पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Monsoon, Rain And Weather Forecast Today News And Updates 18 June 2021|Due To Rain In Nepal Bihar Flood Threat, Kosi Above Danger Mark, UP Varanasi Roads And Hospitals Filled With Water

मानसून ट्रैकर:नेपाल और बिहार में भारी बारिश से बने बाढ़ के हालात, उत्तराखंड के गुलाबकोटी और कौड़िया हाइवे ब्लॉक; वाराणसी की सड़कों और अस्पतालों में भरा पानी

नई दिल्लीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नेपाल और बिहार के कई इलाकों में पिछले कुछ दिनों से हो रही भारी बारिश से बाढ़ की स्थिति बनी हुई है। यहां के मुजफ्फरपुर, पश्चिमी चंपारण, गोपालगंज के कई इलाकों में पानी भर गया है। गंडक, बूढ़ी गंडक के बाद अब कोसी नदी भी खतरे के निशान से 5 cm ऊपर बह रही है। इधर, गंगा समेत कई नदियों का जलस्तर भी लगातार बढ़ रहा है। हालांकि, वाल्मीकिनगर में गंडक का जलस्तर कम हो रहा है। 24 घंटे में उसमें लगभग 1.70 लाख क्यूसेक की कमी आई।

गुजरात के आणंद में तेज बारिश के बाद पानी भरा गया। इसी दौरान एक बाइक सवार अपनी गाड़ी निकालता हुआ।
गुजरात के आणंद में तेज बारिश के बाद पानी भरा गया। इसी दौरान एक बाइक सवार अपनी गाड़ी निकालता हुआ।

इसके अलावा, उत्तराखंड में शुक्रवार को भारी बारिश और भूस्खलन से चमोली जिले के गुलाबकोटी और कौड़िया हाइवे पर आवागमन प्रभावित हुआ है। फिलहाल, रास्ते को पूरी तरह ब्लॉक कर दिया गया है। पश्चिम बंगाल के कोलकाता, असनोल समेत कई इलाकों में बारिश हो रही है। असनोल में तेज बारिश से घरों और बिल्डिंग में पानी भरा गया है। गुजरात के आणंद समेत कई इलाकों में तेज बारिश हो रही है। यहां की सड़कों पर भी पानी भरा हुआ है।

मध्यप्रदेश, पूर्वोत्तर और यूपी समेत कई राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट

  • IMD ने शुक्रवार को देशभर में बारिश का अलर्ट जारी किया है। यहां दक्षिणी पश्चिमी बिहार और दक्षिण पूर्वी उत्तर प्रदेश में कम दबाव बनने और बांग्लादेश में मिड लेवल साइक्लोनिक सर्कुलेशन के चलते अगले 3 से 4 दिन बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल और सिक्किम, पूर्वी उत्तरप्रदेश, उत्तरपूर्वी मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ के इलाकों में भारी बारिश की संभावना जताई है। सबसे ज्यादा असर 18 और 19 मई को पूर्वी उत्तर प्रदेश और 18 मई को पूर्वी मध्यप्रदेश में देखने को मिल सकता है।
  • इसके अलावा महाराष्ट्र से केरल तक तटीय इलाकों में तेज बारिश हो सकती है। इनमें कोंकण और गोवा, गुजरात, कर्नाटक के तटवर्ती और मध्य महाराष्ट्र में अगले 3 से 4 दिन बारिश देखने को मिलेगी। इनमें सबसे ज्यादा गुजरात और कर्नाटक के तटवर्ती इलाकों में ज्यादा असर रहेगा। IMD ने अगले दो दिन इन राज्यों में आंधी और तूफान आने की भी संभावना जताई है।
उत्तराखंड में तेज बारिश से चमोली जिले का हाइवे ब्लॉक कर दिया गया है।
उत्तराखंड में तेज बारिश से चमोली जिले का हाइवे ब्लॉक कर दिया गया है।

बिहार: पश्चिमी चंपारण के इलाकों में संपर्क टूटा; गंगा का जलस्तर बढ़ा
प्रदेश के पश्चिमी चंपारण के कई जिले का संपर्क टूट गया और तेज बारिश के चलते सड़क बह गई। दहशत के मारे लोग इलाके से पलायन कर रहे हैं। नरकटियागंज के 5 प्रखंडों के 42 गांव और बगहा के 7 प्रखंडों में 85 गांव बाढ़ प्रभावित हैं। मुजफ्फरपुर में भी बूढ़ी गंडक का जलस्तर रिकॉर्ड 2 मीटर और गंडक का जलस्तर 1 मीटर 40 cm बढ़ गया। बागमती का जलस्तर कटौझा में खतरे के निशान से 2 मीटर नीचे स्थिर था। गंगा नदी का जलस्तर भी लगातार बढ़ रहा है। यहां बक्सर, पटना, मुंगेर, भागलपुर में वृद्धि देखी गई है। पटना के दीघा में इसके जलस्तर में पिछले 24 घंटे में 65 cm, गांधीघाट पर 58 cm और हाथीदह में 76 cm, मुंगेर में 1.05 cm, भागलपुर में 34 cm की बढ़ोतरी हुई है।

तस्वीर राजधानी पटना के पॉर्श इलाके की है। यहां तेज बारिश से सड़क पर पानी भरा गया।
तस्वीर राजधानी पटना के पॉर्श इलाके की है। यहां तेज बारिश से सड़क पर पानी भरा गया।

राजस्थान: जैसलमेर, बीकानेर, बाड़मेर में जमकर बरसा पानी
राजस्थान में शुक्रवार को जैसलमेर समेत कई इलाकों में हल्की बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने पश्चिमी राजस्थान में 18 जून को 30-50 KM गति से तेज हवाएं चलने की चेतावनी जारी की है। साथ ही आज उदयपुर, अजमेर संभाग के कई जिलों में बारिश होने की संभावना है। राज्य में अगले 3-4 दिन अलग-अलग जगहों पर प्री-मानूसन की बारिश होने की भी संभावना मौसम विभाग ने जताई है।

इससे पहले गुरुवार को राज्य के पश्चिमी इलाके के जैसलमेर, बाड़मेर, बीकानेर में बारिश हुई। बाड़मेर के शिव, चोहटन सहित कई जगहों पर तेज बारिश हुई। जैसलमेर जिले और उसके रेगिस्तानी इलाकों में भी तेज बारिश से कई जगहों तो नदियां जैसी बहने लगी। बीकानेर जिले में भी पाकिस्तान से लगते सीमावर्ती क्षेत्रों में अच्छी बारिश हुई, जिसके बाद इन जिलों में तापमान 2-3 डिग्री तक नीचे आ गया।

राजस्थान बज्जू. रणजीतपुरा इलाके में बारिश से खेत में पानी भर गया।
राजस्थान बज्जू. रणजीतपुरा इलाके में बारिश से खेत में पानी भर गया।

उत्तरप्रदेश: वाराणसी में तेज बारिश से सड़कों और अस्पताल में भरा पानी
प्रदेश में आज से फिर बादल सक्रिय होने की संभावना है। मौसम विभाग के मुताबिक, पूर्वी उत्तर प्रदेश और आसपास इलाकों के कई जिलों में अगले 1 से 2 दिन तक भारी बारिश हो सकती है। प्रदेश के महाराजगंज, सिद्धार्थ नगर, गोंडा, बलरामपुर, श्रावस्ती, बहराइच, लखीमपुर खीरी, सोनभद्र, मिर्जापुर, वाराणसी, संत रविदास नगर, आजमगढ़, मऊ, बलिया, देवरिया, गोरखपुर, संत कबीर नगर, बस्ती, कुशीनगर, बाराबंकी, सुल्तानपुर, अयोध्या तथा आंबेडकर नगर और आसपास के क्षेत्रों में भारी बारिश की संभावना है। इधर, वाराणसी में बारिश जारी है। यहां गुरुवार तक 92 mm बारिश दर्ज की गई है। भारी बारिश से सीवर लाइन और नाले-नालियां चोक हो गए। सड़कों, BHU अस्पताल परिसर, मोहल्लों, कैंट रेलवे स्टेशन और कैंट रोडवेज में पानी भरा गया।

झमाझम हुई बारिश के बाद वाराणसी में सड़कें पानी से भरा गईं।
झमाझम हुई बारिश के बाद वाराणसी में सड़कें पानी से भरा गईं।

कुशीनगर में लगातार बारिश से शहर और गांव के इलाकों में पानी भरा गया। हालांकि, इलाके में गुरुवार को बारिश नहीं हुई, लेकिन जलभराव से निजात नहीं मिल पाई है। देर रात NDRF ने रेस्क्यू ऑपरेशन किया। NDRF के अधिकारी पीएल शर्मा ने बताया कि बीती रात उन्हें 100 लोगों के पानी के बीच फंसे होने की जानकारी मिली थी। वे सभी नाव पर सवार होकर सुरक्षित स्थान पर जा रहे थे, लेकिन अचानक इंजन खराब होने से फंस गई। NDRF की टीम ने रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर सभी लोगों को बचाया।

कुशीनगर में बीती रात 100 से ज्यादा लोग में पानी में फंस गए थे। NDRF ने रेस्क्यू कर बचाया।
कुशीनगर में बीती रात 100 से ज्यादा लोग में पानी में फंस गए थे। NDRF ने रेस्क्यू कर बचाया।

मध्यप्रदेश: बैतूल में तवा डैम में असर, आज कई इलाकों में होगी बारिश
मौसम विभाग ने उत्तर-पूर्वी मध्यप्रदेश के इलाकों में शुक्रवार को भारी बारिश की संभावना जताई है। यहां तेज बारिश के साथ आंधी- तूफान की भी संभावना जताई गई है। इससे पहले गुरुवार को राजधानी में दिनभर मौसम खुला रहा। रात 8 बजे के बाद शहर के कई इलाकों में बारिश हुई। छतरपुर में देर रात में रिमझिम बारिश हुई, वही तेज आंधी चलने से घुवारा क्षेत्र में करीब 100 से ज्यादा पेड़ धराशायी हो गए। इधर, मानसून ग्वालियर में कब तक दस्तक देगा, इसका सही अनुमान मौसम विभाग भी नहीं कर पा रहा है। मौसम विभाग का कहना है कि तेज गति से आ रही पश्चिमी हवा ने बंगाल की खाड़ी में मानसून सिस्टम बनने से रोक दिया है। सागर में एक बार देर रात फिर अच्छी बारिश हुई। फिर भी उमस बरकरार है।

गुरुवार को भी शाम 5.30 बजे तक 1.0 मिमी. बारिश रिकॉर्ड में ली गई है। बैतूल जिले और पहाड़ी क्षेत्रों में हो रही बारिश का असर नर्मदापुरम संभाग के तवा डैम दिखाई दे रहा है। डैम में तेजी से पानी का जलस्तर बढ़ रहा है। दो दिन में 2.8 फीट पानी बढ़ गया है। डैम में हर घंटे पानी बढ़ रहा।

राजधानी भोपाल में मानसूनी बारिश का सिलसिला लगातार जारी है।
राजधानी भोपाल में मानसूनी बारिश का सिलसिला लगातार जारी है।

छत्तीसगढ़: 20 जिलों में आंधी-बारिश की संभावना, बिजली गिरने की भी चेतावनी
प्रदेश के कई हिस्सों में छिटपुट बरसात हो रही है। मौसम विभाग ने शुक्रवार को 20 जिलों में गरज-चमक के साथ अंधड़ चलने की संभावना जताई है। इन जिलों में कुछ स्थानों पर आकाशीय बिजली गिरने की चेतावनी भी दी है।

दिल्ली: NCR- दिल्ली में तेज बारिश से गर्मी और उमस से राहत
दिल्ली में भी आज हल्की बारिश हो सकती है। इससे पहले दिल्ली- NCR में तेज बारिश से गर्मी और उमस से लोगों को राहत मिली। दिल्ली के RTO, राजीव चौक, राष्ट्रपति भवन, इंडिया गेट, बुद्धा जयंती पार्क सहित राजधानी के इलाकों में बारिश हुई थी। मौसम विभाग ने आने वाले 48 घंटे में दिल्ली-NCR में तेज हवाओं और बारिश की संभावना जताई थी। मौसम विभाग ने कहा है कि वेस्टर्न डिस्टरबेंस की वजह से राजधानी दिल्ली और आसपास मौसम करवट बदल सकता है। मौसम विभाग के मुताबिक, दिल्ली में अभी मानसून को पहुंचने में देरी है, लेकिन उससे पहले की बारिश मानी जा सकती है। भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, न्यूनतम तापमान गुरुवार को सामान्य से दो डिग्री कम 26.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

दिल्ली के आईटीओ, राजीव चौक, राष्ट्रपति भवन, इंडिया गेट, बुद्धा जयंती पार्क सहित राजधानी क्षेत्र में बारिश हुई थी।
दिल्ली के आईटीओ, राजीव चौक, राष्ट्रपति भवन, इंडिया गेट, बुद्धा जयंती पार्क सहित राजधानी क्षेत्र में बारिश हुई थी।

महाराष्ट्र: मुंबई में आज हो सकती मूसलाधार बारिश, पंचगंगा नदी उफान पर
मौसम विभाग (IMD) ने मुंबई (Mumbai) में आज और कल मूसलाधार बारिश होने का अंदेशा जताया है। कोल्हापुर में पंचगंगा नदी फिर से उफान पर आ चुकी है। कई गांवों में पानी भरने का खतरा पैदा हो गया है। गुरुवार की सुबह भी काफी तेज बारिश हुई। मुंबई में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। स्काईमेट (skymet) ने यह भी कहा कि, अगले दो से तीन दिनों में मुंबई (mumabi rains) में रविवार और सोमवार की तुलना में बारिश बढ़ेगी।

मुंबई में बुधवार को जमकर बारिश हुई थी। इसके बाद सड़कों पर पानी भरा गया था।
मुंबई में बुधवार को जमकर बारिश हुई थी। इसके बाद सड़कों पर पानी भरा गया था।
खबरें और भी हैं...