• Hindi News
  • National
  • Delhi Airport (DEL) News Update | Delhi International Airport Flight Operations Today Latest News Updates On IGI Airport Lockdown Plan

दिल्ली एयरपोर्ट का प्लान / उड़ानें शुरू होने पर विजिटर्स एंट्री बंद रहेगी, यात्रियों के सामान को प्लेन में चढ़ाने से पहले और उतारने के बाद डिसइन्फेक्शन टनल से गुजारा जाएगा

X

  • दिल्ली एयरपोर्ट ने लॉकडाउन का एग्जिट प्लान बनाया और इसके लिए गाइडलाइन जारी की
  • जब सरकार उड़ानें शुरू करने की इजाजत देगी तो एयरपोर्ट के टर्मिनल-3 से शुरुआत की जाएगी
  • सामान रखने वाली ट्रे, वॉशरूम, काउंटर, लिफ्ट जैसी जगहों को बार-बार सैनिटाइज किया जाएगा

दैनिक भास्कर

May 04, 2020, 08:43 PM IST

नई दिल्ली. दिल्ली एयरपोर्ट ने लॉकडाउन का एग्जिट प्लान बनाया है। इसके तहत जब भी सरकार उड़ानें शुरू करने की इजाजत देगी, तब दिल्ली एयरपोर्ट पर स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर फॉलो किया जाएगा। इसके लिए रविवार को जारी हुई गाइडलाइन में दो बातों पर फोकस किया गया है। पहला- सोशल डिस्टेंसिंग और दूसरा सैनिटाइजेशन या डिसइन्फेक्शन प्रोसेस। टर्मिनल पर विजिटर्स एंट्री भी बंद रहेगी। यात्रियों के सामान को अल्ट्रा वॉयलेट डिसइन्फेक्शन टनल से गुजारा जाएगा। एयरपोर्ट पर ही मास्क, ग्लव्ज खरीदे जा सकेंगे।

एयरपोर्ट से डिपार्चर पर ये होंगे टच पॉइंट्स और आपको यह करना होगा
1. दिल्ली एयरपोर्ट में कहां से उड़ानों की शुरुआत होगी?

 दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट के टर्मिनल-3 से कमर्शियल उड़ानें शुरू की जाएंगी। भीड़ से बचने के लिए हर एयरलाइन का एंट्री गेट अलग होगा। उड़ानें शुरू होने के बाद विजिटर्स की टर्मिनल में एंट्री बंद रहेगी। इससे पहले टर्मिनल-3 पर विजिटर एंट्री पास खरीदने की सुविधा थी। आप जब एयरपोर्ट के टर्मिनल पर जाएंगे तो सबसे पहले आपके टच में आने वाली चीज बैगेज रखने वाली ट्रॉली होगी, लेकिन चिंता न कीजिए हर इस्तेमाल के बाद ट्रॉली डिसइन्फेक्शनल टनल में सैनिटाइज की जाएगी।  इसके बाद आप सीआईएसएफ की टिकट चेकिंग से होकर गुजरेंगे। यहां पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। 

फ्लाइट में चढ़ाए जाने वाले सभी बैगेज और फ्लाइट से उतरने के बाद सभी बैगेज को अल्ट्रा वॉयलेट डिसन्फेक्शनल टनल से गुजारा जाएगा।

2. चेक इन काउंटर
सीआईएसएफ की चेकिंग के बाद आपको चेक-इन करना होगा। एयरपोर्ट में सेल्फ चेक-इन मशीनें अलॉट कर दी जाएंगी। साथ ही आपको बोर्डिंग पास को पहले ही प्रिंट करके लाना होगा। उसमें अपना नाम और फ्लाइट डिटेल्स को हाईलाइट भी करना होगा ताकि एयरपोर्ट पर आपके लिए कम से कम टच पॉइंट्स रहें। इस दौरान स्कैन एंड फ्लाई जैसी सुविधाओं के इस्तेमाल को बढ़ावा दिया जाएगा ताकि कॉन्टैक्ट-लेस चेक इन हो। 

एयरपोर्ट पर आपका टेम्परेचर स्कैन भी किया जाएगा। उसके लिए तैयार रहें।

टर्मिनल के अंदर, उसके आसपास और चेक इन काउंटर्स पर सोशल डिस्टेंसिंग के लिए फ्लोर पर मार्किंग रहेगी। आपको इन मार्क का ध्यान रखना होगा, जिससे सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन रहे।

टर्मिनल के अंदर, उसके आसपास और चेक इन काउंटर्स पर सोशल डिस्टेंसिंग के लिए फ्लोर पर मार्किंग रहेगी।

3. सीआईएसएफ की तरफ से सिक्युरिटी चेक
चेक-इन के बाद के पड़ाव में आपको सीआईएसएफ की सिक्युरिटी चेक से गुजरना होगा। इस दौरान फ्लाइट में चढ़ाए जाने वाले सभी बैगेज को अल्ट्रा वॉयलेट डिसन्फेक्शनल टनल से गुजारा जाएगा। एक्सरे मशीन में सामान की जांच के लिए ट्रे का इस्तेमाल किया जाएगा। इन ट्रे को भी एक बार इस्तेमाल के बाद डिसइन्फेक्ट किया जाएगा। 

4. वेटिंग रूम, फूड कोर्ट में बनानी होगी सोशल डिस्टेंसिंग
 सिक्युरिटी चेक इन के बाद आप अंदर पहुंच जाएंगे। यहां पर सिटिंग एरिया में तय दूरी पर कुर्सियां रखी जाएंगी ताकि लोग एक-दूसरे से दूरी बनाकर ही बैठें।

सिटिंग एरिया में तय दूरी पर कुर्सियां रखी जाएंगी ताकि लोग एक-दूसरे से दूरी बनाकर ही बैठें।

फूड कोर्ट में खाना ऑर्डर करने के लिए कतार न लगे, इसके लिए सेल्फ ऑर्डरिंग कियोस्क बनाए जाएंगे। इस दौरान आपसे एचओआई ऐप डाउनलोड करने को कहा जाएगा ताकि कॉन्टैक्ट-लेस पेमेंट हो। फूड कोर्ट में सभी रिटेल शॉप्स खुली रखी जाएंगी ताकि किसी एक जगह पर भीड़ न हो।

लिफ्ट, कैब के लिए पेमेंट बूथ्स और पिक अप एंड ड्रॉप पॉइंट्स पर भी सोशल डिस्टेंसिंग के लिए मार्किंग नजर आएगी।

जब आप प्लेन में दाखिल होने के लिए एयरो ब्रिज पर जाएंगे तो वहां भी काली-पीले रंग की पट्‌टी नजर आएंगी। यहां भी आपको सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन रखनी होगी।

टर्मिनल के अंदर, उसके आसपास और चेक इन काउंटर्स पर सोशल डिस्टेंसिंग के लिए फ्लोर पर मार्किंग रहेगी।

अराइवल टच पॉइंट्स
प्लेन से दिल्ली आने वाले यात्रियों के टच प्वाइंट्स भी तय किए हैं। ये टच प्वाइंट्स एयरोब्रिज या बिजनेस गेट्स, वॉशरूम, लिफ्ट, बैगेज बेल्ट का वेटिंग एरिया, इमिग्रेशन, बैगेज सैनिटाइजेशन, बैगेज ट्रॉली हैं।फ्लाइट से उतरने के बाद एक बार फिर सभी बैगेज को अल्ट्रा वॉयलेट डिसन्फेक्शनल टनल से गुजारा जाएगा। बैगेज बेल्ट में लोग अपने सामान का इंतजार कर रहे होते हैं। वहां भी भीड़ से बचने के लिए सिटिंग अरेंजमेंट रहेगा। इसके साथ ही टर्मिनल के बाहर परिवार से मुलाकात या कैब की बुकिंग भी टच प्वाइंट्स माने गए हैं। यहां पर यात्रियों को ऐहतियात रखना होगा।

सैनिटाइजेशन: हर जगह सैनिटाइज होगी, एयर सर्कुलेशन का भी ध्यान रखा जाएगा

  • दिल्ली एयरपोर्ट ने टर्मिनल के अंदर और बाहर सैनिटाइजेशन के लिए भी स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर तय कर दिया है।
  • यात्रियों और एयरपोर्ट स्टाफ के हैंड हाइजीन के लिए पूरे टर्मिनल पर जगह-जगह सैनिटाइजर रखे मिलेंगे।
टर्मिनल के अंदर और बाहर हर जगह सैनिटाइजेशन का काम किया जाएगा। 
  • पैसेंजर ब्रिज और बस गेट अराइवल जैसी जगहों पर भी सैनिटाइजर रखा होगा।
  • टर्मिनल के अंदर एयर सर्कुलेशन का ध्यान रखा जाएगा।
  • वॉशरूम, वॉटर फाउंटेन, काउंटर, सिक्युरिटी स्क्रीनिंग एरिया, टच स्क्रीन, कम्युनिकेशन स्क्रीन, ट्रैवलेटर और लिफ्ट लगातार सैनिटाइज होंगी।
  • पीपीई के साथ कोई सफर कर रहा है तो उसके डिस्पोजल के लिए अलग डस्टबिन होंगे।
  • एयरपोर्ट पर मौजूद कैब सर्विस प्रोवाइडर्स से कहा जाएगा कि वे हर बार किसी यात्री के बैठने से पहले कैब को डिसइन्फेक्ट करें।
  • एयरपोर्ट स्टाफ को भी जहां जरूरत है, वहां पीपीई किट्स दी जाएंगी।
  • एयरपोर्ट स्टाफ का हर इम्प्लॉई हर हफ्ते एक इंटरनल ऐप के जरिए अपनी सेहत के बारे में सेल्फ डिक्लेरेशन देगा।
  • एयरपोर्ट के अंदर ही मास्क, ग्लव्ज, पीपीई बेचने के लिए अस्थाई काउंटर बनाए जाएंगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना