पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • International
  • Donald Trump First Public Speech After Leaving White House We Are Going To Win North Carolina

ट्रम्प की नजर 2024 के चुनाव पर:चुनाव हारने के बाद अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति का पहला भाषण; बोले- हम नॉर्थ कैरोलिना जीतने जा रहे हैं

वॉशिंगटन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने 2024 में फिर से राष्ट्रपति चुनाव लड़ने के संकेत दिए हैं। नॉर्थ कैरोलिना राज्य में भाषण देते हुए उन्होंने कहा कि रिपब्लिकन पार्टी एक बार फिर से 2024 में राज्य में चुनाव जीतेगी। नॉर्थ कैरोलिना रिपब्लिकन पार्टी के 2021 के कंवेंशन में बोलते हुए ट्रम्प ने कहा कि हम नॉर्थ कैरोलिना जीतेंगे। एक ऐसे साल में यानी 2024, जिस पर मेरी नजरें जमी हुई हैं, हम ऐसी जमीन तैयार करेंगे, जिससे नॉर्थ कैरोलिना पर एक बार फिर रिपब्लिकन पार्टी की जीत दर्ज हो सके। 2022 में नॉर्थ कैरोलिना में सीनेट के चुनाव होने हैं।

फेसबुक अकाउंट दो साल के लिए सस्पेंड
इससे पहले फेसबुक ने रविवार को ट्रम्प का अकाउंट दो साल के लिए सस्पेंड कर दिया था। दो साल का समय 7 जनवरी 2021 से गिना जाएगा। उसी दिन पहली बार ट्रम्प का अकाउंट सस्पेंड किया गया था। फेसबुक के वाइस प्रेसिडेंट (ग्लोबल अफेयर्स) निक क्लेग ने शुक्रवार को ब्लॉग पोस्ट के जरिए यह जानकारी दी थी। फेसबुक के मुताबिक, ट्रम्प अब 7 जनवरी 2023 तक अपना फेसबुक अकाउंट एक्सेस नहीं कर पाएंगे। यानी नवंबर 2022 में होने वाले मिड टर्म इलेक्शन में भी उन्हें फेसबुक से दूर रहना पड़ेगा।

ट्रम्प बोले- ये हमारे वोटर्स की बेइज्जती है
ट्रम्प ने फेसबुक की इस कार्रवाई को उन 7.5 करोड़ लोगों की बेइज्जती बताया, जिन्होंने 2020 के चुनाव में ट्रम्प को वोट दिया था। ट्रम्प ने कहा कि उन लोगों को सेंसर कर और चुप कराकर बाहर नहीं किया जा सकता। हम फिर जीतेंगे। हमारा देश इस बेइज्जती को और ज्यादा बर्दाश्त नहीं कर सकता।

ट्रम्प को हमेशा के लिए बैन कर चुका है ट्विटर
अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के नतीजों के बाद 6 जनवरी को अमेरिकी संसद कैपिटल हिल के बाहर हिंसा हुई थी। इस दौरान ट्रम्प पर अपने समर्थकों को भड़काने का आरोप लगा था। इसी के चलते अगले दिन यानी 7 जनवरी को फेसबुक समेत दूसरे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स ने ट्रम्प के खिलाफ एक्शन लिया था। फेसबुक की ही कंपनी इंस्टाग्राम और गूगल के प्लेटफॉर्म यू-ट्यूब ने भी ट्रम्प का अकाउंट सस्पेंड कर दिया था। वहीं ट्विटर तो ट्रम्प को हमेशा के लिए बैन कर चुका है।