• Hindi News
  • National
  • Priyanka Gandhi: Congress leader Priyanka Gandhi Vadra, Tweet Reaction On Narendra Modi Government Over Demonetisation E

प्रतिक्रिया / नोटबंदी ने हमारी अर्थव्यवस्था नष्ट कर दी, इस ‘तुगलकी’ कदम की जिम्मेदारी अब कौन लेगा: प्रियंका



प्रियंका गांधी। -फाइल फोटो प्रियंका गांधी। -फाइल फोटो
X
प्रियंका गांधी। -फाइल फोटोप्रियंका गांधी। -फाइल फोटो

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 नवंबर 2016 नोटबंदी की थी, शुक्रवार को इसके तीन साल पूरे हो गए
  • राहुल गांधी ने कहा- नोटबंदी ने कई लोगों की जान ली, छोटे व्यापारियों को खत्म किया और लाखों भारतीय बेरोजगार हुए
  • प्रियंका ने कहा- सरकार और इसके नीमहकीमों द्वारा किए गए ‘नोटबंदी सारी बीमारियों का शर्तिया इलाज’ के सारे दावे धराशायी हो गए
  • ममता बनर्जी ने कहा- नोटबंदी के बाद से आर्थिक आपदा शुरू हुई, जिससे किसान, युवा और व्यापारी प्रभावित हुए

Dainik Bhaskar

Nov 08, 2019, 11:42 AM IST

नई दिल्ली. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने नोटबंदी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसा है। प्रियंका ने शुक्रवार को ट्वीट किया, ‘‘नोटबंदी को तीन साल हो गए। सरकार और इसके नीमहकीमों द्वारा किए गए ‘नोटबंदी सारी बीमारियों का शर्तिया इलाज’ के सारे दावे एक-एक करके धराशायी हो गए। नोटबंदी एक आपदा थी जिसने हमारी अर्थव्यवस्था नष्ट कर दी। इस ‘तुग़लकी’ कदम की जिम्मेदारी अब कौन लेगा?’’

 

मोदी सरकार ने 8 नवंबर 2016 नोटबंदी की थी। शुक्रवार को इसके तीन साल पूरे हो गए। प्रियंका ने अर्थव्यवस्था को लेकर गुरुवार को ट्वीट किया था, ‘‘देश में अर्थव्यवस्था की हालत एकदम पतली है। सेवा क्षेत्र औंधे मुंह गिर चुका है। रोजगार घट रहे हैं। शासन करने वाला अपने में ही मस्त है, जनता हर मोर्चे पर त्रस्त है।’’

 

‘नोटबंदी के आतंकी हमले ने अर्थव्यवस्था को बर्बाद किया’
पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘‘तीन साल पहले हुए नोटबंदी के आतंकी हमले ने अर्थव्यवस्था के बर्बाद कर दिया। इसने कई लोगों की जान ली, लाखों छोटे व्यापारियों को खत्म कर दिया और लाखों भारतीय बेरोजगार हुए। जिन लोगों ने यह किया, उनको कटघरे में लाना बाकी है।’’

 

 

‘अर्थव्यवस्था के लिए नोटबंदी विनाशकारी साबित हुई’

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ट्वीट किया, ‘‘मैंने नोटबंदी की घोषणा के तुरंत बात ही कह दिया था कि यह अर्थव्यवस्था और लाखों लोगों के लिए विनाशकारी होगी। नामी अर्थशास्त्रियों, आम लोग और सभी विशेषज्ञ भी अब इस बात से सहमत हैं। आरबीआई के आंकड़ों ने भी यही बताया। नोटबंदी के बाद से आर्थिक आपदा शुरू हो गई थी। किसान, युवा, कर्मचारी और व्यापारी सभी इससे प्रभावित हुए।’’

 

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना