• Hindi News
  • National
  • Do Not Obey People; Thousands Of People Reached To Take Bath In Ganga Dussehra

ये श्रद्धा के नाम पर संक्रमण की डुबकी है:संक्रमण का खतरा देख सरकार ने सीमा सील की; फिर भी हर की पैड़ी स्नान करने पहुंच गए हजारों लोग

हरिद्वार4 महीने पहलेलेखक: मनमीत
  • कॉपी लिंक
रविवार को गंगा दशहरा स्नान और सोमवार को होने वाले निर्जला एकादशी स्नान को लेकर हरिद्वार में यात्रियों की नो एंट्री लागू की गई है। - Dainik Bhaskar
रविवार को गंगा दशहरा स्नान और सोमवार को होने वाले निर्जला एकादशी स्नान को लेकर हरिद्वार में यात्रियों की नो एंट्री लागू की गई है।

कोरोना की तीसरी लहर का खतरा लगातार बना हुआ है, बावजूद इसके लोग अभी भी लापरवाही बरत रहे हैं। ऐसा ही दृश्य रविवार को हरिद्वार में देखने मिला, जहां गंगा दशहरे के मौके पर कोविड नियमों को दरकिनार कर हजारों लोग स्नान करने पहुंच गए। संक्रमण के खतरे को देखते हुए स्थानीय प्रशासन ने पहले ही हरिद्वार की सीमाएं सील कर दी थीं, लेकिन लोग नहीं माने और हरकी पैड़ी पहुंच गए। दरअसल, रविवार को गंगा दशहरा स्नान और सोमवार को होने वाले निर्जला एकादशी स्नान को लेकर हरिद्वार में यात्रियों की नो एंट्री लागू की गई है।

शनिवार को ही 26 हजार वाहन वापस लौटाए गए थे। फिर भी लोग नहीं माने। सुबह 5 बजे ही हरकी पैड़ी यात्रियों से पैक हो गई थी। वहीं हाथी पुल, न्यू संजय पुल, भीमगोड़ा बैरियर, कांगड़ा घाट, अस्थि प्रवाह घाट समेत अन्य जगह पुलिस ने बैरियर लगाकर यात्रियों को रोका। प्रशासन भी कोविड प्रोटोकॉल को लेकर उतना गंभीर नहीं दिखा।

खबरें और भी हैं...