• Hindi News
  • National
  • Ajit Doval Delhi Violence | Ajit Doval Delhi Jafrabad Visit Today Latest News And Updates; Student On National Security Advisor (NSA

छात्रा ने डोभाल से कहा- हम हमारे घर में ही महफूज नहीं; महिला बोली- आप नहीं आते तो हार्ट फेल हो जाता

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने दिल्ली के हिंसा प्रभावित लोगों से मुलाकात की।
  • राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने जाफराबाद जैसे इलाकों का दौरा किया
  • छात्रा ने डोभाल से कहा- यहां जो भी हो रहा है, उससे हम रातों को सो नहीं पा रहे
  • डोभाल ने छात्रा को सुरक्षा का आश्वासन दिया, कहा- आप इत्मिनान रखें

नई दिल्ली. देश की राजधानी में 4 दिन की हिंसा के बाद बुधवार दोपहर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल दंगा प्रभावित क्षेत्रों में पहुंचे। उन्होंने जाफराबाद जैसे इलाकों का दौरा किया। दौरे के बाद जब डोभाल मीडिया से बातचीत कर रहे थे, तभी एक छात्रा वहां पहुंची। छात्रा ने उनसे तीखे सवाल किया। उसने कहा- 'सर, यह हमारा घर है और हम हमारे घर में ही महफूज नहीं हैं। मैं स्टूडेंट हूं और पढ़ने नहीं जा पा रही हूं। आप कुछ कड़े कदम उठाइए। हमें आप पर यकीन है।' छात्रा की पूरी बात सुनने के बाद डोभाल ने कहा- 'मैं आपको जुबान देता हूं।' इससे पहले एक महिला ने डोभाल से कहा- आप नहीं आते तो हार्ट फेल हाे जाता। इस बीच, दिल्ली पुलिस ने हिंसा प्रभावित सीलमपुर इलाके में एक महीने के लिए धारा 144 लागू कर दी है।

एनएसए डोभाल ने जाफराबाद में दंगा प्रभावित इलाकों का दौरा किया। उन्होंने मीडिया से कहा- मैं इस इलाके में आया। सब से मिला। गलियों में भी गया। लोगों के घरों में भी गया। आप लोग भी साथ थे। लोगों के अंदर में एकता की भावना है। कोई दुश्मनी नहीं है। कोई दो-चार-दस क्रिमिनल इस तरह का काम करते हैं। उन्हें लोग अलग करने की कोशिश कर रहे हैं। दोनों समुदाय के लोग साथ हैं। पुलिस मुस्तैदी से काम कर रही है। ये इंतजामिया की जिम्मेदारी है कि वह हर एक को महफूज रखे। प्रधानमंत्री और गृह मंत्री ने हमें यहां भेजा है। हम चाहते हैं कि अमन हो जाए। इंशाअल्लाह बिल्कुल अमन होगा। मेरा संदेश यही है कि हर एक आदमी जो अपने देश को प्यार करता है, वह अपने समाज को भी प्यार करता है। उन्हें सभी लोगों के साथ एकता, सहानुभूति और समरसता के साथ काम करना चाहिए। इस मोहल्ले में सबसे ज्यादा गोलियां चली थीं। यहां लोगों ने शांति के झंडे लगाए रखे हैं। अब कहीं हिंसा नहीं है।

जब डोभाल मीडिया से बात कर रहे थे, इसी दौरान बुर्के में एक लड़की वहां पहुंचा। उसे देख डोभाल ने मीडियाकर्मियों को शांत किया और कहा- मुझे उनकी बात सुनने दीजिए।
छात्रा : यहां जो भी हो रहा है। हम रातों को सो नहीं पा रहे हैं।
डोभाल : आप सोइए। अब कोई दिक्कत नहीं है।
छात्रा : लेट मी कम्प्लीट सर। वी आर नॉट फीलिंग सेफ। यहां बहुत अकम्फर्टेबल फील होने लगा है। मैं स्टूडेंट हूं, लेकिन पढ़ने नहीं जा पा रही हूं। ये बहुत अजीब बात है। हमारे भाई जो यहां रहते हैं, वे हमें प्रोटेक्ट कर रहे हैं। यहां उन लोगों की दुकानें जला दी गई हैं। ये हमारा घर है, फिर भी हम महफूज नहीं हैं। हम किसी से लड़ नहीं रहे हैं।
डोभाल : आपकी बात मैंने सुन भी ली और समझ भी ली। आपने जो मुझसे कहा, वही बात दूसरे लोगों ने भी मुझसे कही है। अब मैंने उन्हें भरोसा दिलाया है कि अब आपको फिक्र करने की जरूरत नहीं है। पुलिस और सरकार की जिम्मेदारी आपको बचाने की है।
छात्रा : पुलिस अपना काम नहीं कर रही है सर। जबकि यह उनका काम है।
डोभाल : आप इत्मिनान रखें।
छात्रा : नहीं सर। मैं यहां तक खास तौर पर सिर्फ आपसे बात करने आई हूं। कृपया हमारे लिए कुछ कड़े कदम उठाइए। हमें आप पर भरोसा है सर। यहां आने के लिए शुक्रिया।
डोभाल : ओके। ओके। मैं आपको जुबान देता हूं। हम यहां पीएम साहब और एचएम साहब के हुक्म से आए हैं।

महिला ने कहा- आप नहीं आते तो हार्ट फेल हो जाता, डोभाल से कहा- इतना कच्चा हार्ट मत रखा करो कि फेल हो जाए
इससे पहले डोभाल ने अलग-अलग इलाकों का दौरा किया। उन्होंने राहगीरों से कहा- जरा सी भी तकलीफ हो तो बताएं। यह सारी की सारी फोर्स लगी है आपकी सुरक्षा के लिए। इसके बाद वे एक महिला से मिले। महिला ने एक पुलिस अफसर की तरफ इशारा कर डोभाल से कहा- ये भाईसाहब आएं हैं तब से तो हम चैन ले पा रहे हैं। नहीं तो हमारा हार्ट फेल हो जाते। इस पर डोभाल ने कहा- कोई हार्ट फेल नहीं होता। इतना कच्चा हार्ट मत रखा करो कि फेल हो जाए। इस पर महिला ने कहा- अब आप आ गए हैं। हमें टेंशन नहीं हैं। प्रेम की भावना बनाकर रखिए। 

वीडियो साभार- न्यूज18