सहमति / दिल्ली सरकार 1500 करोड़ रुपए का उदयपुर हाउस वापस राजस्थान को देगी



Delhi Government will give Rs 1500 crore Udaipur House back to Rajasthan
X
Delhi Government will give Rs 1500 crore Udaipur House back to Rajasthan

  • दिल्ली के सिविल लाइंस स्थित 12 हजार वर्गमीटर में फैला हाउस उदयपुर के महाराजा का निवास था
  • आजादी के बाद यह संपत्ति राजस्थान सरकार के हिस्से आ गई थी, अभी यह दिल्ली सरकार के कब्जे में है

Dainik Bhaskar

Aug 03, 2019, 06:16 AM IST

जयपुर. दिल्ली के सिविल लाइंस स्थित 12 हजार वर्गमीटर में फैला करीब 1500 कराेड़ की कीमत वाला उदयपुर हाउस अब जल्द राजस्थान सरकार को वापस मिल जाएगा।

 

पहले यह उदयपुर के महाराजा का निवास था। लेकिन आजादी के बाद यह संपत्ति राजस्थान सरकार के हिस्से आ गई थी। अभी यह दिल्ली सरकार के कब्जे में है। पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट ने दोनों सरकारों को सहमति से विवाद निपटाने के निर्देश दिए थे। शुक्रवार को दोनों सरकारों के प्रतिनिधियों के बीच हुई बैठक में इसे राजस्थान काे साैंपने पर सहमति बनी। राजस्थान की तरफ से मुख्य सचिव डीबी गुप्ता बैठक में शामिल हुए। अब दिल्ली सरकार 5 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट में होने वाली अगली सुनवाई में उदयपुर हाउस खाली कर राजस्थान को सौंपने की सहमति पेश करेगी।

 

सीएस डीबी गुप्ता ने बताया कि आजादी के बाद राजस्थान ने उदयपुर हाउस दिल्ली सरकार को किराए पर दिया था। दिल्ली सरकार ने 1965 के बाद किराया देना बंद कर दिया। उसके बाद लगातार कागजी कार्रवाई चलती रही लेकिन समाधान नहीं निकला। अब सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर दोनों सरकारों में आपसी सहमति बन गई है। गुप्ता ने बताया कि राजस्थान सरकार ने दिल्ली सरकार को इसके बदले में इसी कीमत की जमीन कहीं और जगह देने का विकल्प दिया था लेकिन ग्रीन ट्रिब्यूनल की अड़चन के कारण समझौता नहीं हो सका था।

 

2010 में भी तत्कालीन सरकार में मुख्यमंत्री रहे अशोक गहलोत ने उदयपुर हाउस राजस्थान को वापस सौंपे जाने के लिए दिल्ली सरकार से बातचीत की थी। लेकिन तब दिल्ली सरकार इसके लिए राजी नहीं हुई। इसके बाद आई वसुंधरा सरकार उदयपुर हाउस काे तो नहीं ले पाई लेकिन इसकी तरह बेशकीमती बीकानेर हाउस काे अपने कब्जे में ले लिया था।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना