• Hindi News
  • National
  • Defence Minister Rajnath Singh arrived Patna, He will join the program organized on section 370

बयान / राजनाथ ने कहा- आतंकवाद का कारण अनुच्छेद 370 था; अब देखते हैं, कश्मीर में कितने आतंकी पैदा होते हैं?



रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह। -फाइल रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह। -फाइल
दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम की शुभारंभ करते राजनाथ सिंह। दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम की शुभारंभ करते राजनाथ सिंह।
नित्यानंद राय से बातचीत करते राजनाथ सिंह। नित्यानंद राय से बातचीत करते राजनाथ सिंह।
राजनाथ सिंह को सुनने बड़ी संख्या में पहुंची मुस्लिम महिलाएं। राजनाथ सिंह को सुनने बड़ी संख्या में पहुंची मुस्लिम महिलाएं।
X
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह। -फाइलरक्षा मंत्री राजनाथ सिंह। -फाइल
दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम की शुभारंभ करते राजनाथ सिंह।दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम की शुभारंभ करते राजनाथ सिंह।
नित्यानंद राय से बातचीत करते राजनाथ सिंह।नित्यानंद राय से बातचीत करते राजनाथ सिंह।
राजनाथ सिंह को सुनने बड़ी संख्या में पहुंची मुस्लिम महिलाएं।राजनाथ सिंह को सुनने बड़ी संख्या में पहुंची मुस्लिम महिलाएं।

  • रक्षा मंत्री ने पटना में कहा- मोदी ने सपना इसलिए पूरा किया, क्योंकि हम लोग आंखें खोलकर सपना देखते हैं
  • राजनाथ सिंह ने कहा- अनुच्छेद 370 हमारे संविधान के लिए एक नासूर था, इसने कश्मीर को तबाह कर दिया था

Dainik Bhaskar

Sep 22, 2019, 05:27 PM IST

पटना. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को कहा कि कश्मीर में आतंकवाद को जन्म देने में अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35ए की बड़ी भूमिका रही। इसने कश्मीर को रक्तरंजित कर दिया था। रक्षा मंत्री ने कहा कि अब देखते हैं कि पाकिस्तान में कितनी हिम्मत है और कश्मीर में कितने आतंकवादी पैदा होते हैं?

 

राजनाथ ने कहा- अनुच्छेद 370 हमारे संविधान के लिए एक नासूर बन चुका था। इसने हमारे हृदय और हमारे कश्मीर को तबाह कर दिया था। हर कोई सपना देखता है। लोग कहते हैं कि उनके पास भी सपना है, लेकिन वह पूरा नहीं हो सकता। हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे पूरा कर दिया और दिखा दिया कि अगर हम आंखें खोलकर सपना देखें तो इसे हकीकत में बदल सकते हैं।

 

पाकिस्तान फिर दो टुकड़ों में बंट जाएगा: राजनाथ

उन्होंने कहा, “आप देख सकते हैं कि वे हतोत्साहित हो रहे हैं। पाक प्रधानमंत्री पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर आते हैं और वहां के लोगों से सीमा पर नहीं जाने की बात कहते हैं। वे ऐसा बोलकर अच्छा करते हैं क्योंकि अगर वे आ गए तो फिर भारत से वापस नहीं जा पाएंगे। उन्हें 1965 और 1971 को दोहराने की गलती नहीं करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि वे इसे दोहराते हैं तो उन्हें सोचना चाहिए कि पाक के कब्जे वाला कश्मीर क्या बन जाएगा। वहां पर बलूच और पश्तून के खिलाफ मानवाधिकार का उल्लंघन हो रहा है। यदि यह लगातार दोहराया जाता है तो पाकिस्तान को दो टुकड़ों में बंटने से कोई ताकत नहीं रोक सकती।”

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना