• Hindi News
  • National
  • Congress President Election Nomination Update; Digvijay Singh Ashok Gehlot Rahul Gandhi Sonia Gandhi

कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव नामांकन का आखिरी दिन कल:भारत जोड़ो यात्रा बीच में छोड़ दिग्विजय की दिल्ली रवानगी; गहलोत बोले- मैं नहीं लडूंगा चुनाव

2 महीने पहले
यह तस्वीर 2018 की है, जब अशोक गहलोत नर्मदा परिक्रमा के दौरान दिग्विजय सिंह से डिंडौरी में मिले थे।

कन्याकुमारी से कश्मीर तक भारत जोड़ो यात्रा निकाल रही कांग्रेस के अध्यक्ष पद के चुनाव की गुत्थी उलझती जा रही है। राजस्थान के घटनाक्रम के बाद दिग्विजय सिंह बुधवार को भारत जोड़ो यात्रा बीच में छोड़कर केरल के मलप्पुरम से दिल्ली रवाना हुए। माना जा रहा है कि वे शुक्रवार को अध्यक्ष पद के लिए नामांकन दाखिल कर सकते हैं।

AICC के अध्यक्ष पद के लिए नामांकन की लास्ट डेट कल
कांग्रेस ने शशि थरूर, कार्ति चिदंबरम, मनीष तिवारी समेत 5 सांसदों की ट्रांसपेरेंसी की मांग को मानते हुए अध्यक्ष चुनाव के नियमों में बदलाव किया है। इसके तहत नॉमिनेशन भरने वाले को 9 हजार डेलीगेट्स की लिस्ट मिलेगी। जो पार्टी की सेंट्रल इलेक्शन अथॉरिटी के पास 20 सितंबर से उपलब्ध है। कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव 17 अक्टूबर को होने हैं। 30 सितंबर नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख है।

एंटनी सोनिया से मिले, गहलोत ने भी की मुलाकात
वरिष्ठ कांग्रेस नेता एके एंटनी ने बुधवार को दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी देर रात दिल्ली पहुंच गए थे। उन्होंने गुरुवार दोपहर सोनिया गांधी के आवास पर उनसे मुलाकात की। करीब डेढ़ घंटे की मुलाकात के बाद गहलोत ने साफ कर दिया कि वे कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष के साथ बैठकर मैंने बात की है। मैंने हमेशा वफादार सिपाही के रूप में काम किया है।

विधायक दल की बैठक के दिन हुई घटना ने सबको हिलाकर रख दिया। ऐसा लगा जैसे कि मैं मुख्यमंत्री बना रहना चाहता हूं, इसलिए मैंने उनसे माफी मांगी है। दिल्ली एयरपोर्ट पर गहलोत ने कहा कि राजस्थान में चल रही उठा-पटक घर का मामला है, इंटर्नल पॉलिटिक्स में यह सब चलता रहता है।

बात अगर शशि थरूर की करें तो वे आखिरी दिन यानी 30 सितंबर को नामांकन करने का ऐलान कर चुके हैं। हालांकि थरूर ने कमलनाथ से कहा था कि वे इसलिए पर्चा भरेंगे, क्योंकि चुनाव हो। ऐसा न लगे कि चुनाव नहीं हो रहे।

गहलोत ने राजस्थान के विवाद पर पहली बार बयान दिया है। उन्होंने कहा कि हम यह सब सॉल्व कर लेंगे, मैं इतना कह सकता हूं।
गहलोत ने राजस्थान के विवाद पर पहली बार बयान दिया है। उन्होंने कहा कि हम यह सब सॉल्व कर लेंगे, मैं इतना कह सकता हूं।

गहलोत को लेकर अलग-अलग राय
गहलोत को लेकर पार्टी में दो तरह की राय है। CWC के कुछ सदस्य चाहते हैं कि गहलोत अध्यक्ष की दौड़ से अलग रहें। नामांकन में दो दिन बचे हैं, इसलिए संभावित उम्मीदवारों से पर्चे भरवाए जाएं और बाद में विचार-मंथन के दौरान जिस नाम पर आमराय बने, उसका नाम छोड़कर बाकी नाम 8 अक्टूबर तक वापस ले लिए जाएं। दूसरी ओर, कुछ वरिष्ठ सदस्य गहलोत की गलती माफ कर उन्हीं से पर्चा भरवाने की बात कह रहे हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव से जुड़ी ये खबरें भी आप पढ़ सकते हैं...

कांग्रेस अध्यक्ष की रेस में अब दिग्विजय सबसे आगे

दिग्विजय गुरुवार को अध्यक्ष पद के लिए नामाकंन कर सकते हैं। उन्होंने पिछले हफ्ते ही कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव लड़ने के संकेत दिए थे। यदि दिग्विजय सिंह कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनते हैं तो वे इस कुर्सी पर बैठने वाले मध्य प्रदेश के दूसरे नेता होंगे। अशोक गहलोत चुनाव लड़ेंगे या नहीं, इसे लेकर तस्वीर साफ नहीं है। पढ़ें पूरी खबर...

कमलनाथ बोले- मैं मध्यप्रदेश नहीं छोड़ूंगा
मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम और राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ सकते हैं। राजस्थान में सियासी उठापटक के बाद उनका नाम तेजी सामने आया है। वहीं कमलनाथ ने भी खुद को कांग्रेस अध्यक्ष की रेस से बाहर बताया है। खास बात यह है कि कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल भी दिग्विजय सिंह के साथ एक ही फ्लाइट में दिल्ली के लिए रवाना हुए। पढ़ें पूरी खबर...

खबरें और भी हैं...