पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दक्षिण में निवार की दस्तक:चेन्नई को 2015 की बाढ़ का सबक याद है, इसलिए तूफान आने से पहले ही 90% भर चुके बांध से पानी छोड़ा

5 महीने पहलेलेखक: चेन्नई से श्रेष्ठा तिवारी

तूफान निवार आज देर शाम को तमिलनाडु और पुडुचेरी के तट से टकराने का अनुमान था, लेकिन मौसम विभाग के लेटेस्ट बुलेटिन के मुताबिक तूफान मिड नाइट और 26 नवंबर की सुबह के दौरान कराईकल, महाबलीपुरम और पुडुचेरी के पास टकराएगा। यहां से गुजरते वक्त 120-130 किमी प्रति घंटे से लेकर 145 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं।

चेंबरमबाक्कम डैम के गेट खोले, निचले इलाकों में अलर्ट
चेन्नई को 2015 की बाढ़ का सबक याद है, इसलिए 90% भर चुके चेंबरमबाक्कम डैम के गेट खोल दिए गए हैं। अधिकारियों का कहना है की पहले फेज में डैम से 1000 क्यूसेक पानी छोड़ा जाएगा। बांध का पानी अडयार नदी में जाएगा, इसलिए नदी इलाके के निचले इलाकों जैसे कुंद्रातुर, सिरुकलाथुर, तिरुमुडिवक्कम, और तिरुनीरमलई, में अलर्ट जारी कर दिया गया है। उधर, केंद्रीय जल संसाधन मंत्रालय ने भी अलर्ट जारी कर चेन्नई एयरपोर्ट पर सतर्कता बरतने को कहा है।

फोटो चेंबरमबाक्कम डैम की है।
फोटो चेंबरमबाक्कम डैम की है।

बारिश से बांध में 11,000 क्यूसेक अतिरिक्त पानी आने का अनुमान
चेन्नई में 2015 में आई बाढ़ की बड़ी वजह यह मानी जाती है कि चेंबरमबाक्कम बांध बिना प्लानिंग के खोला गया था। लेकिन, अधिकारियों का कहना है कि इस बार चिंता की कोई बात नहीं। बांध कि क्षमता 24 फीट है, जबकि पानी का स्तर आज 22 फीट तक पहुंचा। बांध से पानी छोड़ने के बाद भी बारिश का 11,000 क्यूसेक अतिरिक्त पानी बांध में आने का अनुमान है, जिसे अडयार नदी में छोड़ा जाएगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय निवेश जैसे किसी आर्थिक गतिविधि में व्यस्तता रहेगी। लंबे समय से चली आ रही किसी चिंता से भी राहत मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए बहुत ही फायदेमंद तथा सकून दायक रहेगा। ...

और पढ़ें