• Hindi News
  • National
  • Draupadi Murmu Yashwant Sinha; Presidential Election Result Counting 2022 Updates | Narendra Modi, Amit Shah, BJP Congress

द्रौपदी मुर्मू राष्ट्रपति चुनाव जीतीं:देश की पहली आदिवासी और दूसरी महिला प्रेसिडेंट होंगी, मोदी और शाह ने घर जाकर दी बधाई

नई दिल्ली6 महीने पहले

द्रौपदी मुर्मू देश की 15वीं राष्ट्रपति होंगी। वे इस सर्वोच्च संवैधानिक पद पर पहुंचने वाली देश की पहली आदिवासी और दूसरी महिला राष्ट्रपति हैं। गुरुवार को सुबह 11 बजे शुरू हुई काउंटिंग में नेशनल डेमोक्रेटिक अलायंस (NDA) की प्रत्याशी द्रौपदी ने यूनाइटेड प्रोग्रेसिव अलायंस (UPA) के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को तीसरे राउंड की गिनती में ही हरा दिया।

मुर्मू को जीत के लिए जरूरी 5 लाख 43 हजार 261 वोट तीसरे राउंड में ही मिल गए। थर्ड राउंड में उन्हें 5 लाख 77 हजार 777 वोट मिले। यशवंत सिन्हा इस राउंड में 2 लाख 61 हजार 62 वोट ही जुटा सके। इसमें राज्यसभा और लोकसभा के सांसदों समेत 20 राज्यों के वोट शामिल थे। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जेपी नड्‌डा ने मुर्मू के घर पहुंचकर उन्हें बधाई दी।

मुर्मू को केरल से सिर्फ एक और सिन्हा को 3 राज्यों से एक भी वोट नहीं
राष्ट्रपति चुनाव के वोटों की गिनती गुरुवार देर रात 4 राउंड में पूरी हुई। कुल 4754 वोट पड़े थे। गिनती के वक्त 4701 वोट वैध और 53 अमान्य पाए गए। कुल वोटों का कोटा 5,28,491 था। इसमें द्रौपदी मुर्मू को कुल 2824 वोट मिले। इनकी वैल्यू 6 लाख 76 हजार 803 थी। केरल से मुर्मू को सबसे कम सिर्फ एक और यूपी से सबसे ज्यादा 287 वोट मिले।

वहीं, यशवंत सिन्हा को कुल 1877 वोट मिले, जिनकी वैल्यू 3 लाख 80 हजार 177 रही। दूसरी तरफ सिन्हा को आंध्र प्रदेश, नागालैंड और सिक्किम से एक भी वोट नहीं मिले, जबकि उन्हें सबसे ज्यादा 216 वोट पश्चिम बंगाल से मिले। वोट प्रतिशत की बात करें तो द्रौपदी मुर्मू को 64% और यशवंत सिन्हा को 36% वोट मिले।

दोनों प्रत्याशियों को सांसदों और सभी राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों से मिले वोट की पूरी डिटेल।
दोनों प्रत्याशियों को सांसदों और सभी राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों से मिले वोट की पूरी डिटेल।

राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और लोकसभा स्पीकर ने भी दी बधाई
PM मोदी ने मुर्मू को बधाई देते हुए कहा- भारत ने इतिहास लिखा है। जब देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है, पूर्वी भारत के सुदूर हिस्से में पैदा हुई एक आदिवासी समुदाय की बेटी को राष्ट्रपति चुना गया है। द्रौपदी मुर्मू को बधाई। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू और लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने भी मुर्मू को बधाई दी।

द्रौपदी मुर्मू की जीत की बधाई देने खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनके घर पहुंचे। मोदी के साथ भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा भी मौजूद थें।
द्रौपदी मुर्मू की जीत की बधाई देने खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनके घर पहुंचे। मोदी के साथ भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा भी मौजूद थें।

यशवंत सिन्हा ने हार मानी, मुर्मू को दी बधाई
दूसरी तरफ, यशवंत सिन्हा ने भी हार स्वीकार की। उन्होंने कहा- द्रौपदी मुर्मू को उनकी जीत पर बधाई देता हूं। देश को उम्मीद है कि गणतंत्र के 15वें राष्ट्रपति के रूप में वे बिना किसी भय या पक्षपात के संविधान के संरक्षक के रूप में कार्य करेंगी।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने भी मुर्मु को शुभकामनाएं दीं। कहा- राष्ट्रपति चुनाव में प्रभावी जीत दर्ज करने पर मुर्म को बधाई। वे गांव, गरीब, वंचितों के साथ-साथ झुग्गी-झोपड़ियों में भी लोक कल्याण के लिए सक्रिय रहीं हैं। आज वे उनके बीच से निकल कर सर्वोच्च संवैधानिक पद तक पहुंचीं। यह भारतीय लोकतंत्र की ताकत है।

राजधानी दिल्ली में भाजपा कार्यकर्ताओं ने काउंटिंग के दौरान ही बड़ी संख्या में जुटकर मुर्मू की जीत का जश्न मनाया। भाजपा देशभर में इस जीत को लेकर रैली निकालने वाली है।
राजधानी दिल्ली में भाजपा कार्यकर्ताओं ने काउंटिंग के दौरान ही बड़ी संख्या में जुटकर मुर्मू की जीत का जश्न मनाया। भाजपा देशभर में इस जीत को लेकर रैली निकालने वाली है।

फर्स्ट राउंड की गिनती: मुर्मू को 540 और सिन्हा को 208 सांसदों के वोट मिले
राज्यसभा के सेक्रेटरी जनरल पीसी मोदी के मुताबिक, दोपहर 2 बजे सांसदों के वोटो की गिनती पूरी हुई। इसमें द्रौपदी मुर्मू को 540 वोट मिले। इनकी कुल वैल्यू 3 लाख 78 हजार है। यशवंत सिन्हा को 208 सांसदों के वोट मिले। इनकी वोट वैल्यू 1 लाख 45 हजार 600 है। सांसदों के कुल 15 वोट रद्द हो गए। सूत्रों के मुताबिक, 17 सांसदों ने क्रॉस वोटिंग की है।

मुर्मू की जीत के बाद उनके गृह राज्य ओडिशा में भाजपा समर्थकों ने रंग-गुलाल उड़ाकर और ढोल-नगाड़े बजाकर एक-दूसरे को बधाई दी।
मुर्मू की जीत के बाद उनके गृह राज्य ओडिशा में भाजपा समर्थकों ने रंग-गुलाल उड़ाकर और ढोल-नगाड़े बजाकर एक-दूसरे को बधाई दी।

सेकेंड राउंड की गिनती: 10 राज्यों में मुर्मू को 809, सिन्हा को 329 वोट मिले
पहले 10 राज्यों की गिनती में भी मुर्मू और सिन्हा के बीच आंकड़ों का लंबा अंतर दिख रहा था। इन राज्यों में कुल 1138 वैलिड वोट थे, जिनकी वैल्यू 1 लाख 49 हजार 575 है। इनमें मुर्मू को 809 वोट मिले। इनकी वैल्यू 1 लाख 5 हजार 299 है। यशवंत सिन्हा को 329 वोट मिलें, जिनकी कुल वैल्यू 44 हजार 276 है।

इन 10 राज्यों में अरुणाचल प्रदेश, असम, बिहार, छत्तीसगढ़, गोवा, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और झारखंड के अलावा आंध्र प्रदेश के वोट शामिल हैं। इनमें 7 राज्यों में भाजपा और गठबंधन की सरकारें हैं। झारखंड और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस और उसके सहयोगी दलों की सरकार है। आंध्र प्रदेश में जगनमोहन रेड्‌डी CM हैं, जिन्होंने NDA को समर्थन देने का ऐलान किया था।

मुंबई में बच्चों ने पेटिंग के जरिए द्रौपदी मुर्मू को जीत की बधाई दी।
मुंबई में बच्चों ने पेटिंग के जरिए द्रौपदी मुर्मू को जीत की बधाई दी।

थर्ड राउंड की गिनती: मुर्मू को 812 और यशवंत सिन्हा को 521 वोट मिले
थर्ड राउंड के 10 राज्यों की गिनती में भी मुर्मू और सिन्हा के बीच वोट का बड़ा अंतर रहा। इन राज्यों में कुल 1,333 वैलिड वोट हैं, जिनकी वैल्यू 1 लाख 65 हजार 664 है। इनमें मुर्मू को 812 और सिन्हा को 521 वोट मिले। इन 10 राज्यों में कर्नाटक, केरल, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नगालैंड, ओड़िशा और पंजाब के वोट शामिल हैं।

द्रौपदी मुर्मू के रायरंगपुर स्थित मायका उपरवाड़ा और ससुराल पहाड़पुर में भी उल्लास का माहौल है। लोग अपने घर की बेटी की जीत के इंतजार में जश्न मना रहे हैं।
द्रौपदी मुर्मू के रायरंगपुर स्थित मायका उपरवाड़ा और ससुराल पहाड़पुर में भी उल्लास का माहौल है। लोग अपने घर की बेटी की जीत के इंतजार में जश्न मना रहे हैं।

मुर्मू के गांव समेत देशभर में जीत का जश्न
NDA उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू की जीत के बाद उनके ओडिशा स्थित पैतृक गांव और देश के बाकी हिस्सों में जश्न का माहौल है। लोग ढोल-नगाड़ों और पारंपरिक वाद्य यंत्रों के जरिए जीत की खुशियां मना रहे हैं। ओडिशा के मयुरभंज जिले में रायरंगपुर कस्बे के मुर्मू के गांव और ससुराल में उनके चाहने वाले लड्‌डू बांटकर सेलिब्रेट कर रहे हैं।

25 को शपथ ग्रहण, भाजपा कार्यालय में जश्न की तैयारी

राष्ट्रपति चुनाव के काउंटिंग के बीच दिल्ली में द्रौपदी मुर्मू की जीत के जश्न की तैयारी हो चुकी है।
राष्ट्रपति चुनाव के काउंटिंग के बीच दिल्ली में द्रौपदी मुर्मू की जीत के जश्न की तैयारी हो चुकी है।

देश को पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति मिल गई है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का कार्यकाल 24 जुलाई की मध्य रात्रि को खत्म हो रहा है। 25 जुलाई को नए राष्ट्रपति का शपथ ग्रहण होगा। भाजपा के दिल्ली हेड ऑफिस में भी जश्न की तैयारी है। इसमें जेपी नड्‌डा भी शामिल होंगे।

सुबह 3.30 बजे जाग जातीं हैं द्रौपदी: 4 साल में 2 बेटे और पति को खोया, शिव बाबा का ध्यान करके डिप्रेशन से निकलीं मुर्मू

देशभर में जीत के बाद जुलूस निकालेगी भाजपा
मुर्मू की जीत के बाद भाजपा दिल्ली में विजय जुलूस निकालेगी। ऐसा पहली बार होगा, जब राष्ट्रपति की जीत के बाद जुलूस निकाला जाएगा। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्‌डा राजपथ तक इस जुलूस की अगुआई करेंगे और भाषण देंगे। जुलूस में मुर्मू शामिल नहीं होंगी।

द्रौपदी के घर प्रेम विवाह प्रस्ताव लेकर पहुंचे थे श्याम: दहेज में मुर्मू को मिली एक गाय, एक बैल और 16 जोड़ी कपड़े

द्रौपदी मुर्मू के गांव में ग्रामीण लड्डू बना रहे हैं। इसे गांव के लोगों के बीच बांटा गया।
द्रौपदी मुर्मू के गांव में ग्रामीण लड्डू बना रहे हैं। इसे गांव के लोगों के बीच बांटा गया।

मुर्मू की जीत से राजनीतिक मैसेज देने की तैयारी
द्रौपदी मुर्मू की जीत की घोषणा होते ही देशभर में जश्न शुरू हो गया। मुर्मू की जीत से BJP आदिवासी समुदाय सहित पूरे देश और खासतौर पर महिलाओं को खास संदेश देना चाहती है, ताकि मुख्य धारा से कटे इस समुदाय में पॉलिटिकल मैसेज जाए कि BJP ही एक ऐसी पार्टी है जो सत्ता के लिए नहीं, बल्कि देश के वंचित तबकों और वर्गों के लिए काम करती है।

यही वजह है कि पार्टी कार्यकर्ताओं को जीत के बाद पोस्टर में द्रौपदी मुर्मू के साथ किसी और नेता की तस्वीर न लगाने के सख्त निर्देश दिए गए हैं। माना जा रहा है कि पार्टी राष्ट्रपति चुनाव से ही 2024 में होने वाले आम चुनाव की तैयारी में जुट गई है।

द्रौपदी की बेटी इतिश्री बोलीं: मां को शायद प्रधानमंत्री का फोन आया था, आंखों में आंसू थे, चुप हो गईं; आभार भी जता न सकीं

इसलिए मुर्मू की जीत तय मानी जा रही थी
भाजपा ने 21 जून को मुर्मू को उम्मीदवार बनाया था, तब NDA के खाते में 5 लाख 63 हजार 825, यानी 52% वोट थे। 24 विपक्षी दलों के साथ होने पर सिन्हा के साथ 4 लाख 80 हजार 748 यानी 44% वोट माने जा रहे थे। बीते 27 दिन में कई गैर NDA दलों के समर्थन में आने से मुर्मू को निर्णायक बढ़त मिल गई। सभी 10 लाख 86 हजार 431 वोट पड़ने की स्थिति में जीत के लिए 5 लाख 40 हजार 65 वोट चाहिए थे। मुर्मू को तीसरे राउंड में ही जरूरी वोट को क्रॉस कर लिया।

विपक्ष के राष्ट्रपति उम्मीदवार यशवंत सिन्हा ने कभी CM से कहा था- आप कभी IAS नहीं बन सकते, मोदी सरकार पर FIR लिखाने पहुंचे थे SC

खबरें और भी हैं...