• Hindi News
  • National
  • Twitter New It Rules 2021 News | Dharmendra Chatur Recently Appointed As Interim Resident Grievance Officer For India By Twitter Has Quit From The Post

ट्विटर फिर मुश्किल में:भारत में कंपनी के अंतरिम शिकायत अधिकारी ने पद छोड़ा, नए IT नियमों के तहत कुछ दिन पहले अपॉइंट हुए थे

नई दिल्ली4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भारत में ट्विटर की ओर से अपॉइंट किए गए ग्रीवांस ऑफिसर ने नियुक्ति के एक हफ्ते बाद ही अपना पद छोड़ दिया है। ग्रीवांस ऑफिसर की नए IT नियमों के तहत नियुक्ति की गई थी। उसका काम यूजर की शिकायतें सुनना है।

सूत्रों के मुताबिक, धर्मेंद्र चतुर को हाल ही में ट्विटर ने भारत में अंतरिम ग्रीवांस ऑफिसर नियुक्त किया था। उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। सोशल मीडिया कंपनी की वेबसाइट पर अब उनका नाम नहीं दिख रहा है। ऐसा किया जाना IT रूल्स 2021 के तहत जरूरी है। हालांकि, ट्विटर ने इस पर कोई कमेंट करने से इनकार कर दिया है।

यह मामला ऐसे समय में सामने आया है, जब माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म की नए सोशल मीडिया नियमों को लेकर भारत सरकार के साथ तनातनी चल रही है। सरकार ने नियमों को न मानने और देश के नए आईटी नियमों का पालन करने में नाकामी के लिए ट्विटर को फटकार लगाई है।

नए नियमों के मुताबिक, नियुक्ति जरूरी
25 मई से लागू हुए नए नियमों के मुताबिक, सोशल मीडिया कंपनियों को अपने यूजर्स या पीड़ितों की शिकायतें दूर करने के लिए मैकेनिज्म बनाना जरूरी है। इसके तहत 50 लाख से ज्यादा यूजर बेस वाली सभी सोशल मीडिया कंपनियां ऐसी शिकायतों से निपटने के लिए एक शिकायत अधिकारी नियुक्त करेंगी।

साथ ही ऐसे अधिकारियों के नाम और कॉन्टैक्ट सहित पूरी जानकारी शेयर करेंगी। बड़ी सोशल मीडिया कंपनियों को एक चीफ कम्प्लायंस ऑफिसर, एक नोडल कॉन्टैक्ट पर्सन और एक ग्रीवांस ऑफिसर अपॉइंट करना है। वे सभी भारत में रहने चाहिए।

अब अधिकारी की जगह कंपनी का नाम
ट्विटर ने 5 जून को सरकार की ओर से जारी आखिरी नोटिस के जवाब में कहा था कि वह नए IT नियमों का पालन करने का इरादा रखता है और चीफ कम्प्लायंस ऑफिसर की डिटेल शेयर करेगा। इस बीच, माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ने धर्मेंद्र चतुर को भारत के लिए अंतरिम ग्रीवांस ऑफिसर नियुक्त किया था।

ट्विटर अब भारत के शिकायत अधिकारी की जगह पर कंपनी का नाम, अमेरिका के पते और ईमेल ID दिखाता है। एक सरकारी अधिकारी के अनुसार, कंपनी ने इंटरमीडियरी के रूप में लीगल प्रोटेक्शन खो दी है। अब अपने यूजर की पोस्ट के कंटेंट के लिए कानूनी रूप से जिम्मेदारी कंपनी की होगी।

खबरें और भी हैं...