• Hindi News
  • National
  • Cyclone Jawad Status Update; Narendra Modi Chairs Meeting On Cyclone Situation

जवाद साइक्लोन को लेकर PM मोदी की मीटिंग:आंध्र प्रदेश और ओडिशा में भारी बारिश की चेतावनी, रेस्क्यू के लिए NDRF की 62 टीमें तैनात

नई दिल्ली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बंगाल की खाड़ी में बने डीप डिप्रेशन की वजह से जवाद साइक्लोन बन रहा है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के मुताबिक, चक्रवाती तूफान शनिवार सुबह आंध्र प्रदेश और ओडिशा के तटवर्ती इलाकों में पहुंच सकता है। इसे देखते हुए ओडिशा सहित तटवर्ती इलाकों में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है।

जवाद से निपटने की तैयारियों के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को रिव्यू मीटिंग की। मीटिंग में कैबिनेट सचिव राजीव गाबा, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल सहित कई सीनियर अधिकारी मौजूद थे। साइक्लोन को लेकर सरकार अलर्ट मोड पर है। प्रधानमंत्री की मीटिंग के बाद NDRF (नेशनल डिजास्टर रिस्पांस फोर्स) ने 33 और टीमों को भी तैनात कर दिया है। साइक्लोन को लेकर सरकार अलर्ट मोड पर है।

साइक्लोन के 4 दिसंबर की सुबह तक आंध्र प्रदेश और ओडिशा के तटों पर पहुंचने की संभावना है।
साइक्लोन के 4 दिसंबर की सुबह तक आंध्र प्रदेश और ओडिशा के तटों पर पहुंचने की संभावना है।

NDRF के डॉयरेक्टर जनरल अतुल करवाल ने कहा- जवाद से निपटने के लिए 29 टीमों को जरूरी इलाकों में तैनात किया गया था। 33 और टीमों को भी तैनात किया जा रहा है। इसके अलावा और टीमों को तैयार रखा जा रहा है। आर्मी और नेवी को भी तैयार रहने को कहा गया है। वहीं, प्रभावित होने वाले इलाकों से सभी लोगों को सुरक्षित जगह पर ले जाया गया है।

ओडिशा के जिले रेड अलर्ट पर
ओडिशा सरकार ने राज्य के 13 जिलों के DM को निर्देश जारी किया है। इसमें लोगों को तटवर्ती इलाकों से बाहर निकालने और रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए लिए तैयार रहने को कहा है। IMD ने ओडिशा के गजपति, गंजम, पुरी और जगतसिंहपुर जिलों में भारी बारिश का रेड अलर्ट जारी किया है। वहीं, केंद्रपाड़ा, कटक, खुर्दा, नयागढ़, कंधमाल, रायगडा और कोरापुट जिलों में 4 दिसंबर के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। साथ ही पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में भारी से बहुत भारी बारिश होने की भी संभावना है।