• Hindi News
  • National
  • Delhi Weekend Lockdown Guideline Update; DDMA Imposed Curfew Amid Rise In Omicron Variant Case | Delhi News

दिल्ली में कोरोना मरीजों के लिए 40% बेड रिजर्व:तीसरी लहर देखकर सरकार के आदेश, डॉक्टरों का होने लगा संकट, राजधानी में वीकेंड कर्फ्यू भी रहेगा

नई दिल्ली9 महीने पहले

दिल्ली में 50 बेड से ज्यादा की क्षमता वाले सभी प्राइवेट हॉस्पिटल्स को 40% बेड कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व करने होंगे। दिल्ली सरकार ने मंगलवार को इसे लेकर आदेश जारी किया है। वहीं, कोरोना महामारी से जूझ रही दिल्ली में डॉक्टरों का भी संकट खड़ा हो गया है। अधिकारियों ने बताया- अब तक एम्स के 50 और सफदरजंग हॉस्पिटल के 26 डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं। कुछ वक्त पहले राम मनोहर लोहिया हॉस्पिटल में 38 डॉक्टरों समेत 45 हेल्थ वर्कर्स कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गए थे।

राजधानी में लगाया गया वीकेंड कर्फ्यू
दिल्ली में बढ़ते कोरोना केस और ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए वीकेंड कर्फ्यू लगा दिया गया है। शनिवार और रविवार को दिल्ली पूरी तरह बंद रहेगी। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बताया कि दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (DDMA) की बैठक में यह फैसला लिया गया है।

उन्होंने बताया कि जरूरी सेवाओं को छोड़कर सभी सरकारी ऑफिस में कर्मचारियों को घर से काम करने को कहा जाएगा। वहीं, प्राइवेट ऑफिस 50% कैपेसिटी के साथ काम करेंगे।

पॉजिटिविटी रेट बढ़ने पर लिया गया फैसला
दिल्ली के ग्रेडेड रिस्पॉन्स एक्शन प्लान (GRAP) के मुताबिक 5% से ज्यादा पॉजिटिविटी रेट रेड अलर्ट की कैटेगरी में आता है। दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट फिलहाल 8.7% है, जो कि मई के बाद सबसे ज्यादा है।

सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली में ओमिक्रॉन के मामले रोज बढ़ते जा रहे हैं। पिछले 8 से 10 दिनों के अंदर करीब 11,000 कोरोना केस मिले थे। इनमें से करीब 350 पेशेंट्स अस्पताल में भर्ती हैं। वहीं, 124 पेशेंट्स को ही ऑक्सीजन की जरूरत पड़ी। 7 पेशेंट्स अभी भी वेंटिलेटर पर हैं।

बढ़ाई जा सकती हैं पाबंदियां
दिल्ली के हेल्थ मिनिस्टर सत्येंद्र जैन ने कहा है कि राजधानी में कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह ओमिक्रॉन है। दिल्ली में मंगलवार को 5481 नए कोरोना केस सामने मिले हैं और 3 पेशेंट की मौत हुई। अस्पताल में भर्ती होने वाले पेशेंट्स की संख्या बढ़ने पर और भी प्रतिबंध लगाए जा सकते हैं।

पब्लिक ट्रांसपोर्ट पूरी क्षमता के साथ चलेंगे
सिसोदिया ने बताया कि दिल्ली में बसें और मेट्रो फिर से पूरी क्षमता के साथ चलेंगी, लेकिन बसों और मेट्रो में बिना मास्क के लोगों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। पिछले महीने ही मेट्रो और बसों को 50% कैपेसिटी के साथ चलाने का फैसला लिया गया था।

इसके बाद स्टेशन और बस स्टॉप के बाहर लोगों की लंबी कतार देखी गई और जनता को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा था। कई इलाकों से बसों में तोड़फोड़ की खबरें भी सामने आईं। सीट पर बैठने को लेकर अफरा-तफरी भी देखी गई।