• Hindi News
  • National
  • Cyrus Mistry Car Accident Investigation; Dr Anahita, Darius Pandole | Mumbai News

सड़क संकरी होने से हुआ साइरस की मर्सिडीज का एक्सीडेंट:कार चला रही डॉक्टर के पति ने कहा- लेन बदलने के लिए जगह नहीं थी

मुंबई5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

टाटा ग्रुप के पूर्व चेयरमैन साइरस मिस्त्री की मर्सिडीज कार अहमदाबाद-मुंबई हाईवे पर लेन बदलने के लिए जगह न मिलने की वजह से सूर्या नदी के पुल से टकराई थी। हादसे के समय कार ड्राइव कर रहीं डॉक्टर अनायता के पति डेरियस पंडोले ने पुलिस को दिए बयान में हादसे की यही वजह बताई है। मिस्त्री की 4 सितंबर को अहमदाबाद से मुंबई आते समय कार एक्सीडेंट में मौत हो गई थी।

कार एक्सीडेंट में साइरस मिस्त्री (लाल घेरे में) की मौके पर ही मौत हो गई थी।
कार एक्सीडेंट में साइरस मिस्त्री (लाल घेरे में) की मौके पर ही मौत हो गई थी।

पंडोले ने पुलिस को बताया कि उनकी पत्नी कार को हाईवे की थर्ड लेन में चला रही थीं। पुल के पास सड़क संकरी हो गई और थर्ड लेन सेकेंड लेन में मर्ज हो गई। पुल से पहले साइरस की गाड़ी के आगे चल रही एक कार ने लेन बदली। मर्सिडीज ड्राइव कर रही अनायता ने भी सेकेंड लेन में जाने की कोशिश की, लेकिन वहां एक ट्रक चल रहा था। इस वजह से वह ऐसा नहीं कर सकीं।

साइरस की कार अहमदाबाद-मुंबई हाईवे पर सूर्या नदी के पुल पर बनी रैलिंग से टकराई थी।
साइरस की कार अहमदाबाद-मुंबई हाईवे पर सूर्या नदी के पुल पर बनी रैलिंग से टकराई थी।

इस हादसे में टाटा संस के पूर्व चेयरमैन मिस्त्री (54) और उनके दोस्त जहांगीर पंडोले की मौत हो गई थी। गाड़ी चला रहीं डॉक्टर अनायता (55) और उनके पति डेरियस को गंभीर चोटें आई थीं। डेरियस पंडोले को इलाज के बाद पिछले हफ्ते छुट्टी दे दी गई थी, जबकि अनायता अभी भी अस्पताल में भर्ती हैं।

हादसे को याद नहीं कर पा रहे थे पंडोले
पालघर के पुलिस अधीक्षक बालासाहेब पाटिल ने बताया कि दरीयस पंडोले का बयान दर्ज कर लिया गया है। दक्षिण मुंबई में उनके घर जाकर डेढ़ घंटे तक स्टेटमेंट रिकॉर्ड किया गया। उन्होंने कहा कि पंडोले को 4 सितंबर की घटना तुरंत याद नहीं आ सकी थी, जिसमें उनके भाई और साइरस मिस्त्री की मौत हुई थी, जबकि वे और उनकी पत्नी गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

एक्सीडेंट में 5 स्टार सेफ्टी रेटिंग वाली मर्सिडीज का अगला हिस्सा पूरी तरह तबाह हो गया था।
एक्सीडेंट में 5 स्टार सेफ्टी रेटिंग वाली मर्सिडीज का अगला हिस्सा पूरी तरह तबाह हो गया था।

साइरस मिस्त्री के साथ कार में सवार डेरियल पंडोले का बयान आपने पढ़ा, अब आप इस पोल में शामिल होकर अपनी राय दे सकते हैं...

महिला डॉक्टर के ठीक होने का इंतजार
बालासाहेब पाटिल ने बताया कि इस मामले में अभी कार चला रहीं डॉक्टर अनायता पंडोले का बयान दर्ज नहीं हो सका है। उनके ठीक होने के बाद ही पुलिस उनका बयान रिकॉर्ड कर सकेगी। वहीं पुलिस को मर्सिडीज बेंज कंपनी की अंतिम रिपोर्ट का भी इंतजार है।

साइरस मिस्त्री की मर्सिडीज के एक्सीडेंट से जुड़ी भास्कर की ये खबरें भी पढ़ें...

साइरस की कार का आखिरी CCTV वीडियो:मर्सिडीज की स्पीड 134 KMPH थी, महज 9 मिनट में तय की 20 KM की दूरी

साइरस मिस्त्री जिस लग्जरी मर्सिडीज कार में थे, वह करीब 134 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड से चल रही थी। इसका खुलासा कार के आखिरी CCTV फुटेज से हुआ है। कार ने रविवार दोपहर 2 बजकर 21 मिनट पर चरौती का चेक पोस्ट क्रॉस किया था। यहां से हादसे की जगह 20 KM दूर है। मर्सिडीज कार ने यह दूरी महज 9 मिनट में तय की। पढ़ें पूरी खबर...

पुल की खराब डिजाइन से हुआ एक्सीडेंट; सेफ्टी फीचर्स ठीक थे, सीट बेल्ट न लगाने से गई जान

मुंबई-अहमदाबाद हाईवे पर सूर्या नदी के पुल की फॉल्टी डिजाइन की वजह से टाटा ग्रुप के पूर्व चेयरमैन साइरस मिस्त्री की कार हादसे का शिकार हुई। हादसे की जांच के लिए पहुंची IIT खड़गपुर की 7 मेंबर वाली फोरेंसिक टीम ने कार की डिटेल जांच करने के बाद यह रिपोर्ट दी है। जांच टीम ने यह भी पाया कि मर्सिडीज GLC 220 कार के सभी सेफ्टी फंक्शन ठीक तरह से काम कर रहे थे। पढ़ें पूरी खबर...

हाईवे पर 100 KMPH की स्पीड से दौड़ रही थी, हादसे के 5 सेकेंड पहले ब्रेक लगाए

अहमदाबाद-मुंबई हाईवे (NH-98) पर रविवार को डिवाइडर से टकराई साइरस की कार हादसे से ठीक पहले 100 KMPH की स्पीड से दौड़ रही थी। साइरस की कार की जांच के बाद मर्सिडीज कंपनी ने यह जानकारी दी है। कंपनी ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि कार टकराने से 5 सेकेंड पहले डॉक्टर अनायता पंडोले ने ब्रेक लगाए थे, जिससे कार की स्पीड घटकर 89 KMPH पर आ गई थी। पढ़ें पूरी खबर...

साइरस की कार की मिस्ट्री सुलझाने पहुंची विदेशी टीम:हॉन्ग कॉन्ग के इंजीनियरों ने मर्सिडीज की जांच की

मंगलवार (13 सितंबर) को हॉन्ग कॉन्ग से तीन मेंबर्स की स्पेशलाइज्ड टीम ठाणे पहुंची। पुलिस ने मर्सिडीज कंपनी से पूछा था कि उनके टेस्ट और इन्वेस्टिगेशन में मर्सिडीज GLC 220 की कोलिजन इम्पैक्ट की रिपोर्ट क्या है... और क्या कार में कोई मैकेनिकल फॉल्ट था? इसके बाद कंपनी ने बताया कि कार में लगे डेटा रिकॉर्डर चिप को डिकोडिंग के लिए जर्मनी भेजा गया है। पढ़ें पूरी खबर...