • इससे पहले चुनाव आयोग ने आंध्रप्रदेश के चार जिलों- पूर्व गोदावरी, विशाखापट्टनम, विजयनगरम और श्रीकाकुलम से आचार संहिता हटा ली। यह फैसला राहत कार्यों में आने वाली संभावित अड़चनों की वजह से किया गया।

 

इमरजेंसी नंबर
ओडिशा- 06742534177, गृह मंत्रालय- 1938, सिक्युरिटी- 182

 

\"d\"

 

नौसेना के 3 जहाज राहत कार्य के लिए तैनात
तटरक्षक बल ने फैनी को देखते हुए 34 राहत दलों और चार तटरक्षक पोतों को राहत कार्य के लिए तैनात किया। नौसेना के प्रवक्ता कैप्टन डीके शर्मा ने बताया कि नौसेना के पोत सहयाद्री, रणवीर और कदमत को राहत सामग्री और चिकित्सा दलों के साथ भेजा है। 

 

5000 किचन बनाए गए

एनडीआरएफ की 28, ओडिशा डिजास्टर मैनेजमेंट रैपिड एक्शन फोर्स की 20 यूनिट और फायर सेफ्टी डिपार्टमेंट के 525 लोग रेस्क्यू ऑपरेशन में लगे। इसके अलावा स्वास्थ्य विभाग की 302 रैपिड रिस्पॉन्स टीम तैनात की गईं। राहत शिविरों में भोजन की व्यवस्था करने के लिए 5000 किचन बनाए गए। 

 

तटीय जिलों में यातायात बंद

ओडिशा के तटीय जिलों में फैनी के दौरान रेल, सड़क और हवाई यातायात पूरी तरह से बंद कर दिया गया। गुरुवार मध्यरात्रि से बीजू पटनायक इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर सभी उड़ानें 24 घंटे के लिए रोक दी गई। कोलकाता एयरपोर्ट भी शुक्रवार रात से शनिवार सुबह तक बंद रहा। 

 

20 साल में ओडिशा से टकराने वाला सबसे खतरनाक तूफान

ज्वाइंट टाईफून वॉर्निंग सेंटर (जेडब्ल्यूटीसी) के मुताबिक, फैनी तूफान बीते 20 सालों में अब तक का सबसे खतरनाक चक्रवात है। ओडिशा में 1999 में आए सुपर साइक्लोन से करीब 10 हजार लोग मारे गए थे। भारतीय मौसम विभाग सूत्रों के मुताबिक पिछले 43 सालों में यह पहली बार है जब अप्रैल में भारत के आसपास मौजूद समुद्री क्षेत्र में ऐसा कोई चक्रवाती तूफान उठा। क्षेत्रीय मौसम विभाग के पूर्व निदेशक शरत साहू के मुताबिक- ओडिशा में 1893, 1914, 1917, 1982 और 1989 की गर्मियों में भी तूफान आए थे। लेकिन इस बार का चक्रवात बंगाल की खाड़ी के गर्म होने से बना है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- परिस्थिति तथा समय में तालमेल बिठाकर कार्य करने में सक्षम रहेंगे। माता-पिता तथा बुजुर्गों के प्रति मन में सेवा भाव बना रहेगा। विद्यार्थी तथा युवा अपने अध्ययन तथा कैरियर के प्रति पूरी तरह फोकस ...

और पढ़ें