--Advertisement--

अयोध्या विवाद / दिल्ली में संतों की बैठक, राम जन्मभूमि न्यास के प्रमुख ने कहा- दिसंबर से बनेगा मंदिर



धर्मदेश कार्यक्रम में देश भर के संतों ने हिस्सा लिया। धर्मदेश कार्यक्रम में देश भर के संतों ने हिस्सा लिया।
रामजन्म भूमि न्यास के प्रमुख रामविलास वेदान्ती। रामजन्म भूमि न्यास के प्रमुख रामविलास वेदान्ती।
Dharmadesh two-day meeting of Hindu saints, govt bring bill on ram mandir
X
धर्मदेश कार्यक्रम में देश भर के संतों ने हिस्सा लिया।धर्मदेश कार्यक्रम में देश भर के संतों ने हिस्सा लिया।
रामजन्म भूमि न्यास के प्रमुख रामविलास वेदान्ती।रामजन्म भूमि न्यास के प्रमुख रामविलास वेदान्ती।
Dharmadesh two-day meeting of Hindu saints, govt bring bill on ram mandir

  • दिल्ली में संतों के कार्यक्रम में मंदिर निर्माण शुरू करने की बात कही गई
  • उत्तर प्रदेश सरकार अयोध्या में भगवान राम की 151 मीटर ऊंची मूर्ति बनाएगी
  • उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा- प्रतिमा बनाने से हमें कोई नहीं रोक सकता

Dainik Bhaskar

Nov 03, 2018, 05:55 PM IST

नई दिल्ली. राम मंदिर निर्माण को लेकर दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में संतों की दो दिवसीय बैठक शनिवार को शुरू हुई। इस दौरान रामजन्म भूमि न्यास के प्रमुख रामविलास वेदान्ती ने कहा कि राम मंदिर निर्माण दिसंबर से शुरू हो जाएगा। यह बिना किसी अध्यादेश के आपसी सहमति से होगा। अयोध्या में राम मंदिर और लखनऊ में मस्जिद का निर्माण होगा। 


राम मंदिर निर्माण से जुड़े एक सवाल पर योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा, "अगर न्यायालय से इस मामले में देरी हुई तो संसद में जरूर इसका बिल आएगा। इसे आना भी चाहिए। राम जन्मभूमि पर राम का मंदिर नहीं बनेगा तो किसका बनेगा? संतों, राम भक्तों ने संकल्प किया, अब राम मंदिर में और देर नहीं, मुझे लगता है, इसी साल इस मामले में शुभ समाचार मिलेगा।" 

 

1992 के वक्त जैसी टालमटोली कर रहा कोर्ट- राम माधव

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने कहा, "यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि 1992 के पहले की न्यायिक परिस्थितियां फिर से बन रही हैं। उस समय राम मंदिर निर्माण को लेकर टाल-मटोल हुई थी। इसी के चलते वहां उस वक्त कुछ ऐसे नतीजे आए थे, जिसकी कई प्रकार से व्याख्या की जा सकती है। उसी प्रकार की देरी फिर से हमारे धर्म में सुप्रीम कोर्ट के माध्यम से हो रही है। ये राजनीतिक मुद्दा नहीं है। पहले सुप्रीम कोर्ट ने अक्टूबर से इस मामले में अलग बेंच द्वारा सुनवाई करने की बात कही थी। मैं मानता हूं कि सुप्रीम कोर्ट के अपने अलग मुद्दे हो सकते हैं। अब जनवरी से मामले की सुनवाई करने की बात कर रहे हैं। इससे हिंदू संगठनों में नाराजगी पैदा हुई। आरएसएस ने उसी को लेकर अपना पक्ष रखा है।"


6 नवंबर को राम की 151 मीटर मूर्ति की आधारशिला रखेंगे योगी
अयोध्या में सरयू नदी के तट पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ छह नवम्बर को भगवान राम की मूर्ति की आधारशिला रखेंगे। मूर्ति की ऊंचाई 151 मीटर होगी। इसकी लागत 330 करोड़ रुपए है। यह मूर्ति कांस्य धातु से बनेगी।

 

राम की प्रतिमा बनने से कोई नहीं रोक सकता: केशव प्रसाद 
उत्तरप्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा- राम मंदिर मुद्दा सुप्रीम कोर्ट में है। इस मामले में हम कुछ नहीं कर सकते। लेकिन कोई अयोध्या में भगवान राम की भव्य मूर्ति बनने से नहीं रोक सकता। अगर इसे कोई रोकता है तो हम देख लेंगे। अयोध्या का विकास करने से हमें कोई नहीं रोक सकता।

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..