• Hindi News
  • National
  • Daily Weather Update| India Rain Alert| Gujarat's Valsad| Floods In Odisha | 10 Fishermen Trapped In Sea In Gujarat's Valsad

ओड़िशा में बारिश-बाढ़ से 4 लाख लोग प्रभावित:गुजरात के वलसाड में समुद्र में फंसे 10 मछुआरों का रेस्क्यू; छत्तीसगढ़ का आंध्र-तेलंगाना से संपर्क टूटा

वलसाड़/बनासकांठा/रायपुर/पटना/भोपालएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

देश के कई राज्यों में बारिश को दौर जारी है। ओडिशा में दो दिनों से हो रही भारी बारिश के कारण कई जिले बाढ़ से प्रभावित हैं। राज्य में बारिश-बाढ़ के कारण 4.67 लाख लोग प्रभावित हैं। गुजरात के बनासकांठा में बुधवार को भारी बारिश से बनास नदी उफान पर आ गई। जिसके चलते पालनपुर-आबू रोड को एक तरफ से बंद कर दिया गया। वलसाड के तट से करीब 13 नॉटकिल मील दूर समुद्र में फंसे 10 मछुआरों का रेस्क्यू किया गया।

दूसरी तरफ छत्तीसगढ़ में लगातार हो रही बारिश से शिवनाथ नदी उफान पर है तो वहीं गोदावरी और शबरी नदी का भी जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। पिछले 9 दिनों से कोंटा के रास्ते छत्तीसगढ़ का आंध्र प्रदेश और तेलंगाना से संपर्क टूटा हुआ है।

हिमाचल में मानसून की बारिश से जान- माल को भारी नुकसान पहुंचा है। राज्य में बीते 49 दिनों में 200 लोगों से ज्यादा की जान सड़क हादसों, बादल फटने, बाढ़, भूस्खलन आदी से हो चुकी है। शिमला जिला में सबसे ज्यादा 34 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 377 लोग घायल हुए है। वहीं, सात लोग लंबे समय से लापता हैं।

गुजरात: दो दिन तक कई जिलों में भारी बारिश की चेतावनी

गुजरात में मानसून का नया राउंड शुरू हो गया है। राज्य के अनेक विस्तारों में मेघराजा जमकर बरस रहे है ऐसे में मौसम विभाग ने मंगलवार को फिर से 8 जिलो में ऑरेंज अलर्ट तथा 17 अगस्त बुधवार को 7 जिलों में यलो अलर्ट घोषित किया है। इसके अलावा दक्षिण गुजरात के 3 जिलों में ऑरेंग्ज अलर्ट घोषित किया गया है।

मौसम विभाग की ओर से आगामी दो दिनों तक भारी बरसात की चेतावनी जारी की गई है। अनवरत बारिश के चलते अहमदाबाद में जगह-जगह जलजमाव की स्थिति उत्पन्न हो गई है।

छत्तीसगढ़: 9 दिनों से NH-30 बंद

छत्तीसगढ़ में लगातार हो रही बारिश से लोगों की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। बारिश की वजह से गोदावरी का वॉटर लेवल 50 फीट से ऊपर पहुंच गया है। बॉर्डर इलाके के वीरापुरम के पास NH-30 पर बाढ़ का पानी चढ़ गया है। पिछले 9 दिनों से मार्ग बंद है, जिससे दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लगी हुई है। ट्रक चालकों को भी भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बुधवार दोपहर तक गोदावरी 51.50 फीट और शबरी नदी 21.530 मीटर पर थी। ओडिशा के हीराकुंड बांध से भी पानी छोड़ा जा रहा है। जिससे गोदावरी और शबरी में जल स्तर बढ़ने लगा है। पूरी खबर यहां पढ़ें...

मध्य प्रदेश: भोपाल में अब तक 92% और प्रदेश में 20% ज्यादा बारिश
राजधानी में 48 घंटे की तेज बारिश के बाद बुधवार को भले ही धूप निकलने से राहत मिल गई हो, लेकिन यह ज्यादा दिन की नहीं है। इसकी वजह यह है कि दो-तीन दिन बाद एक बार फिर लगातार तीन-चार दिन बारिश हो सकती है। अगस्त के आखिरी सप्ताह में हल्की और सितंबर में अच्छी बारिश के आसार है। मौसम विभाग के मुताबिक अगस्त के बाकी बचे 13 दिन में से 6 या 7 दिन बारिश हो सकती है।

19 अगस्त को बंगाल की खाड़ी के उत्तरी हिस्से में बनने की संभावना है। 13 अगस्त को भी यहीं पर ऐसा ही मानसून सिस्टम बना था, जो डिप्रेशन में बदलकर ओडिशा, झारखंड, छत्तीसगढ़, होता हुआ मध्य प्रदेश पहुंचा था। 19 अगस्त को बनने वाले सिस्टम के भी इसी ट्रैक पर ही बढ़ने की संभावना दिख रही है।

मानसून ट्रफ लाइन भी इस दौरान और नीचे खिसक सकती है। यदि ऐसा हुआ तो 20 अगस्त से तीन-चार दिन फिर भोपाल सहित मध्य प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों में बारिश हो सकती है। प्रदेश में अब तक 30.87 इंच बारिश हो चुकी है। अब तक की सामान्य बारिश 25.63 इंच से 20% ज्यादा है।

मौसम विभाग के मुताबिक 20 से 23 अगस्त तक बारिश के दौर के अलावा अगस्त के बाकी दिनों में से 24, 25 को गैप रह सकता है। 26, 27 को हल्की बारिश हो सकती है। फिर 28, 29, 30 को थोड़ी राहत मिलने की संभावना है। उसके बाद 31 से फिर बारिश शुरू हो सकती है।

सितंबर के शुरुआती दो-तीन दिन बारिश, फिर एक हफ्ते का गैप रहने का अनुमान है। 10, 11 सितंबर से दो से तीन दिन फिर बारिश की हो सकती है। इसके बाद कुछ दिन बारिश थमेगी फिर 21 और 22 सितंबर के बाद रिट्रीटिंग रैन यानी मानसून की विदाई के पहले के दौर की हल्की बारिश का अनुमान।

अब नीचे दिए गए मैप के जरिए समझिए कि अगले चार दिनों तक देश में कैसा रहेगा मौसम

यह मैप मौसम विभाग (IMD) की ट्विटर अकाउंट से लिया गया है।
यह मैप मौसम विभाग (IMD) की ट्विटर अकाउंट से लिया गया है।